गुंडों की गश्त : दर्जनों कारों में की तोड़फोड़, पुलिस को भनक तक नहीं लगी

Advertisements

NEWS IN HINDI

गुंडों की गश्त : दर्जनों कारों में की तोड़फोड़, पुलिस को भनक तक नहीं लगी

भोपाल। रात में पुलिस किस तरह गश्त करती है। इसका नमूना गुरुवार-शुक्रवार की रात में देखने को मिला। बाइकर्स गैंग ने तीन थाना क्षेत्रों में कई कारों में जमकर तोड़फोड़ की। गुंडे तलवार, डंडे लेकर करीब डेढ़ घंटे तक उपद्रव करते रहे। ताज्जुब की बात यह है कि तोड़फोड़ से जहां लोग दहशत में आ गए और पुलिस को सुबह तक घटना की भनक तक नहीं लगी। इस मामले से गुस्साए लोग सुबह कमला नगर थाना पहुंचे और घेराव कर दिया।

इस दौरान नवनिर्वाचित विधायक पीसी शर्मा भी प्रदर्शनकारियों के समर्थन में थाने पहुंचे। उन्होंने आरोप लगाया कि तोड़फोड़ करने वालो को भाजपा का संरक्षण मिला हुआ है।

गुरुवार-शुक्रवार की रात कमलानगर, टीटी नगर और श्यामला हिल्स इलाके में बदमाशों ने जमकर धमाल किया। रात करीब 2 बजे नेहरू नगर के कोपल स्कूल के पास 3-4 मोटरसाइकलों पर सवार होकर आधा दर्जन से अधिक बदमाश पहुंचे। डंडों और पत्थरों से वहां खड़ी कारों के कांच फोड़कर वे लोग आगे बढ़ गए। इसके बाद कोटरा सुल्तानाबाद, गीतांजलि कॉम्पलेक्स के पास, आम्बेडकर नगर, जवाहर चौक, सुनहरी बाग, श्यामला हिल्स इलाके में खुशबू पार्क के पास खड़ी कारों, गुमठियों में भी में तोड़फोड़ की गई।

इस दौरान करीब 30-35 कारों को निशाना बनाया गया। श्यामला हिल्स थाना में गुमठी मालिक उबेज खान,कार मालिक अरीब की शिकायत तो सुनी, लेकिन एफआईआर दर्ज नहीं की गई है।

उधर टीटी नगर थाने का दावा है कि उनके पास तोड़फोड़ की शिकायत नहीं मिली है। इस मामले में कमला नगर पुलिस ने कोटरा सुल्तानाबाद निवासी हरजीतसिंह की शिकायत पर अज्ञात लोगों के खिलाफ तोड़फोड़ का केस दर्ज किया है। थाना प्रभारी मदन मोहन मालवीय का कहना है कि अलग-अलग स्थानों पर करीब डेढ़ दर्जन वाहनों में तोड़फोड़ हुई है। घटना कुछ स्थानों पर लगे सीसीटीवी कैमरों में कैद तो हुई है। लेकिन फुटेज धुंधले हैं। इससे अपराधियों के चेहरे स्पष्ट नजर नहीं आ रहे हैं। पुलिस मुखबिरों से मिली जानकारी के आधार पर आरोपितों की पहचान करने में जुटी है।

इनका कहना है

अपराधियों के बारे में पुख्ता सुराग मिल गए हैं। शीघ्र ही उन्हें गिरफ्तार कर लिया जाएगा। रात्रि गश्त में तैनात अधिकारियों-कर्मचारियों से भी इस मामले में चूक के बारे में जानकारी ली जाएगी।

-राहुल कुमार लोढ़ा, एसपी, साउथ

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए लिंक पर क्लिक करके facebook page पेज को लाइक करें या वेब साईट पर FOLLOW बटन दबाकर ईमेल लिखकर ओके दबाये। वीडियो न्यूज़ देखने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे। Youtube

NEWS IN ENGLISH

Patrol of goons: Demolition of dozens of cars, police did not even know

Bhopal. How the police patrols at night The sample was found on Thursday-Friday night. Bikers gang furiously destroyed many cars in three police stations. Gunde used to fight with swords, poles, for about one and a half hours. Surprisingly, with the demolition, where people got into panic and the police did not even know the incident until morning. People got angry at the matter and reached the Kamla Nagar police station in the morning and surrounded them.

Meanwhile, newly elected legislator PC Sharma also reached the police station in support of protesters. They alleged that BJP’s conspiracy has got mixed up for the demolitionists.

On Thursday-Friday night, the gangsters wiggle at Kamalanagar, TT Nagar and Shyamala Hills area. At around 2 o’clock in the night, riding over 3-4 motorcycles near the Kopp School of Nehru Nagar, more than half a dozen crooks reached. The people moved forward with the poles and stones by breaking the glass of cars parked there. Subsequently, in Kotra Sultanabad, near Gitanjali Complex, Ambedkar Nagar, Jawahar Chowk, Gold Birch, Shyamala Hills area, the cars parked near Khushboo Park, and also in the dumps were destroyed.

About 30-35 cars were targeted during this period. In the Shyamala Hills police station, the complainant owner Ubaz Khan heard the complaint of car owner Arib, but the FIR has not been lodged.

Meanwhile, TT Nagar police station claims that they have not received any complaint of subversion. In this case, Kamla Nagar police has filed a case of subversion against unknown people on the complaint of Kotra Sultanabad resident Harjeet Singh. Thane-in-charge Madan Mohan Malviya says that there are subversion in about one and a half dozen vehicles at different places. The incident has been captured in CCTV cameras located in some places. But the footage is blurry. The faces of the criminals are not clearly visible. The police is involved in identifying the accused on the basis of information received from the informers.

They say

Few clues have been found about criminals. They will be arrested soon. Officers and staff posted in the night patrol will also get information about the defaults in this case.

-Rahul Kumar Lodha, SP, South

To get the latest updates, click on the link: facebook page Like the page or press the FOLLOW button on the web site and press the OK Subscribe to our YouTube channel to see the video news. Youtube

Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.