बैतूल: मुख्यमंत्री स्वास्थ्य सेवा शिविर के आयोजन में नही बरती जाये किसी प्रकार की कोताही – मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी

Advertisements

NEWS IN HINDI

बैतूल: मुख्यमंत्री स्वास्थ्य सेवा शिविर के आयोजन में नही बरती जाये किसी प्रकार की कोताही – मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी

बैतूल। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. प्रदीप मोजेस ने शुक्रवार को दोपहर 02.00 बजे से ट्रामा सेंटर में मुख्यमंत्री स्वास्थ्य सेवा शिविर दिनांक 04 फरवरी 2017 के सफल आयोजन हेतु अधिकारियों एवं कर्मचारियों की बैठक ली एवं शिविर की तैयारियों की समीक्षा की। बैठक में डॉ. अशोक बारंगा ने निर्देशित किया कि इस शिविर के माध्यम से एक बार पुनः सेवा देने का अवसर प्राप्त हुआ है, इसलिये हमारा कर्तव्य है कि निरंतर नये मरीज जिनको सेवाओं की आवश्यकता है उन्हें बेहतर सेवाऐं उपलब्ध करायें। मानसिक रोगी, विकृति मरीज, बांझपन, बर्न मरीज, किडनी, पैरो में सूजन, लकवाग्रस्तता एवं अन्य सभी मरीजों को इलाज मिले यही हमारा ध्येय होना चाहिये। मरीजों से अनुरोध है कि वे अपने साथ पुराने पर्चे एवं जांच रिपोर्ट अवश्य लेकर आवें ताकि चिन्हांकन में सुविधा हो।

डॉ. मोजेस ने निर्देशित किया कि शिविर में अधिकारियों एवं कर्मचारियों की रोस्टरवार ड्यूटी प्रातः 09.00 बजे से शिविर समाप्ति तक रहेगी। मरीज के साथ उसके परिजन को लेकर आने तथा घर तक छोड़ने हेतु संबंधित विकासखण्ड से ए.एन.एम. की ड्यूटी लगाई गई है। मरीज लेकर आते समय कर्मचारी ध्यान रखें कि वाहन समय पर पहुंचे जो भी मरीज आये उनकी नामजद सूची नोडल अधिकारी के पास रहेगी। शिविर में 10 पंजीयन काउन्टर बनाये जायेंगे जिनमें संबंधित विकासखण्ड के खण्ड चिकित्सा अधिकारी, बीईई, बीपीएम, बीसीएम, सुपरवाईजर, एल.एच.व्ही., डाटा एन्ट्री ऑपरेटर की ड्यूटी लगाई गई है, जो अपने-अपने रजिस्ट्रेशन काउन्टर की व्यवस्थाओं के लिये जिम्मेदार होंगे। जिन वाहनों से मरीजों का आगमन होगा उन वाहन चालको का नंबर एवं वाहन नंबर नोडल अधिकारी के पास रहेगा। परिसर के अंदर वाहन खडे नही होंगे। ट्रामा सेंटर में कन्ट्रोल रूम बनाया गया है, जिससे संपूर्ण कक्षों की मॉनिटरिंग की जायेगी साथ ही शिविर में सी.सी.टी.वी. कैमरे के द्वारा भी निगरानी की जायेगी। शिविर में अनुशासन समिति भी बनाई गई है हमें शिष्टाचार के साथ अपने कर्तव्य का पालन करना है । डॉ. मोजेस ने निर्देशित किया कि प्रत्येक विकासखण्ड से चिकित्सक, फार्मासिस्ट, स्टाफ नर्स, ए.एन.एम., लैब टैक्नीशियन, चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी एवं अन्य की आवश्यकतानुसार ड्यूटी लगाई गई है। डॉ. मोजेस ने शुद्ध पेयजल, भोजन वितरण व्यवस्था टोकन प्रणाली से सुचारू रूप से संचालित करने हेतु निर्देशित किया। शिविर में किसी प्रकार की कोई अव्यवस्था न रहे, किसी प्रकार की कोई लापरवाही न बरती जाये जिस कर्मचारी की जहां, ड्यूटी लगाई है वे वहां अनुशासित रूप से कार्य करें। मरीज एवं उनके परिजन तथा कर्मचारियों हेतु भोजन एवं चाय की व्यवस्था की गई है समस्त कर्मचारी गणवेश में रहकर कार्य करें। सभी लाये गये मरीजों की समुचित जांच के बाद उन्हें वापस छोड़ने तक की जिम्मेदारी स्वास्थ्य विभाग की है। जिन मरीजों कीे जांच एवं प्राक्कलन की प्रक्रिया पूर्ण हो जाये उन्हें संबंधित वाहनों से वापस भेजा जाये। एक भी मरीज वापस जाने में छूटे न यह सम्पूर्ण जिम्मेदारी संबंधित कर्मचारियों की है। कर्मचारी समय का विशेष प्रबंधन रखें। हमें ना केवल गणना का ध्यान रखना है वरन कार्य गुणवत्तापूर्ण ढंग से संपादित किया जाये, इस बात का विशेष ध्यान रखना है क्योंकि मरीजों के बीच हमारा कार्य ही हमारी साख है। शिविर का शुभारंभ जनप्रतिनिधियों की उपस्थितियों में प्रातः 10.00 बजे किया जायेगा। शिविर में राज्य बीमारी सहायता निधि एवं राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के अंतर्गत 16 अन्य अस्पतालों के साथ जिला चिकित्सालय बैतूल भी प्राक्कलन बनाने का कार्य करेगा।

बैठक रहे शामिल
बैठक में सिविल सर्जन सह मुख्य अस्पताल अधीक्षक डॉ. अशोक बारंगा, जिला मीडिया अधिकारी श्रुति गौर तोमर, डी.पी.एच.एन.ओ. एम.एन.पीटर, शक्ति मेढे़, प्रभारी प्रशिक्षण अधिकारी मधुमाला शुक्ला, उप विस्तार एवं माध्यम अधिकारी अभिलाषा खर्डेकर, महेश गुबरेले, जिला कम्युनिटी मोबेलाईजर कमलेश मसीह ,खण्ड चिकित्सा अधिकारी, बी.ई.ई, बी.पी.एम.,बी.सी.एम एवं अन्य कर्मचारीगण उपस्थित रहे।

 

NEWS IN ENGLISH

In the event of Chief Minister’s health care camp, any kind of work should be done – Chief Medical and Health Officer

Betul Chief Medical and Health Officer Dr. Pradeep Moshes reviewed the preparations for the successful completion of the Chief Minister’s Health Care camp dated 04 February 2017 in the Trauma Center on Friday 02.00 pm and reviewed the preparations for the camp. In the meeting Dr. Ashok Baranga directed that through this camp, the opportunity to re-serve once has been received, so it is our duty to provide better services to the new patients who are in need of services. This should be our goal, for mental patients, deformity patients, infertility, burn patients, kidneys, swelling in the feet, paralysis and all other patients. Patients are requested to carry out the old pamphlets and test reports with them so that they can facilitate the marking.

Dr. Moises directed that the roster-related duty of officers and employees in the camp will remain till 09.00 AM till the end of the camp. With regard to the arrival of the family with his family and leave to the house, the ANM from the related development block. Duty has been levied. While carrying the patient, take care of the employee that the patients who arrived at the time of time will have their nominated list with the Nodal Officer. In the camp, 10 registration counters will be created, in which the duty related officer of Section Block Officer, BEE, BPM, BCM, Supervisor, LHV, Data Entry Operator has been installed, which is responsible for the arrangements of their registration counters. Will be Vehicle number of vehicles from which vehicles will arrive, and vehicle number will remain with Nodal Officer. Vehicles inside the premises will not stand. The control room has been set up at Trauma Center, which will monitor the entire cells, as well as the CCTV in the camp. The camera will also be monitored. The discipline committee has also been formed in the camp. We have to follow our duty with courtesy. Dr. Moises guided that every development block has been set up according to the requirement of physician, pharmacist, staff nurse, ANM, lab technician, fourth class employee and others. Dr. Moises directed to operate smoothly with clean drinking water, food distribution system token system. There should be no disorder of any kind in the camp, do not take any kind of carelessness, where the duty of the employee where duty is put, work there disciplined. Food and Tea are arranged for the patient and their families and employees. All employees should work in uniform. After proper scrutiny of all the patients brought back, the responsibility of the health department is to take them back. Those patients who have completed the investigation and estimation process should be sent back from the respective vehicles. The whole responsibility is left to one patient, not one of the employees concerned. Take special care of employee time. We should not only take care of the calculation, but work should be done in a quality manner, it is important to take care of this because our work is only in our credentials among the patients. The camp will be inaugurated in the presence of representatives of the people at 10.00 AM. Betul, District Hospital, along with 16 other hospitals under the State Disease Assistance Fund and National Child Health Program, will also work to make estimates in the camp.

Meeting is included
In the meeting, Civil Surgeon cum Superintendent of Police Dr Ashok Baranga, District Media Officer Shruti Gaur Tomar, DPHOO M.N.Piter, Shakti Fadhe, In-charge Training Officer, Madhumala Shukla, Sub-Extension and Media Officer, AbhiLasha Khardekar, Mahesh Gubarel, District Community Mobilizer Kamlesh Christ, Block Medical Officer, BEE, BPM, B .CM and other staff were present.

Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.