भारत ने कहा- दलाई लामा पर स्टैंड में नहीं किया है कोई बदलाव

Advertisements

NEWS IN HINDI

भारत ने कहा- दलाई लामा पर स्टैंड में नहीं किया है कोई बदलाव

नई दिल्ली सरकार ने शुक्रवार को यह साफ किया है कि पड़ोसी देश चीन को खुश करने के लिए दलाई लामा को लेकर उसके स्टैंड में कोई बदलाव नहीं आया है। यह भी कहा कि दलाई लामा देश में कहीं भी धार्मिक आयोजन के लिए स्वतंत्र हैं। केंद्र ने उन मीडिया रिपोर्ट्स पर यह जवाब दिया है, जिनमें कहा गया था कि सरकार ने अधिकारियों को बौद्ध धर्मगुरु के भारत में निर्वासन के 60 साल पूरे होने के मौके पर आयोजित कार्यक्रमों से दूर रहने को कहा है।

कथित निर्देश को लेकर कहा गया था कि भारत पेइचिंग के साथ अपने संबंध खराब नहीं करना चाहता है, जो दलाई लामा को एक ‘खतरनाक अलगाववादी’ और तिब्बत को चीन का हिस्सा मानता है। सरकार ने ऐसे किसी निर्देश का खंडन विशेष तौर पर नहीं किया। भारत ने सिर्फ इतना कहा कि दलाई लामा को लेकर सरकार के स्टैंड में कोई बदलाव नहीं आया है।

विदेश मंत्रालय की ओर से जारी एक बयान में कहा गया, ‘आदरणीय दलाई लामा को लेकर सरकार का पक्ष साफ और स्थायी है। वह श्रद्धेय आध्यात्मिक गुरु हैं और भारत के लोग उनका बहुत सम्मान करते हैं। इस स्टैंड में कोई बदलाव नहीं आया है। भारत में धार्मिक गतिविधियों को लेकर उन्हें पूरी स्वतंत्रता है।’

दलाई लामा के भारत में निर्वासन को 60 साल पूरे होने जा रहे हैं और इसके उपलक्ष्य में कई कार्यक्रम होने हैं। तिब्बत स्वतंत्रता आंदोलन पर चीन के प्रहार के बाद दलाई लामा 1959 में भारत आ गए थे।

 

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए लिंक पर क्लिक करके https://www.facebook.com/samacharokiduniya/ पेज को लाइक करें या वेब साईट पर FOLLOW बटन दबाकर ईमेल लिखकर ओके दबाये। वीडियो न्यूज़ देखने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे। Youtube

 

NEWS IN ENGLISH

India said- No changes have been made in the stand on the Dalai Lama

The New Delhi government has made it clear on Friday that there has been no change in the stand of the Dalai Lama to please neighboring China. It is also said that the Dalai Lama is free to hold religious activities anywhere in the country. The Center has responded to those media reports, which said that the government has asked officials to stay away from programs organized on the occasion of completion of 60 years of exile in the country of Buddhist religious leader.

The said direction was said that India does not want to spoil its relationship with Beijing, which considers the Dalai Lama a ‘dangerous separatist’ and Tibet as a part of China. The government did not specifically denounce such a directive. India just said that there is no change in the government stand on the Dalai Lama.

A statement issued by the Foreign Ministry said, “The government’s stand on the respected Dalai Lama is clear and permanent. He is a revered spiritual master and people of India respect him very much. There is no change in this stand. In India, he has complete freedom regarding religious activities. ‘

Deportation of the Dalai Lama to India is going to complete 60 years and there are many programs to be celebrated. After the Chinese strike on the Tibet Freedom Movement, the Dalai Lama had returned to India in 1959.

 

To get the latest updates, click on the link: https://www.facebook.com/samacharokiduniya/Like the page or press the FOLLOW button on the web site and press the OK Subscribe to our YouTube channel to see the video news. Youtube

Advertisements
Advertisements

 

Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.