बैतूल भारत-भारती : गुरुकुल ही नहीं ग्राम विकास गतिविधियों का भी आदर्श केंद्र,मोहन भागवत के आगमन को लेकर सज रहा पूरा प्रांगण

Advertisements

NEWS IN HINDI

बैतूल भारत-भारती : गुरुकुल ही नहीं ग्राम विकास गतिविधियों का भी आदर्श केंद्र,मोहन भागवत के आगमन को लेकर सज रहा पूरा प्रांगण

बैतूल। भारत-भारती का नाम सुनते ही अमूमन केवल वहां स्थित आवासीय विद्यालय का छवि ही मन में बनती है, लेकिन सच्चाई यह है कि यह केवल एक गुरुकुल ही नहीं है बल्कि ग्राम विकास की गतिविधियों का भी एक आदर्श केंद्र है। यहां प्रवेश करते ही प्राचीन के साथ आधुनिक ग्राम्य भारत की जीवंत झांकी भी देखने को मिलती है। यह सब यहां आने वालों को बरबस ही आकर्षित कर लेती है। इन दिनों पूरे परिसर की साज-सज्जा आकर्षक, लेकिन ठेठ ग्रामीण अंदाज में की जा रही है। आरएसएस के सर संघचालक मोहन भागवत 2 फरवरी को भारत भारती पहुंचेंगे। श्री भागवत 2 से 4 फरवरी तक भारत भारती आवासीय परिसर में रहेंगे। वे यहां 2 फरवरी की शाम को होने वाले शिवाजी के जीवन पर आधारित महानाट्य जाणता राजा के भव्य मंचन में बतौर मुख्य अतिथि शिरकत करेंगे। सर संघचालक के आगमन को लेकर पूरा भारत भारती संस्थान को आकर्षक तरीके से सजाया और संवारा जा रहा है। भारत भारती परिसर को तैयार करने के लिए बेहतरीन कारीगरों की टीम दिन-रात एक कर रही है। इतना ही नहीं देशी अंदाज में बांस-बल्लियों के सहारे शानदार मंच का निर्माण किया जा रहा है जिसमें जाणता राजा महानाट्य का शानदार और भव्य तरीके से मंचन किया जाएगा।

आदर्श ग्राम की दिखेगी झलक
आधुनिक गुरुकुल शिक्षा पद्धति के साथ यहां 5 भारतीय देशी नस्ल की गायों की सुन्दर गौशाला, गाय के गोबर से लिपी-पुती दीवारों पर सुंदर मांडने, गौ आधारित जैविक कृषि में लहलहाती गेहूं, गोभी, टमाटर की फसलें, जल संवर्धन और संरक्षण के अनेक मॉडल, आयुर्वेदिक अस्पताल, मौलश्री की लकड़ी से बना पिरामिड ध्यान केन्ध, सतपुड़ा में पाए जाने वाले लगभग सभी पेड़ और औषधियों के वृक्ष, 50 से ज्यादा प्रकार के सुन्दर, रंग-बिरंगे पक्षी, सभी आधुनिक और परंपरागत खेलों के विशाल मैदान, मां सरस्वती और श्री हनुमानजी के सुन्दर मन्दिर सहित हर एक वह दृश्य नजर आएगा जो आप एक आदर्श गांव में देखना पसन्द करेंगे। देश का यह एकमात्र ऐसा विद्यालय होगा जहां एक साथ इतनी गतिविधियां चलती हैं।

ग्रामों से बना है जीवंत संपर्क
विद्या भारती की जनजाति शिक्षा का केंध भारत भारती होने से यह संस्थान जिले के लगभग प्रत्येक ग्राम से जीवंत संपर्क में है। इसके द्वारा प्रतिवर्ष जिले के सैकड़ों ग्रामों में जल संरक्षण के कार्य चलाए जाते हैं। भारत भारती संस्था के प्रयासों से ही बैतूल के नागरिकों के सहयोग से सोनाघाटी को हरा-भरा करने काम प्रारंभ हुआ है। यही कारण है कि यहां राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के द्वारा देश भर में ग्राम विकास के लिए काम करने वाले कार्यकर्ताओं का सम्मेलन आगामी 2, 3 और 4 फरवरी को यहां होने जा रहा है। इसमें देश के हर एक प्रदेश से 350 से ज्यादा कार्यकर्ता सम्मिलित होंगे। इन कार्यकर्ताओं का मार्गदर्शन करने के लिए संघ प्रमुख मोहन भागवत भी तीनों दिन भारत भारती में निवास करेंगे।

एक साल में दूसरी बार संघ प्रमुख का आगमन
यह एक वर्ष में दूसरा अवसर है जब श्री भागवत जिले के अधिकृत प्रवास पर आ रहे हैं। यहां वे ग्राम विकास सम्मेलन के साथ भारत भारती आवासीय विद्यालय के वार्षिकोत्सव में मंचित महानाट्य जाणता राजा में मुख्य अतिथि होंगे। साथ ही 2 फरवरी को शाम 6 बजे हजारों जिलेवासियों को संबोधित करेंगे। इसके लिए यहां दिन-रात तैयारियां की जा रही हैं। परिसर सज्जा के साथ 10 हजार लोगों के बैठने की व्यवस्था तथा भारत भारती के विशाल खेल मैदानों पर हजारों वाहनों की पार्किंग की व्यवस्था की जा रही है। वाहनों के आने और जाने के अलग-अलग मार्ग बनाए जा रहे हैं ताकि महानाट्य देखने आने वाले दर्शकों को कोई भी असुविधा न हो।

 

NEWS IN English

Betul Bharat-Bharti: Not only Gurukul, the ideal center for village development activities, the entire courtyard was decorated with the advent of Mohan Bhagwat

Betul As soon as Bharat-Bharati’s name is heard, the image of the residential school situated only there is in the mind, but the truth is that it is not only a Gurukul but also an ideal center for the activities of village development. Even after entering here, the ancient tableau India’s vibrant tableau is also seen along with ancient times. It attracts all those who come here. These days, the entire premises are being decorated in attractive but typical rural style. RSS head of RSS Mohan Bhagwat will reach Bharat Bharati on February 2 Shri Bhagwat will be staying in Bharat Bharti Residential Complex from February 2 to 4. They will be attending the main guest of Shivaji’s life on the evening of February 2. The whole of Bharat Bharati Sansthan is being charmed and decorated with the arrival of Sir Unionist. To prepare Bharat Bharti campus, team of finest craftsmen is doing day and night. Not only this, a spectacular platform is being built in the native style with the help of bamboo-batis, where the wise King Mahavyattya will be staged in a grand and grand manner.

A glimpse of the ideal village
With the modern Gurukul education system, beautiful Gaushala of 5 Indian native breed cows, beautiful arrangements from cow dung to Lipi-Puti walls, various models of savory wheat, cabbage, tomato crops, water conservation and conservation in organic based organic farming , Ayurvedic Hospital, pyramid meditation centers made from Maulashree wood, trees of almost all trees and medicines found in Satpura, more than 50 types of beautiful, beautiful Each and every other bird, including the beautiful grounds of all modern and traditional sports, the beautiful mother of Saraswati and Shri Hanumanji, will see the scenes that you would like to see in an ideal village. This will be the only school in the country where such activities are run simultaneously.

Village is made up of vibrant contacts
With Kand Bharat Bharati, Vidya Bharati’s tribal education, this institute is in live contact with almost every village in the district. Through this, water conservation work is run in hundreds of villages every year. With the efforts of the Bharat Bharati institution, the work of greening Sonnaghati has started with the help of the citizens of Betul. This is the reason that the conference of workers working for village development across the country by the RSS here is going to be held on February 2, 3 and 4. It will include more than 350 workers from every state of the country. To guide these workers, Union chief Mohan Bhagwat will also stay in Bharat Bharti for three days.

For the second time in a year the head of the head
This is the second occasion in a year when Shri Bhagwat is coming to the official migration of the district. Here, he will be the Chief Guest in the celebrated Maharaniya Jnanta Raja with the Gram Vikas Sammelan in the anniversary of Bharat Bharti Residential School. At the same time, on February 2, at 6.00 pm, thousands of people will address the residents. For this, preparations are being done day and night. The arrangement for the seating of 10 thousand people with campus decoration and parking of thousands of vehicles is being arranged on the huge playgrounds of Bharat Bharati. Different routes of vehicles coming and going are being created so that there is no discomfort to the visitors who come to see the greatness.

Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.