2.8 फीट कद, कई बार टूटी हड्डियां फिर भी पावरफुल पूनम

Advertisements

2.8 फीट कद, कई बार टूटी हड्डियां फिर भी पावरफुल पूनम

मणिकर्णिका के मंच पर रुबरु होगी संघर्ष और हौसले की मिसाल बेटियां


बैतूल। डाटर्स डे 25 सितंबर को बैतूल में देश का नाम गौरवान्वित करने वाली बेटियां मणिकर्णिका-2022 सम्मान से सम्मानित होगी। जिले के प्रसिद्ध नेत्र चिकित्सक डॉ वसंत श्रीवास्तव एवं एडव्होकेट नीरजा श्रीवास्तव की सुपुत्री स्व. नेहा अभिषेक श्रीवास्तव की स्मृति में बैतूल सांस्कृतिक सेवा समिति मप्र,बोथरा शॉपिंग मॉल, कांतिशिवा गु्रप, आदित्य होण्डा ग्रुप, होटल आईसीईन एवं जिला पंचायत बैतूल के सदस्य युवा समाजसेवी शैलेन्द्र कुंभारे के संयुक्त तत्वावधान में 25 सितंबर को रामकृष्ण बगिया में दोपहर 2.30 बजे ऐतिहासिक आयोजन किया जा रहा है। कार्यक्रम में सांसद डीडी उईके, जिला पंचायत अध्यक्ष राजा पंवार, विधायक निलय डागा, आमला विधायक डॉ योगेश पंडाग्रे, पूर्व सांसद हेमंत खण्डेलवाल, नर्मदापुरम आईजी दीपिका सूरी, कलेक्टर अमनबीर सिंह बैंस, एसपी सिमाला प्रसाद, सीईओ जिला पंचायत अभिलाष मिश्र, जिला भाजपा अध्यक्ष आदित्य बबला शुक्ला, जिला कांगे्रस अध्यक्ष सुनील गुड्डू शर्मा का सानिध्य प्राप्त होगा। इस समारोह में देश में मोटिवेशन स्पीकर के रुप में पहचान बना चुकी सौ सुपर वुमन में शामिल पूनम श्रोती भी मणिकर्णिका सम्मान प्राप्त करेंगी।

आयोजन समिति में शामिल डॉ वसंत श्रीवास्तव, एडव्होकेट नीरजा श्रीवास्तव, समाजसेवी एवं व्यवसायी धीरज बोथरा, विवेक मालवीय, राजेश आहूजा, अतुल गोठी, जिला पंचायत बैतूल के सदस्य शैलेन्द्र कुंभारे, नेशनल यूथ अवार्डी मनीष दीक्षित सहित बैतूल सांस्कृतिक सेवा समिति की अध्यक्ष गौरी बालापुरे, भारत पदम, जमुना पंडागे्र, नीलम वागद्रे, ईश्वर सोनी, माधुरी पुजारे सहित सभी सदस्यों ने अधिक से अधिक संख्या में इस कार्यक्रम में शामिल होने का अनुरोध जिले वासियों से किया है।

33 साल की पूनम दिव्यांगों के लिए आशा की किरण
देश की 100 पावरफुल महिलाओं में शामिल भोपाल निवासी पूनम श्रोती दिव्यांगों के लिए आशा की किरण है। पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने देश की 100 सम्मानित महिलाओं को पुरस्कार प्रदान किया है उनमें से एक पूनम भी थीं। पूनम श्रोती मिसाल हैं उन लोगों के लिये जो अपनी असफलता के लिये जिंदगी भर दूसरों को कोसते रहते हैं, वो हिम्मत हैं उन लोगों के लिए जो मुश्किल हालत में टूट जाते हैं, वो उम्मीद हैं उन लोगों के लिये जो शारीरिक कमजोरी के कारण आगे बढऩा छोड़ देते हैं।

ओस्टियोजेनिसिस से पीडि़त 33 साल की पूनम श्रोती को अगर हल्की सी ठोकर लग जाये तो उनकी हड्डियां टूट जाती हैं। हालांकि ये बीमारी लाखों में से एक या दो को होती है। ऊंचाई 2.8 फिट और अनगिनत बार टूट चुकी शरीर की हड्डियां, जिसके चलते खड़े भी नहीं हो पाने की मजबूरी, लेकिन हिम्मत इतनी कि दूसरों को जीने का हौसला देती हैं। वे केवल दिव्यांगों के लिए आशा का केंद्र है बल्कि युवाओं के लिए भी प्रेरणा का स्त्रोत है। उनका जन्म वर्ष 1986 में टीकमगढ़ जिले के एक छोटे से गांव में हुआ था। जन्म के समय उनके पिता राजेन्द्र श्रोती कारगिल में सेना में तैनात थे। जन्म के समय ही वह लगातार दो दिन रोती रही। इसके बाद जब पिता घर आए तो वे टीकमगढ़ के अस्पताल में ले गए। जहां डाक्टर ने पैर कमजोर होने की बात कहते हुए दोनों पैर उल्टे टांग कर एक माह तक रखा। जब सुधार नहीं हुआ तो पिता भोपाल के अस्पताल लेकर आए। जहां बीमारी के बारे में पता चला।

प्रदेश के विभिन्न जिलों से आएगी सख्सियतें

डाटर्स-डे पर गत वर्ष सम्मान समारोह में शामिल न होने की वजह से इस वर्ष खरगोन सीएमओ एवं बैतूल की पूर्व सीएमओ रह चुकी प्रियंका पटेल को भी वर्ष 2021 का मणिकर्णिका सम्मान दिया जाएगा। इस वर्ष जिन 27 बेटियों एवं महिलाओं को विशिष्ट उपलब्धियों के लिए यह सम्मान दिया जा रहा है उनमें पर्वतारोही मेघा परमार, भावना डेहरिया, मोटीवेटर पूनम श्रोती, मप्र ब्लाइंड महिला क्रकेट टीम की कप्तान निकिता कनाठे, उपकप्तान रवीना यादव एवं खिलाड़ी दीपशिखा महाजन, स्कूटी वाली मेडम अरुणा महाले, खगोलीय जानकार एवं सीएम राईज स्कूल की प्राचार्य साधना हैंड, चाईल्ड लाईन काउंसलर चारुलता वर्मा, डांस इंडिया डांस सूपर मॉम साधना मिश्रा, म्यूजिशियन एवं सिंगर नुपूर मौर्य, ज्योतिषी, टेरो रीडर अंकशास्त्री, क्रिस्टल हीलर एवं कोलंबों विश्वविद्यालय से मेडिकल ज्योतिषी में पीएचडी स्वर्ण पदक विजेता आरजू जैन, प्रथम महिला रेस्टोरेंट व्यवसायी साधना सिन्हा, टी स्टॉल संचालक शाहपुर निशि राठौर, प्रथम महिला ऑटो चालक मीरा पंवार, बाल कल्याण समिति की पूर्व सदस्य एवं समाजसेवी रश्मि साहू, काउंसलर एवं समाजसेवी जमुना पंडाग्रे, एसडीओपी सृष्टि भार्गव, कोतवाली टीआई अपाला सिंह, आरआई मनोरमा बघेल, चिचोली थाना प्रभारी तरन्नुम खान, एसडीएम रीता डेहरिया, महिला रोग विशेषज्ञ डॉ भारती सरियाम, लोक कलाकार प्रीति कृष्णकुमार वर्मा, ब्रेल लिपि की जानकार शिक्षिका लीला सोनी, प्रिया सलामे नेशनल प्लेयर कराते एवं वंशिका बुंदेले नेशनल प्लेयर परम्परागत लाठी एवं कुश्ती को सम्मानित किया जाएगा।

Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.