आर्थिक सर्वेक्षण : सालभर में 6 हजार 639 रुपए बढ़ी प्रति व्यक्ति आय

Advertisements

NEWS IN HINDI

आर्थिक सर्वेक्षण : सालभर में 6 हजार 639 रुपए बढ़ी प्रति व्यक्ति आय

भोपाल। बजट से पहले मंगलवार को विधानसभा में राज्य का आर्थिक सर्वेक्षण आया। प्रदेश में प्रति व्यक्ति आय में इस साल लगभग 6 हजार 639 रुपए यानी 9.06 प्रतिशत का इजाफा हुआ है।
अग्रिम अनुमानों के हिसाब से राज्य की शुद्ध प्रति व्यक्ति आय 73 हजार 268 रुपए से बढ़कर 79 हजार 907 रुपए हो गई है। 2011-12 के स्थिर भावों से देखें तो यह आय 52 हजार 406 रुपए से बढ़कर 55 हजार 442 रुपए हो गई, जो पिछले साल की तुलना में 5.79 प्रतिशत अधिक है। आर्थिक सर्वेक्षण 2017-18 में बताया गया कि प्रदेश में लगातार राजस्व आधिक्य की स्थिति बनी हुई है। मार्च 2017 की स्थिति में शुद्ध लोक ऋण 92 हजार 320 करोड़ रुपए रहा। खनिज क्षेत्र में 19.35 फीसदी की राजस्व वृद्धि हुई। नोटबंदी के बाद बैंकों में जमा राशि में भी बढ़ोतरी हुई है। 2015-16 की तुलना में 2017-18 में जमा राशि में 6.58 प्रतिशत और कर्ज लेने में 11.86 फीसदी का इजाफा हुआ है।

सूखे से निपटने 511 करोड़ रुपए
सूखे से निपटने के लिए सरकार ने जिलों को 511 करोड़ रुपए दिए हैं। इससे सूखा प्रभावितों को राहत सहायता मुहैया कराई जा रही है। प्रदेश के 18 जिलों की 133 तहसीलें सूखाग्रस्त घोषित हैं।

5.92 करोड़ पर्यटक आए
प्रदेश में इस साल 5 करोड़ 92 लाख पर्यटक विभिन्न् पर्यटन स्थलों पर भ्रमण के लिए आए। दिसंबर 2017 तक पर्यटन विकास निगम को 78 करोड़ 24 लाख रुपए से ज्यादा की आय हुई। जबकि पिछले साल 126 करोड़ रुपए से ज्यादा आय निगम को हुई थी।

प्रति हजार पर शिशु मृत्यु दर 50
स्वास्थ्य के क्षेत्र में लगातार काम करने के बावजूद सितंबर 2015 की स्थिति में शिशु मृत्यु दर प्रति हजार पर 50 बनी हुई है। यह दर राष्ट्रीय स्तर से अभी भी अपेक्षाकृत ज्यादा है। संस्थागत प्रसव के कारण मातृ और शिशु मृत्युदर को कम करने के प्रयास किए जा रहे हैं।

2.33 फीसदी घटे नियमित कर्मचारी
प्रदेश में भर्ती न होने और लगातार अधिकारियों-कर्मचारियों के सेवानिवृत्त होने से नियमित कर्मचारियों की संख्या पिछले साल की तुलना में इस साल 2.33 प्रतिशत घट गई है। मार्च 2016 में कर्मचारियों की संख्या 7 लाख 44 हजार 137 रही, जो 2015 की तुलना में 0.61 प्रतिशत कम है। नियमित कर्मचारियों की संख्या में 2.33 प्रतिशत की कमी आई है। इसी तरह विकास प्राधिकरण और विशेष क्षेत्र विकास प्राधिकरण में 0.40 प्रतिशत कमी रही।

11.22 लाख बेरोजगार, 422 को दिलाया रोजगार
प्रदेश में बेरोजगारी का आलम रोजगार कार्यालयों के आंकड़ों से समझा जा सकता है। रोजगार के लिए 11.22 लाख शिक्षित आवेदकों ने रोजगार कार्यालयों में पंजीयन कराया। इनमें से सिर्फ 422 को विभिन्न् कार्यालयों में रोजगार दिलाया गया।

87 हजार को कराया तीर्थदर्शन
प्रदेश सरकार ने मुख्यमंत्री तीर्थदर्शन योजना के तहत दिसंबर 2017 तक 87 हजार वरिष्ठ नागरिकों को तीर्थ यात्रा कराई। वहीं, 169 मंदिरों के जीर्णोद्धार पर 19 करोड़ रुपए से ज्यादा खर्च किए जा चुके हैं। 31 जिलों में पुजारियों को नौ करोड़ रुपए का मानदेय दिया गया।

85 फीसदी ग्रामीण क्षेत्रों का विद्युतीकरण
प्रदेश के 85 फीसदी ग्रामीण क्षेत्र का विद्युतीकरण हो चुका है। सबसे ज्यादा बिजली का उपयोग कृषि क्षेत्र में हो रहा है। घरों में 25.3 प्रतिशत बिजली की खपत हो रही है। मध्यप्रदेश बिजली सरप्लस राज्य बन चुका है।

30 लाख परिवार को नए गैस कनेक्शन
प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत प्रदेश की 30.13 लाख गरीब परिवार की महिलाओं को नए रसोई गैस कनेक्शन उपलब्ध कराए गए। प्रदेश में कुल 72 हजार 38 लाख परिवारों को रसोई गैस कनेक्शन दिए जाने हैं।

 

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए लिंक पर क्लिक करके https://www.facebook.com/samacharokiduniya/ पेज को लाइक करें या वेब साईट पर FOLLOW बटन दबाकर ईमेल लिखकर ओके दबाये। वीडियो न्यूज़ देखने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे। Youtube

 

NEWS IN ENGLISH

Economic Survey: 6 thousand 639 per person increased per capita income

Bhopal. Before the budget on Tuesday, the state’s economic survey came in the assembly. Per capita income in the state has increased by about 6 thousand 639 i.e. 9.06 percent this year.
According to advance estimates, the state’s net per capita income has increased from Rs. 73 thousand 268 to 79 thousand 907 rupees. Look at the stable prices of 2011-12, the income has increased from Rs 52,406 to Rs 55 thousand 442, which is 5.79 percent more than the previous year. In the Economic Survey 2017-18, it was reported that there has been a continuous state of revenue surplus in the state. In March 2017, net public debt stood at Rs 92 thousand 320 crore. There was an increase of revenue of 19.35 percent in the mineral sector. The bank deposited in the bank after the ban was also increased. Compared to 2015-16, the increase in deposits was 6.58 percent in 2017-18 and 11.86 percent for borrowing.

511 crores dealing with drought
In order to deal with the drought, the government has given Rs 511 crore to the districts. Due to this relief assistance is being provided to the affected. 133 tehsils of 18 districts of the state are declared drought-prone.

5.92 million tourists arrived
This year 5 million 92 lakh tourists come to visit various tourist destinations. Till December 2017, tourism development corporation has earned more than Rs. 78 crore 24 lakhs. Whereas last year more than 126 crores was generated by the corporation.

Infant mortality rate per 1,000
In spite of continuous work in the field of health, the child mortality rate has remained 50 per thousand in the state of September 2015. This rate is still relatively high at the national level. Attempts are being made to reduce maternal and infant mortality due to institutional delivery.

2.33 percent decreased regular employees
With no recruitment in the state and retiring officials and employees, the number of regular employees has decreased by 2.33 percent this year compared to last year. In March 2016, the number of employees was 7 lakh 44 thousand 137, which is 0.61 percent less than in 2015. The number of regular employees has decreased by 2.33 percent. Similarly, development authority and special area development authority have reduced 0.40 percent.

Employment of 11.22 lakh unemployed, 422
Unemployment in the state can be understood by the figures of employment offices. 11.22 lakh educated applicants for employment were registered in the employment offices. Of these, only 422 were employed in different offices.

Tauradana performed for 87 thousand
State Government has provided pilgrimage to 87 thousand senior citizens till December 2017 under the Chief Tirthadarshan Yojna. At the same time, more than Rs. 19 crores have been spent on the restoration of 169 temples. Nine crores of honorarium was given to priests in 31 districts.

85% electrification of rural areas
85% rural area of ​​the state has been electrified. Most power is being used in the agriculture sector. 25.3 percent electricity is being consumed in homes. Madhya Pradesh has become a power surplus state.

New gas connections to 30 lakh families
Under the Prime Minister Ujjwala scheme, new LPG connections were provided to the women of 30.13 lakh poor families of the state. LPG connections will be provided to 72 thousand 38 lakh families in the state.

 

To get the latest updates, click on the link: https://www.facebook.com/samacharokiduniya/Like the page or press the FOLLOW button on the web site and press the OK Subscribe to our YouTube channel to see the video news. Youtube

Advertisements
Advertisements

 

Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.