डॉक्टरों और स्वास्थ्यकर्मियों से हिंसा पड़ेगी महंगी, होगी 7 साल तक की जेल

Advertisements

डॉक्टरों और स्वास्थ्यकर्मियों से हिंसा पड़ेगी महंगी, होगी 7 साल तक की जेल


नई दिल्ली। अब से देश में डॉक्टरों और स्वास्थ्यकर्मियों के साथ हिंसा करना सज्ञेय अपराध होगा और इसमें दोषी पाए जाने वालों को 6 महीने से 7 साल तक की जेल की सजा के अलावा 5 लाख तक का जुर्माना भी चुकाना पड़ सकता है।

केंद्र सरकार ने यह बड़ा फैसला लिया है। मोदी सरकार ने इस बाबत एक अध्यादेश भी जारी किया है जिसे केंद्रीय कैबिनेट में मंजूरी मिल गई है और अब राष्ट्रपति के पास भेजा जाएगा। इस अध्यादेश में कई कड़े प्रावधान किए गए हैं। इसकी जानकारी केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावडेकर ने बुधवार को दी। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह द्वारा देशभर में कोरोना वायरस के खिलाफ जंग लड़ रहे डॉक्टरों के साथ हो रहे दुर्व्यवहार और हमलों से सुरक्षा देने के आश्वासन के बाद सरकार यह अध्यादेश लेकर आई है। राष्ट्रपति की मंजूरी के बाद यह लागू हो जाएगा, इसके लिए सरकार Epidemic Diseases Act, 1897 में बदलाव करेगी।

Advertisements

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error:
WhatsApp chat