केंद्र एवं राज्य सरकार कर रही प्रवासी मजदूरों की उपेक्षा – डॉ. सुनीलम

Advertisements

केंद्र एवं राज्य सरकार कर रही प्रवासी मजदूरों की उपेक्षा – डॉ. सुनीलम


मुलताई, (कुलदीप पहाड़े)। किसान संघर्ष समिति के कार्यकारी अध्यक्ष एवम मुलताई के पूर्व विधायक डॉ सुनीलम ने केंद्र और राज्य सरकारों पर प्रवासी मजदूरों की उपेक्षा का आरोप लगाते हुए प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से बताया कि बैतुल के 280 लोगों ने बैतुल वापसी हेतु संपर्क किया। प्रदेश के बाहर फंसे लोगों को वापस लाने को लेकर जिलाधीश बैतुल तथा प्रदेश के यात्रा समन्वयक केसरीजी को जानकारी दी गई।आंध्रा और तेलंगाना समन्वयक नोडल अधिकारी द्वारा सूचित किया गया कि बस की ई-पास जारी करना संभव नही है और रेल का इंतजाम हुआ नहीं है। डॉ सुनीलम ने अन्य राज्यों में फंसे नागरिकों के लिए रेल मंत्री को पत्र लिखा तथा रेल मंत्रालय के अधिकारियों से बातचीत की।

डॉ सुनीलम् ने केंद्र और राज्य सरकार पर मजदूरों की उपेक्षा का आरोप लगाते हुए कहा कि 50 दिन होने के बावजूद अब तक गांव वापस जाने का कोई इंतजाम नही किए जाने से पता चलता है कि सरकारों की प्रवासी मजदूरों में कोई रुचि नहीं है। डॉ सुनीलम ने कहा कि मुझे प्राप्त जानकारी के अनुसार जो मजबूर बाहर फंसे हैं उन्हे सरकार द्वारा कोई आर्थिक मदद नही दी गई है ना ही उन्हें अनाज उप्लब्ध कराया गया है।

डॉ सुनीलम् ने कहा कि प्रधानमंत्री द्वारा 20 लाख करोड़ की घोषणा की गई परन्तु प्रवासी मजदूरों को वापस लाने के लिए कोई आर्थिक मदद की घोषणा नही की जिससे प्रवासी मजदूरों में आक्रोश व्याप्त है। डॉ. सुनीलम ने बताया कि उनसे अब तक मध्यप्रदेश के रीवा, सतना, शहडोल,सिहोर,सागर , रायसेन,बैतूल के सैकड़ों लोगों ने संपर्क किया है ,जिसकी सुचना उन्होंने राज्य सरकार तथा संबंधित जिलाधीशों को दी है।

Advertisements

1 thought on “केंद्र एवं राज्य सरकार कर रही प्रवासी मजदूरों की उपेक्षा – डॉ. सुनीलम

  1. Sar main aapki Baton se sahmat Hun Main Bhi Yahin Pune Mein fansa Hun Main Bhi Apne Ghar Betul Wapas Aana chahta hun lekin abhi tak Koi Suvidha uplabdh Nahin Ho Pai hai

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error:
WhatsApp chat