मास्क नहीं पहनने, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं करने पर प्रशासन सख्त, सार्वजनिक स्थल एवं दुकान में नियमों के उल्लंघन पर होगा स्पॉट फाईन, पढ़े पूरा आदेश

Advertisements

मास्क नहीं पहनने, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं करने पर प्रशासन सख्त, सार्वजनिक स्थल एवं दुकान में नियमों के उल्लंघन पर होगा स्पॉट फाईन, पढ़े पूरा आदेश


बैतूल। बैतूल जिले में सार्वजनिक स्थल पर मास्क नहीं पहनने, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं करने एवं एक समय में एक दुकान के अंदर व बाहर पाँच से अधिक व्यक्ति पाये जाने पर स्पॉट फाईन करने के संबंध में आदेश जिला कलेक्टर ने शनिवार को जारी किये। जारी आदेश में जिला कलेक्टर राकेश सिंह ने कहा कि एपीडेमिक डिजीज एक्ट 1897 के अनुक्रम में बनाये गये मध्यप्रदेश ऐपौडेमिक डिजीज, कोविड 19 रेगुलेशन 2020 के विनियम 10 में जिला दण्डाधिकारी को प्रदत्त शक्तियों के अंतर्गत मैं राकेश सिंह, कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी जिला बैतूल विभिन्न प्रकार के आदेशो जिसमें की इस कार्यालय द्वारा जारी आदेश क्रमांक 0019/144/2020 दिनांक 31 मई 2020 में विभिन्न प्रकार के प्रावधान किये गये है एवं भारत शासन द्वारा विभिन्न तरह के कोविड – 19 के रोकथाम हेतु जो एडवाईजरी जारी की गई है एवं उपरोक्त आदेश से बैतूल जिले के अंदर विदयमान समस्त नागरिका, व्यक्ति, प्रतिष्ठान आदि पालन करने हेतु बाध्य किये गये है। प्रतिबंधो एवं निर्देशो के उल्लघंन हेतु स्पॉट फाईन इसके सक्षम प्राधिकारी एवं प्रक्रिया तत्काल प्रभाव से आदेशित किये जाते है। इस संबंध में निम्नानुसार प्रतिबंधात्मक निर्देश जारी किये
जाते है।

1. सभी सार्वजनिक क्षेत्रों पर मुंह पर मास्क /फेस कव्हर लगाना एवं सोशल डिस्टैसिंग का पालन करना अनिवार्य होगा।

2. प्रत्येक दुकान पर हाथो को साफ रखने के लिये हेण्ड सेनेटाईजर अथवा साबुन से हाथ धोने की व्यवस्था उपलब्ध हो, ताकि जो लोग दुकान में आते है वे हाथ धोकर सेनेटाईजर लगाकर दुकान में प्रवेश कर सके। दुकानदार सभी आंगतुको को मास्क लगाना अनिवार्य किया जाये एवं बिना मास्क के किसी भी आंगतुको को प्रवेश न दिया जाये।

3. दुकान के स्वामी/मालिक का यह भी दायित्व होगा कि ऐसे ग्राहको एवं कर्मचारियों, जो बिना मास्क के दुकान में प्रवेश करते है, के लिये मास्क उपलब्ध कराये। इस हेतु दुकानदार अतिरिक्त मास्क दुकान में रख सकते है।

4. दुकानों के क्षेत्रफल के अनुसार लोगो के बीच सोशल डिस्टेसिंग का पालन कराना सुनिश्चित किया जाये। एक समय में एक दुकान के अंदर 5 ग्राहको से अधिक व्यक्ति न हो, दुकान के कर्मचारी के बीच भी दो गज की दूरी होना सुनिश्चित किया जाये। ग्राहको से निश्चित दूरी अपनाकर ही उनकी खरीददारी में सहायता करेगें।

5. दुकान के कर्मचारी जो काउंटर पर बैठते है, के लिये भी मास्क लगाना अनिवार्य होगा।

6. दुकानदार यह भी सुनिश्चित करे कि दुकानों में ग्राहको के द्वारा कम से कम चीजों को हुआ जाये एवं विक्रेता के द्वारा ही चीजें दिखाई जाकर सामानों का विक्रय किया जाये।

7. दुकानों के काउंटर, फर्श, दरवाजों के हैण्डल इत्यादि को नियमित तौर पर सेनेटाईज (विसंक्रमित) किया जाये। इसके लिये पातुओं की सतह (मेटल सरफेस), कम्प्यूटर ऐसी वस्तु जो जंग खा सकती/खराब हो सकती है उनको एल्कोहल बेस्ड से तथा अन्य जगह जैसे फर्श टाइलस इत्यादि को एक प्रतिशत सोडियम हाइपोक्लोराईड साल्यूशन से विसंक्रमित किया जा सकता है। इसके लिये मोटे तौर पर दो भाग साल्यूशन तथा आठ भाग पानी मिलाकर सफाई की जा सकती है।

8. दुकानदार यह भी सुनिश्चित करे कि दुकान में कोई भी अस्वस्थ्य कर्मचारी जिसको बुखार, सर्दी- जुखाम के लक्षण हो वे दुकान पर न आये, केवल स्वस्थ्य कर्मचारियो से ही दुकानों का संचालन किया जाये ताकि संक्रमण फैलने का खतरा न बढ़े। जिन दुकानों में प्रतिक्षा कक्ष है वहाँ पर कक्ष में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करवाया जाये। इसके अतिरिक्त जहां-जहां पर ओवर द काउंटर विक्रय है तथा दुकानों के अंदर ग्राहको का प्रवेश नहीं है वहाँ पर काउंटर के बाहर ग्राहको में सोशल डिस्टेंसिंग अपनाकर कम से कम दो गज की दूरी बनाकर ही विक्रय किया जाये।

9. प्रत्येक दुकानदार दुकान के बाहर तथा दुकान के अंदर ग्राहको की जागरूकता हेतु कोविड-19 संक्रमण के उपायाइससे बचने की सावधानी बरतने के संबंध में प्रचार-प्रसार की सामग्री/पम्प्लेट्स, पोस्टर आदि लगाना सुनिश्चित करेगें।

स्पॉट फाईना/जुर्माना –

1. सार्वजनिक स्थल पर प्रत्येक व्यक्ति/नागरिक को फेस मास्क/फेस कदर लगाना अनिवार्य होगा। उल्लंघन करने वाले व्यक्तिानागरिक पर रुपये 100/- तक का स्पॉट फाईन किया जायेगा।

2. सार्वजनिक स्थल पर प्रत्येक व्यक्ति/नागरिक सोशल डिस्टेंसिंग (दो गज की दूरी) का पालन करना अनिवार्य होगा। उल्लंघन करने वाले व्यक्ति/नागरिक पर रुपये 500/- तक का स्पॉट फाईन किया जायेगा।

3. प्रत्येक दुकान/प्रतिष्ठान/संस्थान के प्रमुख/प्रभारी/प्रबंधक द्वारा अपने व्यावसायिक स्थल पर सोशल डिस्टेंसिंग (दो गज की दूरी), एक समय में पाँच से अधिक व्यक्ति उपस्थित न रहे. दुकान के अंदर कार्यरत कर्मचारियों द्वारा फेस मास्क/फेस कवर पहनना आदि के उल्लंघन की स्थिति में दुकान/संस्थान के प्रमुख/प्रभारी/प्रबंधक व्यक्ति पर रूपये 1000/- से लेकर रूपये 5,000/- तक का स्पॉट फाईन किया जावेगा। स्पॉट फाईन का निर्धारण संस्थान के महत्व अनुसार उक्त अधिकारियों द्वारा निर्धारित किया जावेगा।

स्पॉट फाईना/जुर्माना अधिरोपित करने वाले सक्षम प्राधिकारी –

यदि कोई व्यक्ति/संस्थानाटुकानदार/प्रतिष्ठान के दवारा उपरोक्तानुसार दिये गये प्रतिबंधो/निर्देशो का उल्लंघन पाये जाने पर संबंधित क्षेत्र के कार्यपालिक दण्डाधिकारी अपने क्षेत्र के अंतर्गत मौके पर ही निर्धारित स्पॉट फाईनाजुर्माना रसीद देते हुये स्पॉट फाईन की राशि वसूल कर सकेंगे।

नगरीय क्षेत्रों में इन आदेशों के प्रवर्तन की प्रक्रिया:-

1- ऐसे विभिन्न स्थलों, जहाँ पर भीड़ अधिक होने की प्रवृत्ति होती है, जैसे मुख्य बाजार, अन्य सार्वजनिक स्थल आदि में पुलिस अधीक्षक आवश्यकता अनुसार निगरानी हेतु पुलिस कर्मियों को डिप्लाय करेंगे। इसी प्रकार नगरीय निकाय के अधिकारी / कर्मचारी भी इस हेतु नियमित भ्रमण करेंगे।

2- जहाँ उल्लंघन पाया जाता है. वहाँ संबंधित के विरुद्ध कार्यवाही का संक्षिप्त प्रतिवेदन, जिसमें उल्लंघनकर्ता का नाम स्थल, उल्लंघन का प्रकार उल्लेखित कर एक पृष्ठीय दस्तावेज बनायेंगे एवं संबंधित कार्यपालिक मजिस्ट्रेट को इसकी सूचना देंगे। संबंधित कार्यपालिक मजिस्ट्रेट आवश्यकता/ परिस्थिति अनुसार स्थल पर पहुंचकर अथवा कार्यालय में आहूत कर संबंधित व्यक्ति से उपरोक्तानुसार दंड की राशि वसूल कर उसे MPTC की रसीद देंगे।

3. इसके अतिरिक्त कार्यपालिक दंडाधिकारी , पुलिस अधिकारी एवं नगरपालिका के अधिकारी प्रत्येक दिन में दो बार इन प्रावधानों के उल्लंघन की जाँच हेतु विशेष भ्रमण अभियान भी चलायेंगे व उल्लंघनकर्ताओं पर शास्ति अधिरोपित करेंगे।

ग्रामीण क्षेत्रों में इन आदेशों के प्रवर्तन की प्रक्रिया:-

1. ग्रामीण क्षेत्रों में मुख्य कार्यपालन अधिकारी, जनपद पंचायत, अन्य जनपद स्तरीय अधिकारी /कर्मचारी, ग्राम पंचायत सचिव, रोजगार सहायक, राजस्व निरीक्षक, पटवारी, स्वास्थ्य विभाग के मैदानी कर्मचारी जहाँ इन प्रावधानों का उल्लंघन पाते हैं, वहाँ उपरोक्त प्रक्रिया अनुसार संक्षिप्त एकपृष्ठीय प्रतिवेदन तैयार करेंगे और कार्यपालिक दंडाधिकारी को प्रस्तुत करेंगे एवं कार्यपालिक दंडाधिकारी निर्धारित शास्ति अधिरोपित करेंगे तथा राशि वसूल कर रसीद देंगे।

2. ग्रामीण क्षेत्रों में भी कार्यपालिक दंडाधिकारी एवं पुलिस अधिकारी समय समय पर संयुक्त रूप से निरीक्षण करेंगे एवं उल्लंघन पाये जाने पर कार्यपालिक दंडाधिकारी द्वारा स्पॉट फाइन वसूल किया जाएगा।

शहरी एवं ग्रामीण दोनों क्षेत्रों में :-

1. जहाँ कोई व्यक्ति इन संक्षिप्त प्रतिवेदनों के आधार पर स्पॉट फाइनास्थल दंड की राशि देनेसे इंकार करता है, वहाँ विस्तृत जॉच करके दांडिक कार्यवाही की जायेगी।

2- ऐसे दुकान। प्रतिष्ठान जिनमें दो गज की दूरी का पालन नहीं हो रहा, व एक समय में पाँच से अधिक व्यक्ति पाये जाते हैं, उनका निरीक्षण भी समय समय पर उपरोक्तनुसार शासकीय कर्मी करते रहेंगे एवं उल्लंघन होने पर एकपृष्ठीय प्रतिवेदन बनायेंगे। संबंधित कार्यपालिक मजिस्ट्रेट उपरोक्तानुसार निर्धारित स्पॉट फाइन प्रथम उल्लंघन करने पर करेंगे। द्वितीय उल्लंघन पर उस दुकान/ प्रतिष्ठान को तीन दिवस के लिए बंद करेंगे। तृतीय उल्लंघन पर दांडिक कार्यवाही की जावेगी।

जिला कलेक्टर श्री सिंह ने आदेश जारी करते हुए कहा कि यह आदेश आम जनता को सम्बोधित है। चूंकि वर्तमान में मेरे समक्ष ऐसी परिस्थितियों नहीं है. और ना ही यह सम्भव है कि इस आदेश की पूर्व सूचना प्रत्येक व्यक्ति या समूह को दी जाकर सुनवाई की जा सके। अत: यह आदेश एकपक्षीय पारित किया जाता है। इस आदेश का उल्लंघन करने वाले व्यक्ति के विरुद्ध भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 तथा एपीडेमिक एक्ट 1897 के तहत म0प्र0 शासन द्वारा जारी किये गए विनियम दिनांक 23/03/2020 की कंडिका 10 के अंतर्गत भारतीय दण्ड संहिता की धारा 187,188,269,270,271 के अंतर्गत दंडनीय है एवं उल्लंघनकर्ता के विरुद्ध इन धाराओं के अंतर्गत
कार्यवाही की जावेगी।

यह आदेश तत्काल प्रभावशील रहेगा।

 

Advertisements

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error:
WhatsApp chat