कोरोना काल में भीमपुर निवासी की सड़क दुर्घटना में आयी सिर में गंभीर चोट, जिला चिकित्सालय में सर्जन दल द्वारा किया गया सफल उपचार

Advertisements

कोरोना काल में भीमपुर निवासी की सड़क दुर्घटना में आयी सिर में गंभीर चोट, जिला चिकित्सालय में सर्जन दल द्वारा किया गया सफल उपचार


बैतूल। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉक्टर प्रदीप कुमार धाकड़ ने बताया कि दिनांक 13 जून 2020 को श्री अशोक उइके उम्र 25 वर्ष निवासी ग्राम सेलूढ़ाना विकासखंड भीमपुर, जिला चिकित्सालय बैतूल में उपचार हेतु आया। श्री अशोक को सिर में गंभीर चोट थी, जो कि सड़क दुर्घटना के कारण थी। श्री अशोक दुर्घटना के बाद बैतूल के निजी चिकित्सालय में उपचार हेतु गये एवं 20 दिन तक उपचार लेने के बाद आराम न मिलने पर जिला चिकित्सालय बैतूल आये। जिला चिकित्सालय बैतूल में पहुॅचने पर चिकित्सकों ने पाया कि मरीज श्री अशोक अपनी आंखें ठीक प्रकार से खोल नहीं पा रहा है, बोल भी नहीं पा रहा और न ही इशारे समझ पा रहा है। मरीज की स्थिति गंभीर थी, मरीज अचेतावस्था में था।

जिला चिकित्सालय बैतूल में सर्जन एवं मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. प्रदीप कुमार धाकड़ द्वारा मरीज श्री अशोक को चिकित्सकीय उपचार प्रदाय किया गया, एवं प्रारंभ में मरीज अशोक को नली डालकर भोजन प्रदाय किया जा रहा था, वो भी मरीज ग्रहण नहीं कर पा रहा था, किन्तु छुट्टी के समय तक मरीज स्वयं भोजन ग्रहण करने लगा। जिला चिकित्सालय में भर्ती के समय मरीज की गंभीर स्थिति को देखते हुये उसे इंजेक्शन एवं बॉटल पर रखा गया किन्तु बाद में मरीज गोलियों के माध्यम से उपचार प्राप्त कर पाया। दिनांक 28 जून 2020 को श्री अशोक को स्वस्थ होने पर जिला अस्पताल बैतूल से छुट्टी दी गई। मरीज अशोक को हर सप्ताह फॉलोअप के लिये जिला चिकित्सालय बैतूल आने का परामर्श दिया गया है।

डॉ. प्रदीप धाकड़ के साथ-साथ डॉ. मनोज अग्रवाल, डॉ. रंजीत राठौर, नर्सिग स्टाफ श्रीमती वंदना छत्रपाल, श्रीमती अर्चना नागले, श्रीमती निर्मला पंडोले, श्रीमती छबि उपराले, श्रीमती रश्मि सोनी एवं श्रीमती शारदा कालभोर की मेहनत रंग लाई है, और मरीज ठीक होकर घर रवाना हुआ है।

पूर्व में हेड इन्ज्युरी (सिर में चोट) के मरीजों को उच्च संस्था में ही उपचार हेतु रैफर किया जाता था किन्तु कोरोना महामारी जैसे संक्रमण काल में भी चिकित्सकों के दल द्वारा बेहतर उपचार प्रदाय कर मरीज को स्वस्थ किया गया है। यह जिला चिकित्सालय के लिये एक बेहतर उपलब्धि है।

Advertisements

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error:
WhatsApp chat