बैतूल के विवेकानंद वार्ड का आंशिक क्षेत्र कंटेन्मेंट एरिया घोषित

Advertisements

बैतूल के विवेकानंद वार्ड का आंशिक क्षेत्र कंटेन्मेंट एरिया घोषित


बैतूल। बैतूल शहर के वार्ड क्रमांक 33 विवेकानंद वार्ड में एक मरीज कोरोना पॉजीटिव पाए जाने के उपरांत कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी श्री राकेश सिंह ने वार्ड क्रमांक 33 विवेकानंद वार्ड के आंशिक क्षेत्र कुलसिंह का मकान पश्चिम में लक्ष्मीनारायण एवं रमेश का मकान, दक्षिण में सम्पत सूर्यवंशी एवं विजय शिवहरे के मकान तक के क्षेत्र को कंटेन्मेंट एरिया घोषित किया है। इस क्षेत्र के समस्त घरों का सर्वे अनिवार्यत: करवाने के निर्देश दिए गए हैं।

संक्रमण की रोकथाम के लिए कंटेन्मेंट एरिया के अंतर्गत पूर्ण रूप से आवागमन प्रतिबंधित रहेगा एवं कंटेन्मेंट एरिया में अंदर आना एवं बाहर जाना भी पूर्ण रूप से प्रतिबंधित रहेगा।

कंटेन्मेंट एरिया हेतु सीएमएचओ द्वारा विशेष आरआरटी जिसके अंतर्गत एक फिजिशियन, एक एपिडिमियोलॉजिस्ट, पेथालॉजिस्ट, माइक्रोबायोलॉजिस्ट, डाक्यूमेंटेशन स्टाफ रखा जाएगा व मेडिकल मोबाइल यूनिट जिसके अंतर्गत एक मेडिकल ऑफिसर, एक पैरामेडिकल स्टाफ, लेब टेक्निशियन व डाक्यूमेंटेशन स्टाफ का गठन किया जाएगा।

उक्त क्षेत्र के एक्जिट प्वाइंट पर स्वास्थ्य कर्मचारियों द्वारा सतत् स्क्रीनिंग की जाएगी।

समस्त वार्डवार फ्रंटलाइन स्वास्थ्य कार्यकर्ता- एलएचवी, एएनएम, आशा, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता एवं सुपरवाईजर (एमपीडब्ल्यू-टीबीएचव्ही) टीम वाइज एपिसेंटर से प्रति टीम पचास घरों का भ्रमण कर जानकारी लेते हुए निर्धारित प्रोफार्मा-2 में रिपोर्ट आईडीएसपी नोडल ऑफिसर को अनिवार्यत: उपलब्ध कराना सुनिश्चित करेंगे।

कलेक्टर ने कहा है कि समस्त टीम कोविड-19 सस्पेक्टेड केस की मॉनीटरिंग प्रतिदिन करेंगे एवं कोविड-19 संक्रमण की संभावित लक्षण जैसे बुखार, खांसी, गले में दर्द एवं श्वास लेने में तकलीफ आदि लक्षण आने पर आरआर टीम को सूचना देना सुनिश्चित करेंगे।

समस्त कोविड-19 संक्रमण के पॉजीटिव केस के परिजन, निकट संपर्क को क्वारेंटाइन कराया जाना अति आवश्यक है जिससे संक्रमण को समुदाय में फैलने से रोका जा सके।
जिनको क्वारेंटाइन किया गया है उनका प्रतिदिन फॉलोअप लेना होगा (विजिट या दूरभाष के माध्यम से) जब तक कि सस्पेक्टेड केस का रिजल्ट नेगेटिव न आ जाए और यदि रिजल्ट पॉजीटिव आता है तो संबंध के True कॉन्टेक्ट को 14 दिन तक होम क्वारेंटाइन रखना होगा एवं फॉलोअप 28 दिन तक प्रतिदिन रखना होगा।
आगे संक्रमण फैलने से रोकने हेतु त्वरित कार्यवाही अंतर्गत संदिग्ध संक्रमित की कॉन्टेक्ट ट्रेकिंग करे हुए समस्त संबंधितों (सेल्फ डिक्लेरेशन फार्म में उल्लेखित) से अनिवार्यत: सम्पर्क किया जाकर उन्हें भी क्वारेंटाइन करवाने की कार्रवाई व उनकी भी प्रतिदिन सम्पर्क करते हुए सम्पर्क एवं ट्रेकिंग की रिपोर्टिंग किए जाने के निर्देश दिए गए हैं।

सस्पेक्टेड केस को सेक्टर मेडिकल ऑफिसर/आरआरटी द्वारा परीक्षण किए जाने तक एक अलग चिन्हित कमरे में आईसोलेशन में रखे जाने एवं समस्त परिवार को फेस मास्क उपलब्ध कराते हुए हैण्ड हाईजीन और पर्सनल हाईजीन के प्रोटोकॉल पालन करवाने के निर्देश दिए गए हैं।

साथ ही समस्त कार्यकर्ताओं को पीपीई प्रोटोकॉल का पालन करने एवं स्थानीय अधिकारियों द्वारा आरोग्य सेतु एप की पहुंच जोन के शत्-प्रतिशत् रहवासियों तक सुनिश्चित कराए जाने के निर्देश दिए गए हैं।

Advertisements

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error:
WhatsApp chat