इन सरकारी Mobile Apps को मोबाइल में जरूर करें डाउनलोड, आएंगे बेहद काम

Advertisements

इन सरकारी Mobile Apps को मोबाइल में जरूर करें डाउनलोड, आएंगे बेहद काम


कई मोबाइल ऐप तो सीधे आम आदमी को प्रभावित करते हैं, जिनका उपयोग दैनिक जीवन में भी हो रहा है। ये सभी ऐप गूगल प्ले स्टोर (Google Play Store) पर आसानी से निशुल्क मिल जाते हैं। इन एप्लीकेशन की मदद से न सिर्फ दफ्तरों के चक्कर काटने का वक्त बच रहा है, बल्कि इनके उपयोग की सरल प्रक्रिया से लोगों को कई झंझटों से छुटकारा मिल गया है। आइए जानते हैं ऐसे ही कुछ सरकारी मोबाइल ऐप के बारे में जो इन दिनों काफी चर्चाओं में हैं।

आरोग्य सेतु ऐप (Aarogya Setu):

कोरोना महामारी के चलते यह वक्त पूरी दुनिया के लिए संकट से भरा हुआ है। भारत में भी कोरोना मरीजों की संख्या 6 लाख के करीब पहुंच चुकी है। केंद्र सरकार द्वारा लॉकडाउन करने के बाद कोरोना संक्रमित मरीजों की लोकेशन ट्रेस करने के लिए आरोग्य सेतु ऐप (Aarogya Setu App) को लांच किया गया है। इसकी मदद से यूजर्स को संक्रमित के संपर्क में आने पर नोटिफिकेशन के जरिए सूचना मिल जाती है। इसके साथ ही यूजर्स इस ऐप की मदद से यह भी पता लगा सकते हैं कि उनके आसपास कोरोना संक्रमण का कितना खतरा है।

डिजिलॉकर (DigiLocker):

इस ऐप की मदद से जरूरी दस्तावेज जैसे ड्राइविंग लाइसेंस, रजिस्ट्रेशन, पैन कार्ड को डिजिटल फॉर्मेंट में रखा जा सकता है। इसमें कॉलेज सर्टिफिकेट भी सेव कर रखा जा सकता है। इसकी मदद से हमेशा दस्तावेजों की हार्ड कॉपी रखने से भी बचा जा सकता है। वाहन चालक ड्राइविंग लाइसेंस, व्हीकल रजिस्ट्रेशन, बीमा की डिजिटल कॉपी रख सकते हैं। यह कॉपी दिखाने पर मान्य होती है।

उमंग (Umang)

इस सरकारी मोबाइल एप्लीकेशन के जरिए लोग सभी सरकारी सेवाओं का लाभ उठा सकते हैं। इस ऐप में EPF, पैन, आधार, गैस बुकिंग, मोबाइल बिल पेमेंट, बिजली बिल पेमेंट, डिजिलॉकर सहित अन्य सुविधाएं मिल जाती हैं। इस ऐप को मिनिस्ट्री ऑफ इलेक्ट्रॉनिक्स एंड इन्फॉर्मेशन टेक्नालॉजी और नेशनल ई-गवर्नेंस डिविजिन ने मिलकर तैयार किया है।

एम आधार (M Aadhaar):

आधार से संबंधित किसी भी काम के लिए UIDAI का एम-आधार ऐप बहुत काम का है। इसमें लोगों को कई सुविधाएं दी गई हैं। इस ऐप में अपने आधार कार्ड को ड़िजिटल फॉर्मेंट में तो रखा ही जा सकता है। इसके साथ ही बायोमैट्रिक जानकारी भी सुरक्षित रखी जा सकती है।

हिम्मत प्लस (Himmat Plus)

देश की राजधानी दिल्ली में महिलाओं की सुरक्षा के मद्देनजर इस ऐप को खास महिलाओं के लिए बनाया गया है। इसके इस्तेमाल के लिए पहले यूजर को दिल्ली पुलिस की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर रजिस्ट्रेशन करना होता है। इस ऐप की खासियत है कि अगर यूजर इसकी मदद से मुश्किल परिस्थिति में अलर्ट भेजता है तो यह जानकारी सीधा दिल्ली पुलिस कंट्रोल रुम को मिलती है। इस ऐप से दिल्ली पुलिस को यूजर की लोकेशन और ऑडियो जैसी जानकारी भी मिल जाती है। 

एम परिवहन एप (M PARIVAHAN APP)

एम परिवाहन एप के माध्यम से कोई भी यूजर अपने ड्राइविंग लाइसेंस की डिजिटल कॉपी बना सकता है। वहीं, व्यक्ति कार रजिस्ट्रेशन की सभी जानकारी को भी हासिल कर सकता है। इसके अलावा जो पुरानी कार खरीदने का मन बना रहा है, वह इस एप के जरिए से ही उम्र, रजिस्ट्रेशन डिटेल्स आदि पता कर सकता है।

एम पासपोर्ट (M Passport)

जैसा कि नाम से पता चलता है एम पासपोर्ट एप के माध्यम से यूजर को पासपोर्ट की जानकारी मिलती है। इस एप को अभी हाल ही में लॉन्च किया गया है। यहां व्यक्ति पासपोर्ट से संबंधित सभी जानकारी को हासिल कर सकता है।

पोस्टइंफो (Postinfo)

पोस्ट विभाग की सेवाओं को और बेहतर करने के उद्देश्य से बनाई गई पोस्टइंफो एप से काफी जानकारी मिलती है। इसके माध्यम से यूजर अपने पार्सल को ट्रैक कर सकता है। इसके अलावा पोस्ट ऑफिस को सर्च, कैलकुलेटर, इंश्योरेंस प्रीमियम आदि को भी सर्च कर सकता है। 

इसके अलावा सभी राज्य सरकारों ने भी सरकारी मोबाइल एप्लीकेशन लांच किए हैं, जिससे आम लोगों का काम आसानी से हो सके।

Advertisements

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error:
WhatsApp chat