सतपुड़ा जलाशय के दो गेट खोलकर रातभर छोड़ा गया प्रति सेकंड 2500 क्यूसेक पानी

Advertisements

सतपुड़ा जलाशय के दो गेट खोलकर रातभर छोड़ा गया प्रति सेकंड 2500 क्यूसेक पानी


सारनी, (ब्यूरो)। बीते 3 दिनों से पहाड़ी क्षेत्रों में लगातार बारिश हो रही है जिसके कारण पहाड़ी क्षेत्र की नदियां में लगातार पानी का लेवल बढ़ रहा है इस कारण सतपुड़ा जलाशय के जलस्तर लेवल भी लगातार बढ़ रहा है। जिसे मेंटेन करने हेतु सतपुड़ा जलाशय के गेट खोले जा रहे हैं। पहाड़ी क्षेत्रों में हो रही झमाझम बारिश पर सतपुड़ा जलाशय में बाढ़ का पानी लगातार आ रहा है। बीते 3 दिनों से पहाड़ी क्षेत्रों में लगातार हो रही झमाझम बरसात से पहाड़ी क्षेत्र तथा आस-पास की नदियां बहने लगी है। इसी के चलते जलाशय के जल स्तर का लेवल रोजाना बढ़ रहा है। जिसे मेंटेन करने गेट खोले जा रहे हैं। जलाशय प्रबंधन द्वारा प्राप्त जानकारी के अनुसार बीते 24 घंटों में सारनी और आसपास के पहाड़ी क्षेत्रों में 44 मिलीमीटर बरसात दर्ज की गई है, इससे पहले शुक्रवार, शनिवार को 66 मिलीमीटर वर्षा दर्ज हुई थी। लगातार हो रही वर्षा के कारण सतपुड़ा जलाशय के जलस्तर का लेवल मेंटेन करने के लिए गेट खोले जा रहे हैं अब तक सारनी क्षेत्र में 223 मिलीमीटर लगभग 9 इंच बरसात दर्ज हुई हैं। पूरे सीजन में 60 इंच यानी 1500 मिलीमीटर सामान्य बरसात हुई हैं। सतपुड़ा जलाशय के तीन गेट प्रति सैकेंड 2500 क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा हैं। गौरतलब हो कि लगातार सतपुड़ा प्रबंधन द्वारा लेवल को मेंटेन करने हेतु तवा नदी से पानी छोड़ा जा रहा है जिससे नांदिया घाट और शिवनपाठ के रास्ते पर सुबह से बाढ़ जैसे हालात हैं। सतपुड़ा जलाशय के तीन गेट जब बंद हुए तो उसके करीब 2 घंटे बाद तक रपटे पर बाढ़ का पानी बहते रहा और इस दौरान आवागमन बंद रहा।

Advertisements
No tags for this post.

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error:
WhatsApp chat