जिले में कोरोना के बढते मामलो को लेकर भाजपा नेता कलेक्टर से मिले, युरिया की कमी और रेत के बढते दामो पर भी हुई चर्चा

Advertisements

जिले में कोरोना के बढते मामलो को लेकर भाजपा नेता कलेक्टर से मिले, युरिया की कमी और रेत के बढते दामो पर भी हुई चर्चा


बैतूल। बैतूल जिले मे कोरोना के बढते मामले को लेकर बुधवार को सांसद दुर्गादास उइके के नेतृत्व में भाजपा के प्रतिनिधि मंडल ने कलेक्टर राकेश सिंह से मुलाकात कर अपनी चिंता जाहिर की। प्रतिनिधि मंडल में विधायक डा.योगेष पंडाग्रे, प्रदेश कोषाध्यक्ष हेमंत खंडेलवाल, जिलाध्यक्ष आदित्य बबला शुक्ला शामिल थे। प्रतिनिधि मंडल ने कलेक्टर से चर्चा के दौरान कहा कि जिले में कुछ दिन से कोरोना के मामलो में एकाएक वृद्वि चिंता का कारण है। संभावना जताई जा रही है कि जुलाई में और वृद्वि हो सकती है। भाजपा नेताओ ने कहा कि पहले प्रवासी नागरिक ही कोरोना संक्रमित मिल रहे थे परंतू अब दूसरे मामले भी सामने आ रहे है। भाजपा प्रतिनिधि मंडल ने कलेक्टर से कहा कि जरूरत जनता को जागरूक करने और केन्द्र व राज्य सरकार की गाईडलाईन व दिशा निर्देशो के पालन करवाने की है। उन्होने बाजारो में बढती संख्या और नियमो का पालन नही करने पर भी चिंता जाहिर की। भाजपा नेताओ ने कहा कि जिले में संक्रमण के बढते मामलो को देखते हुए प्रशासन को जरूरी कदम तुरंत उठाने चाहिए। इस संबध में प्रशासन को विभिन्न वर्गो एवं संगठनो से भी चर्चा कर निर्णय लेना चाहिए। कलेक्टर ने भाजपा प्रतिनिधि मंडल को आश्वस्त किया कि प्रशासन स्थिति की समीक्षा कर रहा है और जो भी जरूरी कदम उठाने होगें शीघ्र उठाए जाएगें।

युरिया की कमी, रेत के बढते दामो पर भी हुई चर्चा

भाजपा प्रतिनिधि मंडल ने इस दौरान जिले में युरिया की कमी और रेत के बढ रहे दामो पर भी कलेक्टर से चर्चा की। प्रतिनिधि मंडल को कलेक्टर ने बताया कि सांसद, विधायक द्वारा कृषि मंत्री को पत्र लिखने के बाद जिले को युरिया खाद की एक रैक मिली है। एवं एक सप्ताह में युरिया की पूरी आपूर्ति हो जाएगी। प्रतिनिधि मंडल ने कलेक्टर को बताया कि जिले में रेत के बढते दामो से लोगो में असंतोष है। रेत ठेकेदारो द्वारा ग्रामीण क्षेत्रो में दहशत फैलाई जा रही है। इस पर भी शीघ्र कार्यवाही का आश्वासन कलेक्टर द्वारा दिया गया।

Advertisements

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error:
WhatsApp chat