विधानसभा अध्यक्ष विधायकों के प्रश्नों के जवाब लिखित में दे – डॉ. मोदी

Advertisements

विधानसभा अध्यक्ष विधायकों के प्रश्नों के जवाब लिखित में दे – डॉ. मोदी


सारनी, (ब्यूरो)। विधायकों को लिखित में जवाब देने एवं प्रजातंत्र की रक्षा करते हुए जवाब देने की मांग स्वतंत्रता संग्राम सेनानी डॉ. कृष्णा मोदी ने की। स्वतंत्रता संग्राम सेनानी डॉ. मोदी ने प्रेस विज्ञप्ति जारी करते हुए कहा कि आज प्रदेश में कांग्रेस के विधायक यह आवाज उठा रहे कि मध्यप्रदेश विधानसभा अध्यक्ष ने उनके द्वारा पूछे गये प्रश्न को निरस्त कर दिया है इस पर काफी राजनीतिक सरगर्मी चल रही है। प्रजातंत्र में विधायकों के अलावा जनता भी आवेदन देकर अपनी समस्याएं हल करने हेतु मांग करती है कि उसका भी जवाब आज मध्यप्रदेश शासन नही दे रहा है।

जिसका मैं स्वयं भुक्त भोगी हुँ, चाहे सरकार कांग्रेस की हो बीजेपी की हो चाहे अन्य पार्टी की हो करीब 15 वर्षो से मैं स्वयं कई बार मुख्यमंत्री सामान्य प्रशासन के विभाग के मंत्री अपने क्षेत्र के विधायक एवं सांसद को आवेदन देकर समस्या का निराकरण करने हेतु आवेदन दिया जिसके संबंध में मुझे यह भी उत्तर नहीं मिला, की आवेदन उन्हें मिला या नहीं। आज जब विधानसभा अध्यक्ष ने विधायकों के द्वारा दिये गये समस्याओं के निराकरण के संबंध में जानकारी प्राप्त की उसे निरस्त किया गया अब जनता सोचे कि क्या हमारे प्रदेश में प्रजातंत्र जनतंत्र है क्या? सरकार खुद संविधान का उल्लंघन कर जनता के मौलिक अधिकारों का हनन कर रही हैं।

क्या भविष्य में यदि ऐसा ही चलेगा तो हम और आप खतरे में पहुंच जायेंगे इसलिए अभी समय है कि जनता मध्यप्रदेश विधानसभा अध्यक्ष से निवेदन करे कि विधायकों द्वारा पूछे गये सवालों का जवाब विधानसभा अध्यक्ष जवानी न देते हुए लिखित में दे क्यों कि ऐसा पिछले समय में विधान सभा अध्यक्ष ने किया है।


News In English

The Speaker of the Legislative Assembly should answer the questions of the MLAs in writing – Dr. Modi

Sarni. Freedom fighter fighter Dr. Krishna Modi demanded the MLAs to answer in writing and protect democracy. In a press release, freedom fighter fighter Dr. Modi said that today the Congress MLAs in the state are raising the voice that the Madhya Pradesh Vidhan Sabha Speaker has canceled the question asked by them, there is a lot of political agitation on this. Apart from the legislators in the democracy, the public also requests to solve their problems by applying that the Madhya Pradesh government is not giving the answer even today. Whom I myself have suffered, whether the government belongs to the Congress or the BJP or other party, for almost 15 years I have personally applied to the Chief Minister, the Minister of General Administration, to solve the problem by applying to the MLA and MP of his area. In respect of which I did not even get the answer, whether they got the application or not. Today, when the Speaker of the Legislative Assembly received information regarding the solution of the problems given by the MLAs, it was canceled. Now people should think that what is democracy in our state? The government itself is violating the fundamental rights of the people by violating the constitution. If this happens in future, then we and you will be in danger, so it is time that the public should request the Speaker of Madhya Pradesh Legislative Assembly that the questions asked by the legislators While giving the answer to the Speaker, do not give youth in writing, because in the past, the Speaker of the Legislative Assembly has done this.

Advertisements

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error:
WhatsApp chat