विशेष महिला विधिक साक्षरता शिविर आयोजित

Advertisements

विशेष महिला विधिक साक्षरता शिविर आयोजित

बैतूल। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा बुधवार को ग्राम दनोरा में विधिक जागरूकता से महिलाओं का सशक्तिकरण विषय पर विशेष महिला विधिक साक्षरता शिविर आयोजित किया गया। शिविर में प्राधिकरण के सचिव/अपर जिला न्यायाधीश श्री मनोज कुमार मण्डलोई, जिला विधिक सहायता अधिकारी श्री मिथिलेश डेहरिया, महिला एवं बाल विकास अधिकारी श्री बीएल विश्नोई, रिसोर्स पर्सन अधिवक्ता श्रीमती योगिता डोंगरे, अधिवक्ता सुश्री शीतल गोस्वामी, ग्राम पंचायत सरपंच, सचिव सहित परियोजना पर्यवेक्षिकाएं, आशा कार्यकर्ता, पैरालीगल वालेंटियर्स एवं ग्रामीण महिलाएं उपस्थित रहीं।

शिविर को संबोधित करते हुए प्राधिकरण के सचिव श्री मण्डलोई ने कहा कि विधिक जागरूकता से ही महिलाओं का सशक्तिकरण संभव है और सशक्त महिला से समाज में जागृति आती है। इसी उद्देश्य से राष्ट्रीय महिला आयोग के समन्वय से महिलाओं के लिए ग्राम दनोरा में यह शिविर आयोजित किया गया है। उन्होंने कहा कि प्राय: यह देखा गया है कि महिलाएं अपने अधिकारों के लिए कानून के ज्ञान के अभाव के चलते आवाज नहीं उठा पाती, इसी के चलते वह कई परेशानियों का सामना करती है। ऐसे में विधिक सेवा संस्था उन्हें न्याय दिलाने का कार्य करती है।

जिला विधिक अधिकारी श्री मिथिलेश डेहरिया द्वारा महिलाओं को दहेज प्रतिषेध अधिनियम, पॉक्सो एक्ट, विवाह की आयु, बाल विवाह आदि के बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि विधिक सहायता के महत्व को समझाते हुए बताया कि महिलाएं कानूनों के प्रति जागरूक होगी, तब ही अपने हितों एवं अधिकारों का उपयोग भली-भांति कर सकेगी।

महिला एवं बाल विकास अधिकारी श्री बीएल विश्नोई ने विभाग द्वारा संचालित की जा रही विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं तथा वन स्टॉप सेंटर की सेवाएं प्राप्त करने के संबंध में जानकारी दी। रिसोर्स पर्सन अधिवक्ता श्रीमती योगिता डोंगरे एवं सुश्री शीतल गोस्वामी द्वारा उपस्थित महिलाओं को संविधान के मौलिक अधिकार, मौलिक कत्र्तव्य, दहेज प्रताडऩा, घरेलू हिंसा, भ्रूण हत्या एवं लैंगिंक शोषण, पॉक्सो एक्ट, दहेज हत्या तथा भरण-पोषण कानूनों की महत्वपूर्ण जानकारी दी गई एवं मध्यप्रदेश अपराध पीडि़त प्रतिकर योजना पर चर्चा की गई। कार्यक्रम को पैरालीगल वालेंटियर श्रीमती चन्द्रप्रभा चौकीकर तथा सुश्री पूनम ने भी संबोधित किया।
शिविर में पोषण आहार माह अंतर्गत पोषण स्टॉल भी लगाए गए, जिसमें महिला एवं बाल विकास विभाग की पर्यवेक्षिका श्रीमती तिवारी द्वारा पोषण आहार बनाने का तरीका और पोषण आहार व्यंजनों का प्रदर्शन भी किया गया। शिविर में लगभग 60 महिला प्रतिभागियों की उपस्थिति रहीं, जिन्हें कोरोना महामारी के संबंध में बचाव के रोकथाम हेतु सेनेटाइज करने के उपरांत ही कार्यक्रम स्थल में प्रवेश कराया गया।

Advertisements

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error:
WhatsApp chat