पीईईए ने मप्र के तीनों विद्युत वितरण कंपनियों को सौंपा ज्ञापन

Advertisements

पीईईए ने मप्र के तीनों विद्युत वितरण कंपनियों को सौंपा ज्ञापन


बैतूल, (ब्यूरो)। निजीकरण हेतु जारी बिडिंग डॉक्यूमेंट्र का संगठन ने किया विरोध कर 26 सितंबर को मप्र के तीनों विद्युत वितरण कंपनियों पूर्व क्षेत्र, मध्य क्षेत्र एवं पश्चिम क्षेत्र में पावर इंजीनियर्स एवं इम्प्लाइज एसोशिएसन (पीईईए) द्वारा झापन सौंपा गया।

जानकारी देते हुए पीईईए एसोसिएशन के प्रदेश प्रसार सचिव सुनील सरियाम ने बताया कि संगठन द्वारा एक ज्ञापन मुख्यमंत्री के नाम संबोधित था जिसमें निजीकरण हेतु जारी विडिंग डाक्यूमेंट्स का पुरजोर विरोध किया गया। दूसरा ज्ञापन प्रबंध संचालक को संबोधित था, जिसमें अधिकारियो, कर्मचारियों के साथ भेदभाव समाप्त करने की मांग की गई।

जिसमें 3 कॉलम की मैट्रिक्स विलोपित कर कंपनी द्वारा नियुक्त कार्मिकों हेतु भी 3 कॉलम की मैट्रिक्स लागू करने, उच्च शिक्षा प्राप्त कार्मिकों की उच्च पद पर नियुक्ति प्रशिक्षण अवधि का वेतन वृद्धि दिये जाने, वरिष्ठतानुसार चालू प्रभार दिये जाने 2011 का वेतन वृद्धि दिये जाने, कर्मचारियों को वेतन विसंगति सातवें येतनमान की मैट्रिक्स कॉलग -4 में मूल वेतन की शुरूआत 23200 की जगह 25300 से अधिक कर मैट्रिक्स कॉलम-4 को तदानुसार संशोधित करणे, बिजली छूट प्रदान किये जाने समेत कई माँगे शामिल की गई।

ज्ञापन पश्चात् समस्त अधिकारी एवं कर्मचारी काली पट्टी बाँधकर कार्य करना शुरू करेंगे, जब तक निजीकरण का विडिंग डाक्यूमेंट्स निरस्त नहीं हो जाता तथा अन्य मांगे पूरी नहीं हो जाती।

संगठन के अध्यक्ष कुलदीप सिंह गुर्जर तथा महासचिव अजय कुमार मिश्रा ने बताया कि निजीकरण हेतु जारी विडिंग डाक्यूमेंट्स यदि जल्द से जल्द निरस्त नहीं किये जाते तथा अन्य मांगे पूरी नहीं की जाती हैं तो संगठन उग्र आंदोलन हेतु बाध्य होगा।

इस अवसर पर पावर इंजीनियर एंड इंप्लाइज एसोसिएशन के प्रदेश प्रचार सचिव सुनील सरियाम, भूपेंद्र बघेल, संजय यादव, अंकित पटेल, राहुल ठाकरे, शिवराज धुर्वे, घनश्याम धुर्वे, कमलेश खोबरागड़े, नीरज पवार, अनिल गाडगे, सिराज भलावी, संपत परपाची, भवानी शंकर धावले आदि संगठन के पदाधिकारी, सदस्यगण उपस्थित थे।

Advertisements

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error:
WhatsApp chat