जिला स्वास्थ्य अधिकारी के आदेश की अवहेलना, डॉ संदीप धुर्वे ने नहीं किया ज्वाइन

Advertisements

जिला स्वास्थ्य अधिकारी के आदेश की अवहेलना, डॉ संदीप धुर्वे ने नहीं किया ज्वाइन


खेड़ली बाजार, (सचिन बिहारिया)। बोरदेही अस्पताल की अव्यवस्थाओं से आमजन को काफी परेशानियों से दो-चार होना पड़ता है जिसको लेकर विधायक डॉ योगेश पंडाग्रे सहित सभी अधिकारियों से लगातार इस ओर ध्यान देने की मांग की जा रही है। प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र बोरदेही में व्याप्त अव्यवस्थाओं से आमजन को मूलभूत स्वास्थ्य सेवाओं से वंचित होना पड़ रहा है।

इस समस्या को दृष्टिगत रखते हुए मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी जिला बैतूल कार्यालय से 17 सितंबर 2020 को जारी आदेश के अनुसार चिकित्सकीय कार्य व्यवस्था के सुचारू रूप से संचालन कि दृष्टि से विकास खंड प्रभात पट्टन के अंतर्गत कार्यरत डॉक्टर संदीप धुर्वे बंधपत्र चिकित्सा अधिकारी, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र प्रभातपट्टन की ड्युटी आगामी आदेश तक प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र बोरदेही में लगाई गई है। लेकिन अब तक डाक्टर धुर्वे द्वारा प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र बोरदेही में आमद नहीं दी गई है।

प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र बोरदेही स्वास्थ्य की मूलभूत सेवाओं के मामले में काफी पिछड़ गया है यहां पर स्थाई एमबीबीएस डॉक्टर के साथ मरीजों की सुविधा हेतु एंबुलेंस तक नहीं है।बोरदेही अस्पताल में पोस्टमार्टम और एमएलसी की सुविधा भी उपलब्ध नहीं है।इस असुविधा और लापरवाही को दुरुस्त करने तथा आम जनता को मूलभूत स्वास्थ्य सेवाओं को उपलब्ध कराने मीडिया द्वारा लगातार खबरें प्रकाशित की रही थी।

जिस पर कार्रवाई करते हुए 17 सितंबर 2020 को मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी बैतूल द्वारा डॉ संदीप धुर्वे को प्रभातपट्टन से बोरदेही तैनात किया गया लेकिन अब तक डॉक्टर द्वारा बोरदेही के सरकारी अस्पताल में ज्वाइनिंग नहीं दी गई है।इस तरह डॉक्टर द्वारा ज्वाइनिंग ना देना जिला स्वास्थ्य अधिकारी के आदेशों की खुलेआम अवहेलना की श्रेणी में आता है।

आखिर 17 सितंबर 2020 से डाक्टर धुर्वे द्वारा प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र बोरदेही में आमद नहीं देने के पीछे क्या कारण है। सीएमएचओ का आदेश भी इनके लिए बेअसर दिखाई दे रहा है।

Advertisements

1 thought on “जिला स्वास्थ्य अधिकारी के आदेश की अवहेलना, डॉ संदीप धुर्वे ने नहीं किया ज्वाइन

  1. Jila swasthya Adhikari ke adesh nahi h
    Mukhya chikitsa avan swasthya Adhikari k h
    Correction kar lo patrakar mahoday

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error:
WhatsApp chat