24 घण्टे के अन्दर अंधे कत्ल का खुलासा, दोस्त ने ही युवक ली जान

Advertisements

24 घण्टे के अन्दर अंधे कत्ल का खुलासा, दोस्त ने ही युवक ली जान


घोड़ाडोंगरी, (ब्यूरो)। 10 जनवरी की सुबह 10 बजे तहसील कार्यालय घोडाडोंगरी के पीछे ग्राउण्ड मे एक व्यक्ति का शव मिला था। जिसकी सूचना पर तत्काल मौके पर पहुंचकर पुलिस ने देखा तो किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा मृतक के सिर पर गंभीर चोट पहुंचाकर मृतक की हत्या की गई है।

जब वहाँ रहने वाले आसपास के लोगों को इकट्ठा गिया गया तो मृतक की पहचान अंकित पिता रामभोस महोबिया उम्र 28 वर्ष निवासी घोड़ाडोंगरी के रूप मे हुई। जिसके बाद मृतक के पिता रामभरोस की रिपोर्ट पर धारा 302 IPC का अपराध पंजीबद्ध किया गया।

मौके पर एसडीओपी सारणी अभयराम चौधरी, थाना प्रभारी महेन्द्र सिंह चौहान, चौकी प्रभारी घोडाडोंगरी उप निरीक्षक रवि शाक्य एवं स्टाफ के द्वारा विवेचना प्रारंभ की गई। सभी पहलुओं पर बारिकी से जाँच की गई।

पुलिस अधीक्षक सिमाला प्रसाद के निर्देशन मे अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्रध्दा जोशी के मार्गदर्शन एवं एसडीओपी सारणी अभयराम चौधरी के नेतृत्व में टीम बना कर विवेचना की गई।

विवेचना के दौरान पता चला कि मृतक अंकित का राहुल चौहान के साथ उठना बैठना हैं एवं कुछ दिनों से दोनों के मध्य विवाद चल रहा हैं और संदेही राहुल चौहान फरार हैं। तत्काल संदेही की लोकेशन निकाल कर पता किया तो वह बरखेड़ा से भोपाल की ओर जाना पाया गया।

उक्त संदेही पतारसी के संबंध मे थाना ओबेदुल्ला गंज एवं थाना मण्डीदीप को सूचित किया गया एवं एक टीम संदेही की पतारसी हेतु रवाना की गई। उक्त टीम के द्वारा संदेही राहुल को अवधपुरी के पास से राउण्ड अप किया जाकर घोडाडोंगरी लाया गया।

जिसके बाद एसपी सिमाला प्रसाद मौके आयी तथा उपस्थित संदेही राहुल चौहान से पूछताछ की गई। पूछताछ में पता चला कि अंकित एवं राहुल दोनों की प्रेमिका रायपुर मे रहती हैं, जिनको लेकर अंकित एवं राहुल में 02 जनवरी 21 को विवाद हुआ था इसी बात को लेकर राहुल मृतक से नाराज़ था।

9 जनवरी 21 की रात को करीब 10.30-11.00 बजे के बीच अंकित ग्राउण्ड में बैठकर मोबाइल पर बात कर रहा था तभी आरोपी राहुल चौहान पीछे से आया और मृतक अंकित के सिर पर लोहे के पाइप से तीन-चार बार मार दिया। जिससे अंकित की मौके पर ही मौत हो गई और आरोपी राहुल अंधेरे मे छुपता छुपाता हुआ भाग गया।

उपरोक्त समस्त कार्यवाही मे थाना प्रभारी सारणी महेन्द्र सिहं चौहान, चौकी प्रभारी घोडाडोंगरी उनि रवि शाक्य, तथा टीम सउनि बी.डी. मिश्रा, सउनि फतेबहादुर सिंह, प्र.आर. 319 मोहन सिंह, प्र.आर. 86 शेलेन्द्र, आरक्षक 475 सतीश वाड़िवा, आरक्षक 160 कैलाश हर्णे, आरक्षक 297 मुकेश ब्यालसे, आरक्षक 367 संजेश धुर्वे, आरक्षक 121 विकास मसीह, आरक्षक राजेन्द्र धाड़से साइबर सेल का विशेष सराहनीय योगदान रहा।

Advertisements
No tags for this post.

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error:
WhatsApp chat