बिना परमिशन संचालित हो रही रेत के अवैध खदान

Advertisements

बिना परमिशन संचालित हो रही रेत के अवैध खदान


(सचिन शुक्ला), बैतूल/शाहपुर। रेत की कालाबाजारी को अंजाम देने वाले रेत माफिया द्वारा जिले के अनेकों स्थानों से अवैध रेत निकाल कर सरकार को प्रतिदिन लाखों रुपयों का चूना लगाया जा रहा है। जीवनदायनी कही जानी वाली नदियों का सीना इन दिनों रेत माफिया छलनी करने में लगे हैं। नदी से रोजाना रेत का अवैध तरीके से खनन का खेल लगातार जारी है।

अवैध रूप से चल रहे रेत उत्खनन कार्य से जहां शासन को लाखों रुपए के का नुकसान हो रहा है इसके साथ ही नदियों के अस्तित्व पर संकट भी गहराता जा रहा है।

कार्रवाई नहीं होने के चलते रेत माफियाओं के हौसले बुलंद है। ग्रामवासियो रेत खदानो से अवैध खनन कर उसके विक्रय किये जाने पर पर त्वरित रोक लगाये जाने की मांग की है। ठेका कंपनी के द्वारा जिले में नदी नालो से रेता का अवैध खनन कर उसका विक्रय किया जा रहा है, जिससे शासन को राजस्व की भारी क्षति पहुंच रही है।

दिन रात टेक्ट्रर ट्रालियों रेत नदी से रेत का परिवहन कर जगह-जगह भंडारण किया जा रहा है। फिर उसे डम्फरो में भरकर बाहर भेजी जा रही है ।

वहीं, दूसरी ओर खदान से सटे ग्रामीण इलाकों में अवैध उत्खनन देखने को नहीं मिल रहा है। वही सडक़ों पर रेत से भरे डम्पर दौड़ते नजर आ रहे हैं। खुलेआम नदी से रेत परिवहन कर रहे ट्रैक्टरों को कोई रोककर पूछने वाला नहीं है और ना ही भंडारण की कोई जांच करने वाला।

इस क्षेत्र में ग्राम सातलदेहि, केलिपूँजी, शिवसागर, धरमपुर में अवैध रेत का उत्खनन एवं परिवहन जोरो पर है रात भर रेत के अवैध डम्फर भरकर निकाले जा रहे हैं लेकिन रेत माफिया के हौसले बुलंद होने से किसी प्रकार की कार्रवाई नहीं होती।

खनिज निरीक्षक प्रीति चौहान को पूरी अवैध उत्खनन का वृतयांत बताया गया उन्होंने सुनने के बाद हैलो हैलो करके फोन काट दिया एवं दूसरी बार फोन लगाने पर फोन को रिसीव नही किया।

Advertisements
No tags for this post.

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error:
WhatsApp chat