3 Mar 2021

ग्राम पंचायतों के मॉडल बनने से मॉडल बनेगी जुन्नारदेव विधानसभा

Advertisements

ग्राम पंचायतों के मॉडल बनने से मॉडल बनेगी जुन्नारदेव विधानसभा

विधायक सुनील उईके ने ग्राम पंचायतों को मॉडल बनाने के लिए शुरू किया अभियान


छिंदवाड़ा, (दुर्गेश डेहरिया)। विधायक जुन्नारदेव सुनील उईके ने अपने निर्वाचन के बाद से ही जुन्नारदेव विधानसभा को मॉडल विधानसभा के रूप में बनाने की दिशा में प्रयास प्रारंभ किए थे, इस दिशा में उन्होंने विभिन्न क्षेत्रों में विकास कार्य किए, चाहे वह सड़कों के निर्माण के क्षेत्र में अथवा पर्यटन स्थलों के विकास के क्षेत्र में या क्षेत्रीय मेलों के भव्य आयोजन के संबंध में।

इसी दिशा में प्रयास करते हुए अब उन्होंने तय किया है कि जुन्नारदेव विधानसभा को मॉडल विधानसभा बनाने के लिए जरूरी है कि ग्राम पंचायतों को पूर्ण रूप से विकसित किया जाए और इस दिशा में प्रयास करते हुए उन्होंने महादेव मेले की यात्रा के पहले पड़ाव, पहली पायरी स्थित जुन्नारदेव विशाला और उससे लगी हुई चिखलमऊ ग्राम पंचायत में बैठक ली और जुन्नारदेव विशाला के पूर्ण विकास के लिए पंचायत प्रतिनिधियों के साथ-साथ क्षेत्रीय आम जनता के साथ भी चर्चा की।

विधायक सुनील उईके का मानना जब तक क्षेत्रीय जनता की विकास कार्यो में सहभागिता नहीं होगी और उनकी इच्छा के अनुरूप विकास नहीं होगा तब तक विकास कार्य का कोई महत्व नहीं है। क्षेत्रीय जनता के साथ बैठक कर ही ग्राम पंचायतों के विकास का मॉडल बनाया जाएगा और उसके अनुरूप ग्राम पंचायत के विकास का रोड मैप तैयार किया जाएगा।

विधायक सुनील उईके ने बताया की क्षेत्र के विकास के लिए लगातार पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ और जिले के सांसद नकुलनाथ लगातार मार्गदर्शन देते रहते हैं, और उन्हीं के निर्देशन में ग्राम पंचायतों को मॉडल बनाने का काम प्रारंभ किया जा रहा है।

विगत वर्ष विधानसभा में 400 करोड़ रुपयों के विकास कार्य स्वीकृत हुए थे, लेकिन कोरोना महामारी के कारण बहुत से कार्य प्रारंभ नहीं हो पाए, जो प्रारंभ हो गए वे पूर्ण नहीं हो पाए, अब ग्राम पंचायतों के दौरे कर इन कार्यों को भी चालू कराया जाएगा। सड़क, शिक्षा, पानी, रंगमंच, धार्मिक स्थलों का विकास पहली प्राथमिकता में होगा।

अगले 5 सालों का रोड मैप होगा तैयार

विधायक ने जुन्नारदेव विशाला और चिखलमऊ में बैठक कर सबसे पहले ग्राम पंचायत में क्या क्या अधोसंरचनाऐं और संसाधन उपलब्ध है इसके बारे में जानकारी एकत्रित की।

बैठक में एक महत्वपूर्ण बात सामने आई कि ग्राम पंचायत से भी ज्यादा जानकारी लेकर विधायक स्वयं अपने साथ लाए थे। इससे अंदाजा होता है कि विधायक अपने क्षेत्र के विकास के लिए कितने जागरूक हैं।

उन्होंने उपलब्ध संसाधनों की स्थिति के बारे में जानकारी प्राप्त की उनके सुदृणीकरण के बारे में जानकारी ली और आगे ग्राम पंचायत में किन-किन चीजों की आवश्यकता है इसके बारे में क्षेत्रीयजनों के साथ चर्चा कर एक मॉडल प्रारूप तैयार किया गया।

आने वाले दिनों में इस मॉडल प्रारूप के अनुसार ही ग्राम पंचायत में विकास कार्य स्वीकृत किए जाएंगे और इनको पूरा किया जाएगा। विधायक जुन्नारदेव ने कहा है कि आने वाले 5 वर्षों का प्रत्येक ग्राम पंचायत को मॉडल बनाने का रोडमेप बनाया जाएगा और उसे अमल में लाया जाएगा।

Advertisements
No tags for this post.

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error:
WhatsApp chat