5 Mar 2021

ग्राम पावल के अंधे कत्ल के आरोपी को 24 घण्टे में किया गिरफ्तार

Advertisements

ग्राम पावल के अंधे कत्ल के आरोपी को 24 घण्टे में किया गिरफ्तार


बैतूल। पुलिस अधीक्षक बैतूल सिमाला प्रसाद, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक बैतूल श्रध्दा जोशी एवं एसडीओपी मुलताई नम्रता सोधिया के मार्गदर्शन में थाना प्रभारी मुलताई सुरेश सोलंकी के निर्देशन में अंधे के प्रकरण के आरोपी को अपराध कायमी के 24 घण्टे के भीतर गिरफ्तार किया गया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार 2 मार्च को मृतक चंद्रु पिता सुक्लु सलामे उम्र 50 साल नि. पावल का शव मृत अवस्था मे सोमजी ढोडा के जंगल के खाई मे मृत अवस्था में पड़ा मिला था। जिसके सिर पर, छाती पर एवं पैर पर चोट लगकर खून निकला था। जिसकी सूचना प्राप्त होने पर थाना मुलताई मे मर्ग कायम कर जांच की गई।

मर्ग में मृतक चंद्रु पिता सुक्लु सलामे उम्र 50 साल नि. पावल के शरीर मे लगे चोटो को देखकर पृथम दृष्टया हत्या की शंका हो रही थी जिसकी बारीकी से जांच की गई। जांच के दौरान साक्षीगणो के कथन लिये गये। मर्ग जांच के दौरान प्रकरण में हत्या का अपराध घटित होना पाया जाने से 3 मार्च को अज्ञात आरोपी के विरुध्द धारा 302, 201 भादवि. का प्रकरण पंजीबध्द किया गया।

विवेचना के दौरान आये तथ्यों के आधार पर पाया गया कि संदेही वासुदेव पिता दामू मरकाम उम्र 46 साल नि, पावल जो कि मृतक का पड़ोसी है। जिनका पुराना विवाद भी था एवं आरोपी की पत्नि सुशीला का पिछले साल अचानक देहान्त हो जाने से आरोपी को मृतक पर संदेह था कि उसने ही उसकी पत्नि को जादू टोना करके मारा है।

इसी बात को लेकर दिनांक 28 फरवरी को भी रात्री 10 बजे मृतक चंदू एवं आरोपी वासुदेव का झगड़ा हुआ और आरोपी वासुदेव ने गुस्से में कुल्हाड़ी से मृतक के सिर पर व छाती पर वार कर मृतक की हत्या कर साक्ष्य को छुपाने की नियत से मृतक को उसी की सायकल मे रखकर सोमजी ढोडा मे जंगल में ले जाकर फेंक दिया।

प्रकरण कायमी के 24 घण्टे के भीतर ही आरोपी वासुदेव पिता दामू मरकाम उम्र 46 साल नि. पावल थाना मुलताई को गिरफ्तार किया गया है। उक्त हत्या के प्रकरण के आरोपी को गिरफ्तार करने मे थाना प्रभारी निरी. सुरेश सोलंकी, उनि, अनिल राहोरिया, प्रआर अशोक आठोले, प्रआर चालक रवीन्द्र नागले, आर. सुरेन्द्र, नितेश, तिलक, 368 बलवन्त की विशेष भूमिका रही।

Advertisements
No tags for this post.

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error:
WhatsApp chat