7 Apr 2021

SBI ने ग्राहकों को किया अलर्ट! बताया अब कैसे एफडी के नाम पर हो रही है खाते से पैसों की चोरी

Advertisements

SBI ने ग्राहकों को किया अलर्ट! बताया अब कैसे एफडी के नाम पर हो रही है खाते से पैसों की चोरी


स्‍टेट बैं‍क ऑफ इंडिया (एसबीआई) ने अपने ग्राहकों को बैंक डिटेल्‍स ने शेयर करने के लिए आगाह किया है. एसबीआई ने अपने ग्राहकों को चेतावनी दी है और कहा है कि ऐसे किसी भी जालसाज से बचें जो खुद को एसबीआई के तौर पर प्रस्‍तुत कर रहा है. एसबीआई की तरफ से अक्‍सर ही ग्राहकों को अलर्ट किया जाता है ताकि वो किसी भी तरह की धोखाधड़ी का शिकार न होने पाएं.

एफडी के नाम पर धोखाधड़ी

एसबीआई की तरफ से कहा गया है कि उन्‍हें कुछ ऐसी रिपोर्ट्स मिली हैं जिसमें साइबर क्रिमिनल्‍स की ने ग्राहकों के अकाउंट में ऑनलाइन फिक्‍स्‍ड डिपॉजिट्स क्रिएट कर दिया है.

इन साइबर क्रिमिनल्‍स का मकसद सोशल इंजीनियरिंग फ्रॉड्स को अंजाम देना है. एसबीआई ने कहा है कि वो ऐसे में अपने ग्राहकों को सलाह देता है कि वो सिर्फ अपने अकाउंट को ही एक्‍सेस करें.

साथ ही पासवर्ड, ओटीपी, सीवीवी कार्ड नंबर और इस तरह की कोई भी जानकारी किसी के भी साथ शेयर न करें. बैंक की तरफ से कहा गया है कि वो कभी भी अपने ग्राहकों से फोन, ई-मेल या फिर एसएमएस पर इस तरह की कोई जानकारी नहीं मांगी जाती है. बैंक ने इस तरह की जानकारी को सेंसटिव इनफॉर्मेशन के तहत रखा है.

ग्राहकों को लगाया चूना

पिछले दिनों खबरें आई थीं कि जालसाजों ने फिशिंग के जरिए एसबीआई ग्राहकों को लाखों को चूना लगाया है. इसके बाद देश के इस सबसे बड़े बैंक ने अपने ग्राहकों को इस तरह की धोखाधड़ी से बचने के उपाय बताये थे.

एसबीआई ने ट्वीट कर लिखा था कि साइबर क्रिमिनल्स फर्जी मैसेज/ई-मेल में फिशिंग लिंक के जरिए बैंक ग्राहकों को टार्गेट कर रहे हैं.

ये जालसाज ग्राहकों को इनकम टैक्स रिफंड देने का झांसा दे रहे हैं. इस प्रकार वो ग्राहकों से सेंसिटिव जानकारी जुटाकर धोखाधड़ी को अंजाम दे रहे हैं.

नहीं मांगते सेंसिटिव जानकारी

एसबीआई ने अपने ग्राहकों से अपील की है कि वे कार्ड/पिन/OTP/CVV/पासवर्ड जैसे सेंसिटिव जानकारी किसी भी के साथ साझा न करें. ईमेल या एसएमएस के जरिए प्राप्त हुए किसी अनचाहे अटैचमेंट पर क्लिक न करें.

एबसीआई ने इस ट्वीट में ग्राहकों को एक बार फिर स्पष्ट किया कि वो फोन, एसएमएस या ईमेल के जरिए ग्राहकों से कोई भी सेंसिटिव जानकारी नहीं जुटाता है.

आप भी इन बातों को ध्यान में रखें

किसी भी दूसरे व्यक्ति को अपन व्यक्तिगत जानकारी नहीं साझा करें. खासतौर से किसी अनजाने व्यक्ति से बिल्कुल ही न शेयर करें.

समय-समय पर अपने बैं​क अकाउंट के पासवर्ड बदलते रहें.

कभी भी अनजाने व्यक्ति को फोन, ईमेल या एसएमएस के जरिए इंटरनेट बैंकिंग डिटेल्स ने शेयर करें.

किसी भी संदिग्ध लिंक पर क्लिक न करें.

बैंक संबंधी जानकारी जुटाने के लिए हमेशा बैंक के आधिकारिक वेबसाइट के जरिए ही जानकारी जुटाएं.

अपने साथ धोखाधड़ी के बारे में किसी भी जानकारी को जुटाने के​ लिए जल्द से जल्द नजदीकी एसबीआई ब्रांच और पुलिस अधिकारियों को सूचित करें.

Advertisements
No tags for this post.

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error:
WhatsApp chat