7 Apr 2021

विद्युत अधिकारियों एवं कर्मचारियों को कोरोना वैक्सीन लगाने की उठाई मांग

Advertisements

विद्युत अधिकारियों एवं कर्मचारियों को कोरोना वैक्सीन लगाने की उठाई मांग


सारनी, (ब्यूरो)। मप्र की समस्त विद्युत कंपनियों के सभी विद्युत अधिकारियों एवं कर्मचारियों को प्राथमिकता के आधार पर कोरोना वायरस की वैक्सीन लगवाने को लेकर पीईईए एसोसिएशन के द्वारा ऊर्जा मंत्री को पत्र लिखा गया।

जानकारी देते हुए पीईईए एसोसिएशन के प्रदेश प्रसार सचिव सुनील सरियाम ने बताया कि मप्र की विद्युत कंपनियों के अधिकारी एवं कर्मचारी विगत एक वर्ष से अधिक समय से चल रहे वैश्विक कोरोना महामारी की विषम तथा विपरीत परिस्थितियों में कोरोना योद्धा के रूप में निरंतर कार्य कर रहे है।

इस वैश्विक महामारी के समय में भी मप्र की विद्युत कंपनियों के विधुत कार्मिक सतत् यियुत आपूर्ति सुनिश्चित करने में दिन-रात लगे हुये है जिससे कि विद्युत की वजह से अन्य किसी भी प्रकार की सेवायें प्रभावित न हो। जिसको लेकर एसोसिएशन के महासचिव अजय कुमार मिश्रा के द्वारा ऊर्जा मंत्री को पत्र लिखकर मांग करी गई कि जिस प्रकार अन्य विभागों के समस्त कोरोना योद्धाओं को कोरोना वायरस की वैक्सीन दी जा रही है।

उसी प्रकार मप्र की समस्त विद्युत कंपनियों को सभी अधिकारियों एवं कर्मचारियों को भी प्राथमिकता के आधार पर कोरोना वायरस की वैक्सीन लगाया जाना अत्यंत आवश्यक है। कोरोना संक्रमण की वर्तमान स्थिति को देखते हुये तथा प्रदेश की विद्युत व्यवस्था को सुचारू रूप से संचालित करने हेतु समस्त विद्युत कंपनियों के सभी अधिकारियों एवं कर्मचारियों को प्राथमिकता के आधार पर कोरोना वायरस की वैक्सीन लगाया जाना अत्यंत आवश्यक है।

प्रदेश प्रसार सचिव श्री सरियाम ने बताया कि उक्त लिखे गये पत्र में उर्जामंत्री से कहा गया कि मप्र की समस्त विद्युत कंपनियों के सभी विद्युत्त अधिकारियों एवं कर्मचारियों को प्राथमिकता के आधार पर कोरोना वायरस की वैक्सीन लगाये जाने हेतु ऊर्जा विभाग से उचित दिशा-निर्देश जारी की जाए। जिससे म.प्र. की विद्युत कंपनियों के अधिकारी, कर्मचारी सतत् विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित करने की सेवाओं में आगे भी कोरोना योद्धा के रूप में कार्य करते रहें तथा कोरोना वायरस की वजह से विद्युत आपूर्ति की सुनिश्चितता में किसी भी प्रकार का व्यवधान उत्पन्न न हो।

Advertisements
No tags for this post.

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error:
WhatsApp chat