8 Apr 2021

जिले में 9 अप्रैल की शाम से 19 अप्रैल की सुबह तक रहेगा सम्पूर्ण लॉकडाउन, जानिए किन चीज़ों को मिलेगी छूट

Advertisements

जिले में 9 अप्रैल की शाम से 19 अप्रैल की सुबह तक रहेगा सम्पूर्ण लॉकडाउन, जानिए किन चीज़ों को मिलेगी छूट


बैतूल। जिले में कोविड-19 के प्रकरणों में विगत दिनों में हो रही बढोत्तरी के इष्टिगत कोविड-19 महामारी की रोकथाम एवं बचाव हेतु अमनबीर सिंह बैंस कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी, बैतूल दं0प्र0सं0 की धारा 144 में प्रदत्त शक्तियों को प्रयोग में लाते हुए संपूर्ण बैतूल जिले की राजस्व सीमाओं में निम्नानुसार अतिरिक्त प्रतिबंधात्मक आदेश जारी किये।

जिसमें जिले में दिनांक 09.04.2021 को सांय 08:00 बजे से दिनांक 19.04.2021 को प्रात: 06:00 बजे तक जिले के समस्त नगरीय एवं ग्रामीण क्षेत्रों में लॉकडाउन रहेगा।

जिले के समस्त नगरीय क्षेत्रों में दिनांक 30 अप्रेल 2021 तक प्रतिदिन रात्रि 10:00 बजे से प्रात: 06:00 तक रात्रिकालीन लॉकडाउन रहेगा।

जिले के समस्त नगरीय क्षेत्रों में दिनांक 30 अप्रैल 2021 तक शुक्रवार सांय 06:00 बजे से सोमवार प्रातः 06:00 बजे तक लाकडाउन रहेगा।

जिले के समस्त शासकीय कार्यालयों के कार्यदिवस सप्ताह में 05 दिवस (सोमवार से शुक्रवार) निर्धारित किये जाते हैं। शनिवार एवं रविवार को समस्त शासकीय कार्यालय बंद रहेंगे। पांच कार्य दिवसों में कार्यालयीन समय प्रात:10:00 बजे से सांय 06:00 बजे तक नियत होगा। उक्त आदेश दिनांक 31.07.2021 तक प्रभावशील रहेंगे।

लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग द्वारा जारी गाइडलाइन्स अनुसार हॉटस्पाट/कन्टेनमेंट जोन में आवाजाही पर वे समस्त प्रतिबंध लागू होंगे जो लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग की गाइडलाइन्स में उल्लेखित हैं।

जिले के धार्मिक स्थलों पर आमजन का आना-जाना प्रतिबंधित रहेगा। मंदिर, मस्जिद, चर्च, गुरुद्वारा आदि की समिति के पुजारी, मौलवी, पादरी, ज्ञानी जी (5 की संख्या से कम) द्वारा पूजा पाठ की जा सकेगी।

जिले में समस्त सामाजिक, राजनैतिक धार्मिक एवं सांस्कृतिक आयोजन प्रतिबंधित रहेंगे। इस अवधि में आने वाले समस्त त्यौहार प्रतीकात्मक रूप से मनाए जाएंगे। विशेष परिस्थिति में संबंधित अनुविभागीय मजिस्ट्रेट सह इन्सीडेन्ट कमांडर से अनुमति प्राप्त की जा सकेगी ।

अत्यावश्यक परिवहन को छोड़कर सभी प्रकार का आम आवागमन/परिवहन प्रतिबंधित रहेगा।

लॉकडाउन अवधि में जिन गतिविधियों को लॉकडाउन के बंधनों से मुक्त रखा जावेगा वे निम्नानुसार है जिसमें

अन्य राज्यों से माल, सेवाओं का आवागमन।

केमिस्ट, अस्पताल, पेट्रोल पंप, बैंक एवं एटीएम।

एम्बुलेंस एवं फायर ब्रिगेड सेवाएं।

टीकाकरण हेतु आवागमन कर रहे नागरिक एवं कर्मी।

रेल्वे स्टेशन से आने एवं जाने वाले नागरिक।

खाद्य एवं अत्यावश्यक सामग्री की दुकानें से होम डिलेवरी के माध्यम से सामग्री घर तक पहुंचाई जाबसकेगी। दुकानों से आमजन को सामग्री का विक्रय प्रतिबंधित रहेगा।

दूध विक्रेता एवं न्यूज पेपर हाकर्स प्रात: 06:00 बजे से प्रात: 9:00 बजे तक प्रतिबंध से मुक्त रहेंगे।

साप्ताहिक बाजार हॉट प्रतिबंधित रहेगा। थोक सब्जी मंडी खुली रहेगी, थोक सब्जी मंडी से केवल फुटकर विक्रेता द्वारा फल एवं सब्जियां खरीदकर फल एवं सब्जियों की विभिन्न रहवासी क्षेत्रों में होम डिलेवरी की जा सकेगी।

औद्योगिक मजदूरों, उद्योगों हेतु कच्चा तैयार माल, उद्योगों के अधिकारियों एवं कर्मचारियों को आवागमन की छूट, परिचय पत्र दिखाने पर दी जावेगी।

केन्द्र सरकार, राज्य सरकार एवं स्थानीय निकाय के अधिकारी/कर्मचारी को आवागमन की छूट परिचय पत्र दिखाने पर दी जायेगी।

शासकीय उपार्जन कार्य में छूट रहेगी।

परीक्षा केन्द्र आने एवं जाने वाले परीक्षार्थी तथा परीक्षा केन्द्र एवं परीक्षा आयोजन से जुड़े कर्मी, अधिकारीगण को आवागमन की छूट परिचय पत्र दिखाने पर दी जावेगी।

समस्त गैस एजेंसिया अपने निर्धारित समय पर खुली रहेगी, गोडाउन से गैस का वितरण नहीं किया जावेगा, गैस की होम डिलेवरी किए जाने की छूट रहेगी। प्लांट से गोडाउन तक पंहुचने हेतु उपयोग में आने वाले वाहनों को आने-जाने की छूट रहेगी।

इलेक्ट्रानिक मीडिया, प्रिंट मीडिया, टेलीकॉम, पोस्टल सेवाएं, परिचय पत्र दिखाने पर प्रतिबंध से मुक्त रहेंगी।

कोविङ-19 महामारी की रोकथाम एवं बचाव हेतु केन्द्र शासनाराज्य शासन तथा जिल्ला प्रशासन द्वारा समय-समय पर जारी निर्देश आदेशो का कड़ाई से पालन किया जाना बंधनकारी होगा तथा उक्त आदेश के अतिरिक्त इस कार्यालय द्वारा पूर्व में जारी आदेश में उल्लेखित प्रतिबंध यथावत रहेंगे।

वही आदेश पारित करते हुए जिला कलेक्टर ने कहा कि यह आदेश आम जनता को सम्बोधित है। चूंकि, वर्तमान में मेरे समक्ष ऐसी परिस्थितियों नहीं हैं, और ना ही यह सम्भव है कि इस आदेश की पूर्व सूचना प्रत्येक व्यक्ति या समूह को दी जाकर सुनवाई की जा सके। अतः दण्ड प्रक्रिया संहिता,1973 की धारा-144(2) के अंतर्गत यह आदेश एकपक्षीय पारित किया जाता है। आदेश से व्यथित कोई भी व्यक्ति दण्ड प्रक्रिया संहिता, 1973 की धारा-144(5) के अंतर्गत अधोहस्ताक्षरकर्ता के न्यायालय में आवेदन प्रस्तुत कर सकेगा। अत्यंत विशेष परिस्थितियों में अघोहस्ताक्षरकर्ता संतुष्ट होने पर आवेदक को विधि एवं नियमों के अधीन किसी भी लागू शर्ती से छूट दे सकेगा। इस आदेश का उल्लंघन करने वाले व्यक्ति के विरुद्ध आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 की धारा 51 से 60 के साथ ही भारतीय दण्ड संहिता की धारा-188 तथा एपिडेमिक एक्ट,1897 के तहत म0प्र0 शासन द्वारा जारी किये गए विनियम दिनांक 23/03/2020 की कंडिका-10 के अंतर्गत उल्लेखित विधि प्रावधानों अंतर्गत कार्यवाही की जायेगी।

यह आदेश तत्काल प्रभावशील होकर आगामी आदेश पर्यन्त तक प्रभावी रहेगा।

यह आदेश दिनांक 08/04/2021 को मेरे हस्ताक्षर एवं पदमुद्रा से जारी किया गया।

Advertisements
No tags for this post.

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error:
WhatsApp chat