क्या कोरोना की दूसरी लहर के बीच ट्रेन सेवाओं पर लगेगी रोक? जानें

Advertisements

क्या कोरोना की दूसरी लहर के बीच ट्रेन सेवाओं पर लगेगी रोक? जानें


कोरोना वायरस देश में विकराल रूप लेता जा रहा है। बीते 24 घंटे में एक बार फिर कोरोना के मामलों ने अपने सभी रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं।

ऐसे में कई लोगों के मन में डर है कि पिछले साल की तरह इस बार भी रेल सेवाएं बंद न कर दी जाएं। हालांकि, इस पर रेलवे का कहना है कि इस साल ट्रेनों का परिचालन रोकने की कोई योजना नहीं है और मांग के हिसाब से ट्रेनों की संख्या बढ़ाई जाएगी। 

रेलवे बोर्ड के सीईओ और चेयरमैन सुनीत शर्मा ने शुक्रवार को कहा कि रेल सेवाओं को रोके जाने का सवाल ही नहीं है, बल्कि हम मांग के हिसाब से ट्रेनों की संख्या बढ़ाने का प्लान तैयार कर रहे हैं। 

शर्मा ने बताया कि जरूरत के ट्रेन सर्विस में कोई कमी नहीं है और ट्रेन सेवा रोकने का भी कोई प्लान नहीं है। अभी हमने अधिक मांग वाले स्थानों के लिए ट्रेनें बढ़ाई हैं और जरूरत के  हिसाब से ट्रेन सेवा मिलती रहेगी। 

भीड़ को कम रखने के लिए अप्रैल-मई 2021 में अधिक ट्रेनें चलाने का प्लान है। सेंट्रल रेलवे में 58 तो वेस्टर्न रेलवे में 60 नए ट्रेनों की घोषणा की गई है जबकि मध्य रेलवे के लिए 58 और पश्चिम रेलवे के लिए 60 ट्रेनों की घोषणा की है।

उन्होंने आगे बताया कि इस समय फिलहाल 1400 मेल एक्सप्रेस ट्रेनें चलाई जी रही हैं। 5,300 उपनगरीय सेवाएं चल रही हैं। वहीं, 800 पैसेंजर ट्रेनें भी समयानुसार चल रही हैं। हम राज्यों के फैसले के बाद इसे बढ़ा भी सकते हैं।

भारतीय रेलवे प्रति दिन 1,402 स्पेशल ट्रेन चला रही

वहीं रेल मंत्रालय ने बताया कि भारतीय रेलवे प्रति दिन औसतन 1,402 स्पेशल ट्रेन चला रही है। कुल 5,381 उपनगरीय ट्रेन सेवाएं और 830 यात्री ट्रेन सेवाएं चालू हैं। और 28 विशेष ट्रेनों को उच्च संरक्षा के साथ अत्यधिक संरचित ट्रेनों के क्लोन के रूप में संचालित किया जा रहा है।

रेलवे की अपील- अफवाहों से रहें सावधान

रेलवे स्टेशन भीड़ जुटती देख रेलवे ने अपील की है कि ट्रेनों में टिकट की बुकिंग को लेकर फैल रही अफवाहों से घबराएं नहीं। रेलवे गर्मियों की छुट्टियों में अधिक विशेष ट्रेनें चलाती है। लोगों से अपील है कि वे महामारी की चुनौती को ध्यान में रखते हुए स्टेशनों पर भीड़-भाड़ न करें।

ट्रेन छूटने से 90 मिनट पहले ही स्टेशन पर पहुंचें। टिकट वालों को ही यात्रा की इजाजत है। कोविड प्रोटोकॉल का ध्यान रखें। रेलवे के चीफ पीआरओ शिवाजी सुतार ने बताया लंबी दूरियों की ट्रेनों में केवल कन्फर्म टिकट वाले यात्रियों को ही यात्रा की अनुमति है।

लॉकडाउन के बाद ट्रेनों को कोविड गाइडलाइंस के अनुसार चलाया जा रहा है। नए नियम के मुताबिक, जनरल कम्पार्टमेंट में भी बिना रिजर्वेशन के कोई यात्रा नहीं कर सकता है।

Advertisements

 

Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.