August 1, 2021

SBI ने किया अलर्ट, कोरोनाकाल के दौरान एक SMS खाली कर रहा है लोगों का बैंक खाता

Advertisements

SBI ने किया अलर्ट, कोरोनाकाल के दौरान एक SMS खाली कर रहा है लोगों का बैंक खाता

Advertisements

देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक एसबीआई के एक ग्राहक ने बताया है कि  बार-बार SMS से आ रहा है कि आपके एसबीआई खाते को सस्पेंड यानी इससे लेन-देन बंद कर दिया गया है. इसकी वजह केवाईसी डॉक्युमेंट अपडेट नहीं कराना है. इसके बाद इसमें नीचे एक लिंक दिया गया है. जहां लिखा गया है कि आप इस लिंक पर Click करके डॉक्युमेंट अपडेट कर सकते है.

एक SMS से लोगों के खाते खाली कर रहे है

साइबर एक्सपर्ट बताते हैं कि फॉर्ड करने वाले इस तरह का मैसेज भेजकर लोगों से डॉक्युमेंट अपडेट करने के लिए कहते हैं. जैसे ही वो लिंक पर क्लिक करते है तो वहां एक फॉर्म खुलता है और उनसे ATM नंबर समेत कई निजी जानकारियां मांगी जाती है. जैसे ही ये जानकारी अपडेट होती है. वैसे ही ये जालसाज खाते से पैसे निकाल लेते है.

लोगों के पास आ रहे है ऐसे SMS

साइबर एक्सपर्ट्स बताते हैं कि इसके अलावा कई बार ये ग्राहकों को कॉल करते है कि आपका वॉलेट या बैंक केवाईसी अमान्य हो गया है.  कॉल करने वाला व्यक्ति कहता है कि इसे ऑनलाइन वेलिडेट किया जा सकता है ताकि आपका अकाउंट दोबारा एक्टिव हो जाए.

सुविधा के लिए आसे एक एप डाउनलोड करने के लिए कहा जाता है.जब आप एप को इस्तेमाल करते हैं तो कॉलर को आपका फोन स्क्रीन दिखने लगता है.

वह आप से वॉलेट में छोटा टोकन अमाउंट ट्रांसफर करने के लिए कहता है. जब आप ऐसा करते हैं तो वह पासवर्ड और अन्य डिटेल देख लेता है.

आपके बैंक खाते से बड़ी रकम निकालने के लिए वह इन्हीं डिटेल को साथ-साथ इस्तेमाल करता है.ग्राहक के पास सभी ट्रांफसर रिक्वेस्ट के लिए ओटीपी आते हैं, लेकिन एप के जरिए जालसाल इन्हें देख सकते हैं.चंद मिनटों में ठग पूरा बैंक अकाउंट साफ कर देते हैं.

अब सवाल उठता है कैसे सही SMS को पहचाने

साइबर एक्सपर्ट्स बताते हैं कि KYC अपडेट कराने का सिर्फ मैसेज आएगा. कभी भी मैसेज पर ये नहीं लिखा होगा कि यहां से ही क्लिक करें डॉक्युमेंट अपडेट करें. इसके अलावा बैंक कभी भी आपकी कोई निजी जानकारी नहीं मांगता है.

SBI ने अपने ग्राहक की तारीफ की है. बैंक ने लिखा है कि हमेशा इस तरह की जालसाजी से अलर्ट रहें. SBI ने अपने जवाब में कहा है कि वो कभी भी आपके खाते से जुड़ी यूजर आईडी, डेबिट कार्ड नंबर और उसका पिन, CVV नंबर (ATM कार्ड के पीछे जो नंबर लिखा होता है) नहीं मांगते है.  ग्राहकों को कभी भी ई-मेल पर आए लिंक को क्लिक नहीं करना चाहिए.

Brajkishore Bhardwaj
Advertisements

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error:
WhatsApp chat