June 22, 2021

नाबालिग पीड़िता के बलात्कारी का जमानत आवेदन पत्र निरस्त

Advertisements

नाबालिग पीड़िता के बलात्कारी का जमानत आवेदन पत्र निरस्त


छिन्दवाड़ा, (दुुुर्गेश डेहरिया)। अपर सत्र न्यायाधीश जुन्नारदेव के द्वारा थाना जुन्नारदेव के अपराध क्रमांक 167/21,अंतर्गत धारा 376, 376(2)(n),376(2)(j),376(2)(h),376(2)(च),376(3), 506 भादवि 5,6 पोक्सो एक्ट के आरोपी खूपचंद पिता छोटेलाल बारसिया निवासी खेडोढाना कोटाखारी थाना जुन्नारदेव का जमानत आवेदन पत्र निरस्त कर दिया गया।

जिसका विरोध म.प्र.शासन की ओर से विशेष लोक अभियोजक श्रीमती गंगावती डेहरिया के द्वारा वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से किया गया। अभियोजन तर्कों से सहमत होते हुए न्यायालय द्वारा जमानत आवेदन निरस्त कर दिया गया।

घटना का विवरण इस प्रकार हैं कि आरोपी खूपचंद बारासिया पिछले 3 वर्षों से पीड़िता को परेशान कर रहा था। दिनांक 01/06/2018 को नाबालिग पीड़िता मवेशी चराने जंगल तरफ गई थी तभी वहां आरोपी खूपचंद आया और पीड़िता के साथ जबरदस्ती गलत काम किया। पीड़िता ने डर के कारण यह बात घर पर किसी को नहीं बताई।

उसके बाद आरोपी ने मौका पाकर कई बार पीड़िता के मना करने पर उसके साथ जबरदस्ती संबंध बनाए। जिससे पीड़िता गर्भवती हो गई थी, यह बात आरोपी को बताने के बाद भी आरोपी ने उसके साथ जबरदस्ती गलत काम किया और पीड़िता को जान से खत्म कर डालने की धमकी दिया।जिससे पीड़िता ने यह बात डर के कारण अपने घरवालों को नहीं बताई।

पीड़िता के घरवालों ने दिनांक 22 मई 2021 को उसकी शादी कर दिए थे । दिनांक 31 मई 2021 को पीड़िता के पेट में दर्द होने से उसके पति ने उसे परासिया में डॉक्टर के पास इलाज कराएं। तब डॉक्टर ने बताई की वह 7 महीने गर्भवती है। पीड़िता के पति ने उसे उसके घर लेकर आए तब उसने सारी बात अपने पति और घर वालों को बताई।

उसके बाद पीड़िता ने अपने पति के साथ थाना जुन्नारदेव आकर आरोपी के विरुद्ध रिपोर्ट दर्ज कराई। मामले में आरोपी के द्वारा न्यायालय के समक्ष जमानत आवेदन पत्र प्रस्तुत किया गया। जिसे न्यायालय द्वारा प्रस्तुत जमानत आवेदन को निरस्त किया गया।

Advertisements

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error:
WhatsApp chat