कोरोना से बचाव के लिए किस उम्र के बच्चों को मास्क पहनना है ज़रूरी?

Advertisements

कोरोना से बचाव के लिए किस उम्र के बच्चों को मास्क पहनना है ज़रूरी?


महामारी से बचाव के लिए मास्क पहनना ज़रूरी है, लेकिन बच्चों को किस उम्र के बाद मास्क पहनना चाहिए यह जानना बहुत ज़रूरी है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के मुताबिक, 5 साल से कम उम्र के बच्चों को मास्क नहीं पहनना चाहिए।

कोरोना महामारी की दूसरी लहर भले ही कमज़ोर पड़ती दिख रही है, मगर खतरा अभी टला नहीं है। क्योंकि हर रोज़ मिलने वाले कोरोना के नए-नए वेरिएंट देश ही नहीं पूरी दुनिया की टेंशन बढ़ा रहे हैं। इस बीच तीसरी लहर को लेकर विशेषज्ञों की बार-बार चेतावनी जिसमें कहा जा रहा है कि बच्चों को खतरा अधिक है, हर किसी की चिंता बढ़ा रहा है। हालांकि ऐसे समय में डरने की नहीं, बल्कि सतर्कता बरतने की ज़रूरत है और कोरोना से बचने का सबसे ज़रूरी हथियार है मास्क, तो खुद भी मास्क पहनें और बच्चों को भी सही तरीके से इसे पहनना सिखाएं।

महामारी से बचाव के लिए मास्क पहनना ज़रूरी है, लेकिन बच्चों को किस उम्र के बाद मास्क पहनना चाहिए यह जानना बहुत ज़रूरी है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के मुताबिक, 5 साल से कम उम्र के बच्चों को मास्क नहीं पहनना चाहिए। 6 से 11 साल की उम्र के बच्चों को मास्क पहनना ज़रूरी है, लेकिन इसमें पैरेंट्स को उनकी मदद करनी चाहिए, जैसे सही तरीके से मास्क पहनाने और उतारने में। 12 साल से अधिक उम्र के बच्चों को व्यस्कों की तरह ही मास्क पहनने की सलाह दी जाती है।

बच्चों को बताएं मास्क पहनने के नियम

मास्क पहनने पर असुविधा तो होती है ऐसे में हेल्थ एक्सपर्ट्स का मानना है कि बच्चों को मास्क पहनने के नियम समझना और यह क्यों ज़रूरी है इसके बारे में बताना बहुत ज़रूरी है। क्योंकि आज के समय में मास्क सबसे ज़्यादा ज़रूरी चीज़ है। बच्चे को बताएं कि मास्क पहनने पर बीमारी फैलाने वाले कीटाणु आपके मुंह और नाक के ज़रिए शरीर में प्रवेश नहीं कर पाएंगे। यह उन्हें और दूसरों को भी सुरक्षित रखेगा। बच्चा यदि कुछ पूछता है तो उसकी शंकाओं को समाधान करें।

कार्टून वाले मास्क

महामारी की दूसरी लहर से बचने के लिए हेल्थ एक्सपर्ट्स भी डबल मास्क लगाने की सलाह दे रहे हैं, ऐसे में बच्चों को सर्जिकल मास्क पहनाने के बाद ऊपर से कपड़े का कोई ऐसा मास्क पहनने के लिए दें जिसमें कार्टून बना हो या हैंडमेड मास्क जिसपर उसने खुद कोई डिज़ाइन आदि बनाया हो। इससे बच्चे की मास्क में दिलचस्पी बढ़ेगी, साथ ही उन्हें मास्क पहनने और उतारने का सही तरीका भी बताएं।

खुद पहनें मास्क

बच्चे पैरेंट्स को देखकर ही सीखते हैं, ऐसे में जब वह आपको हमेशा मास्क पहने देखेगा तो खुद भी इस नियम को फॉलो करने लगेगा। इसलिए घर से थोड़ी देर के लिए भी बाहर निकलने पर मास्क पहनें और आने के बाद सही तरीके से उतारकर हाथ धो लें। ऐसा करने पर बच्चा भी इस नियम को फॉलो करने लगेगा बिना ज़्यादा सवाल किए।

कोविड-19 से बचाव के लिए मास्क के साथ ही ज़रूरी है इन नियमों का पालन

– मास्क पहनने के साथ ही बच्चों को सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करने के लिए कहें।

– मास्क से नाक और मुंह अच्छी तरह ढंके होने चाहिए।

– मास्क की ऊपरी सतह को हाथ न छुए इस बात का ध्यान रखें।

– किसी भी बाहरी सतह या चीज़ को छूने के बाद हाथ धोने के लिए कहें।

– यदि कभी हाथ धोना संभव न हो तो सैनिटाइजर का इस्तेमाल करने के लिए कहें।

डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

Advertisements

Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.