जन्मदिन विशेष – कोल इंडिया लिमिटेड से लेकर मध्यप्रदेश सरकार में कई कमेटी के सदस्य रहे मोदी

Advertisements

जन्मदिन विशेष – कोल इंडिया लिमिटेड से लेकर मध्यप्रदेश सरकार में कई कमेटी के सदस्य रहे मोदी


शिवम् बताते है आपने जमाने के जाने माने कम्युनिस्ट एवम् लोकप्रिय श्रमिक नेता रहे दादाजी डॉ मोदी डब्लू.सी.एल से एटक यूनियन का प्रतिनिधित्व करते आ रहे है। वहीं मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ एटक यूनियन के प्रमुख रहे चुके है। उस समय (एस.ई.सी.एल और एम.सी.एल) डब्ल्यूसीएल का हिस्सा हुआ करता था।

मोदी जी कोल इंडिया लिमिटेड की जेबीसीसीआई कमेटी 4/5/6/7 के 20 वर्षों तक और कोल इंडिया वेल्फेयर बोर्ड कमेटी के 5 वर्षों तक सदस्य रहे है जो 3.77 लाख कोयला मजदूरों के वेतन/ बोनस/ कल्याणकारी योजनाएं तय करती है। खास बात यह रही कि जेबीसीसीआई सदस्य रहते हुए कभी भी कोल इंडिया कमेटी की मीटिंग चाहे रांची, कोलकाता, दिल्ली में कंपनी द्वारा होटल में रुकाने की व्यवस्था के बावजूद खुद आपने पैसो से साधारण होटल में रुखते थे।

शिवम् बताते है कि मोदी जी ने आजतक नागपुर, घोड़ाडोंगरी आने जाने के लिए कंपनी की गाड़ी का निर्वहन नहीं किया बल्कि आम आदमी की तरह ही बस/ट्रेन से सफर तय करना ही बेहतर समझा है क्योंकि उन्हें लगता है कि हम मजदूर नेता है जो सहूलियत मजदूरों को दी जाती है वहीं हमे भी दी जाए।

एटक यूनियन का प्रतिनिधित्व करते हुए डॉ मोदी मध्यप्रदेश सरकार में 10 वर्षों तक के श्रम कल्याण मंडल और नियुत्म वेतन कमेटी के सदस्य रहे है जो मजदूरों के लिए कल्याणकारी योजना तथा वेतन तय करती है।

Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.