July 23, 2021

डॉ. कृष्णा मोदी जन्मदिन पर विशेष, कार्य के प्रति कोई समझौता नहीं किया

डॉ. मोदी अपने मित्र पूर्व मुख्यमंत्री स्व. बाबूलाल गौर जी के साथ

Advertisements

डॉ. कृष्णा मोदी जन्मदिन पर विशेष, कार्य के प्रति कोई समझौता नहीं किया

Advertisements

डाॅ मोदी को पढने में इतनी रुचि थी कि उन्होंने शादी होने के बाद नौकरी करते हुए{बी.ए/एम.ए/एल एल बी सागर विश्वविद्यालय} {बनारस विश्वविद्यालय से वैध विशाराद/ डॉक्टरी पास की थी} {नेशनल लेबर इंस्टीट्यूट दिल्ली से डेवलपमेंट कोर्स किया}। आज भी वे मध्य प्रदेश स्टेट बार काउंसिल ( अधिवक्ता) के मेंबर है।

डाॅ मोदी कहते है की करीब 7 दशक से कोयला उद्योग में काम करते उन्हें यही महसूस हुआ है कि मजदूर हमारे समाज का वह तबका है जिस पर समस्त आर्थिक उन्नति टिकी होती है। अपनी कार्य करने की निष्ठा और क्षमता के कारण ही 1970 से एटक कोल उद्योग के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष से लेकर भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के राष्ट्रीय नेता बने।

छत्तीसगढ़ और मध्यप्रदेश के कई हिस्सों में कम्युनिस्ट पार्टी और एटक यूनियन की स्थापना की थी। कॉम. मोदी 15 वर्षों तक भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के राष्ट्रीय परिषद के सदस्य रहे है और राज्य पार्टी के सचिव मंडल मे सदस्य के रूप करीब 45 वर्षो तक काम किया था।

वहीं 2001 आते तक कॉम मोदी राष्ट्रीय एटक के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष भी बने फिर सेहत ने साथ नहीं दिया तो 2012 में एटक के मुम्बई कन्वेंशन में अपना इस्ताफा पेश कर दिया था। 1985 से 2015 तक करीब 30 वर्ष तक मध्य प्रदेश एटक यूनियन के अध्यक्ष रहे है। वही मध्य प्रदेश एटक का पर्याय डॉ कृष्णा मोदी जी को माना जाता रहा है।

1980 और 1990 के दशक में मोदी जी ने पाथाखेडा क्षेत्र में लाल झंडे का प्रभाव इतना बड़े स्वरूप में कर दिया था कि इस क्षेत्र में देश के सभी बड़े मजदूर नेता रहे उत्तरप्रदेश के किसान नेता और कम्युनिस्ट सांसद सरजू पांडे और बिहार से सांसद / कोयला उद्योग के बड़े नेता श्री कल्याण राय, इंदौर सांसद होमी दाजी, पी के ठाकुर, जी एल धर, डी एल सचदेवा, एस के सान्याल, ए बी बर्धन, कोलकात्ता से सांसद कॉम गुरुदास दासगुप्ता जैसे बड़े नेताओं को पाथाखेडा में लाकर एटक यूनियन के वर्चस्व कायम रखा और अपनी पहचान राष्ट्रीय मजदूर नेता के रूप में स्थापित की।

डॉ. मोदी अपने मित्र पूर्व मुख्यमंत्री स्व. बाबूलाल गौर जी के साथ

यह तक मोदी जी अपने पुराने मित्र मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री/ बीएमएस नेता स्व. बाबूलाल गौर के साथ भोपाल कपड़ा मील यूनियन मे काम कर चुके है।

 

 

 

 


लेख – शिवम मोदी

Advertisements

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error:
WhatsApp chat