July 23, 2021

न्‍यायिक अभिरक्षा से भागने वाले आरोपी को न्याायालय ने सुनाई एक माह का सश्रम कारावास की सजा

Advertisements

न्‍यायिक अभिरक्षा से भागने वाले आरोपी को न्याायालय ने सुनाई एक माह का सश्रम कारावास की सजा

Advertisements

छिन्दवाड़ा, (दुर्गेश डेहरिया)। मुख्‍य न्‍यायिक मजिस्‍ट्रेट छिन्‍दवाडा के द्वारा थाना कोतवाली के अपराध क्रमांक 707/2002 के आरोपी देवेन्‍द्र कुमार उर्फ पप्‍पू पिता भगवान प्रसाद शर्मा निवासी बम्‍हनीलाला हाल मुकाम सीदप छापर थाना चौरई छिन्‍दवाडा को धारा 224 भादवि0 के अपराध में दोषी पाते हुए एक माह का सश्रम कारावास एवं 250 रू/ के जुर्माने से दण्‍डित किया गया।

मामले में शासन की ओर से सहायक जिला अभियोजन अधिकारी अभयदीप सिंह ठाकुर के द्वारा पैरवी की गई ।

मामला इस प्रकार है कि आरोपी के विरूध्‍द न्‍यायालय में विचाराधीन प्रकरण क्रमांक 2249/1996 में निर्णय दिनांक 23/10/2002 को उक्‍त प्रकरण में न्‍यायालय के द्वारा 6 माह के कारावास एवं अर्थदण्‍ड से दण्‍डित किये जाने पर आरोपी को न्‍यायिक अभिरक्षा में लिया गया था।

और न्‍यायिक अभिरक्षा के दौरान आरोपी का फिंगर प्रिंट न्‍यायालय के कोर्ट मोहर्रीर के द्वारा लेते समय अन्‍य प्रकरण में थाना हर्रई के पुलिस द्वारा अन्‍य अभियुक्‍त को न्‍यायालय के समक्ष पेश करने की सूचना न्‍यायालय को देने के लिए कोर्ट मोहर्रीर अपनी शीट से उठकर न्‍यायालय को सूचना देते समय आरोपी देवेन्‍द्र न्‍यायालय कक्ष से बिना सूचना के गायब हो गया था।

जिसकी सूचना कोर्ट मोहर्रीर के द्वारा न्‍यायालय को दी गई थी एवं आरोपी के संबंध में उसके अधिवक्‍ता को बुलाकर जानकारी ली गई तो आरोपी ने अपने अधिवक्‍ता को भी बिना बताये आरोपी फरार हो गया था। जिस पर जांच उपरांत आरोपी के विरूध्‍द प्रथम सूचना रिपोर्ट थाना कोतवाली में दर्ज की गई थी।

Brajkishore Bhardwaj

Advertisements

1 thought on “न्‍यायिक अभिरक्षा से भागने वाले आरोपी को न्याायालय ने सुनाई एक माह का सश्रम कारावास की सजा

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error:
WhatsApp chat