घोड़ाडोंगरी में शासकीय महाविद्यालय भवन निर्माण की मिली स्वीकृति, घोड़ाडोंगरी के विकास के प्रति रामजीलाल उईके का समर्पण आया काम

Advertisements

घोड़ाडोंगरी में शासकीय महाविद्यालय भवन निर्माण की मिली स्वीकृति, घोड़ाडोंगरी के विकास के प्रति रामजीलाल उईके का समर्पण आया काम

पूर्व संसदीय सचिव ने लगभग 3 एकड़ निजी जमीन दान में दी


घोड़ाडोंगरी, (विशाल घोड़की)। शासकीय महाविद्यालय घोड़ाडोंगरी के प्राचार्य डॉ देवीसिंह सिसोदिया द्वारा बताया गया कि शासन द्वारा कल शासकीय महाविद्यालय घोड़ाडोंगरी सहित प्रदेश के 8 नवीनतम महाविद्यालय के भवन निर्माण की प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान की गई है।

जिसमें हमारे शासकीय महाविद्यालय घोड़ाडोंगरी के भवन निर्माण की भी स्वीकृति मिली है यह अत्यंत हर्ष का विषय है कि हमारी बहु प्रतिक्षित मांग थी कि महाविद्यालय निर्माण शीघ्र अति शीघ्र हो जिससे कि स्थानीय क्षेत्र के सभी छात्र छात्राओं को इसका लाभ मिले और अधिक से अधिक संख्या में स्थानीय स्तर के छात्र महाविद्यालय में प्रवेश लेकर लाभान्वित होंगे अभी वर्तमान में महाविद्यालय स्वयं के भवन के अभाव में मॉडल हायरसेकेंडरी स्कूल पिपरी के प्रथम तल पर संचालित हो रहा है।

बताया कि भवन निर्माण की स्वीकृति के पश्चात जल्द से जल्द हमारा स्वयं का महाविद्यालय भवन निर्मित होगा जिससे कि स्थानीय छात्रों को दूरदराज के महाविद्यालय में अध्ययन एवं परीक्षा केंद्रों पर जाकर परीक्षा देने की समस्या से भी निजात जल्द मिलेगी और उन्हें आर्थिक कठिनाइयों का सामना भी नहीं करना पड़ेगा सभी स्थानीय क्षेत्र के हायर सेकेंडरी परीक्षा उत्तीर्ण छात्रों से अपील है कि महाविद्यालय में प्रवेश हेतु पंजीयन करते समय शासकीय महाविद्यालय घोड़ाडोंगरी अवश्य वरीयता दें इससे की कम पैसों में अधिक गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा प्राप्त कर सकें l

जमीन का अभाव घोड़ाडोंगरी में शासकीय जमीन का अभाव होने के कारण स्कूल आईटीआई स्टेडियम घोड़ाडोंगरी के बाहर चले गए थे महाविद्यालय की जमीन की समस्या देखते हुए रामजीलाल गुरुजी पूर्व संसदीय सचिव द्वारा महाविद्यालय के लिए अपनी 3 एकड़ भूमि दान में देकर घोड़ाडोंगरी के विकास में अपना योगदान दिया है

Advertisements

Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.