पीएफ खाताधारकों के लिए अलर्ट, 1 सितंबर से पहले कर लें यह काम, वरना हो जाएगा बड़ा नुकसान

Advertisements

पीएफ खाताधारकों के लिए अलर्ट, 1 सितंबर से पहले कर लें यह काम, वरना हो जाएगा बड़ा नुकसान


प्राइवेट कंपनियों में काम करने वाले कर्मचारियों का पीएफ अकाउंट जरूर होता है। इस खाते में उनके भविष्य के लिए पैसा इकट्ठा किया जाता है। कर्मचारी की सैलरी का एक हिस्सा इस खाते में डाला जाता है और उसमें उतना ही योगदान कंपनी की तरफ से होता है।

इस पैसे पर कर्मचारी को 8.5 फीसदी की दर से ब्याज दी जाती है, लेकिन अब इसके नियमों में बदलाव किया गया है। अब आपको अपना पीएफ अकाउंट आधार कार्ड के साथ जोड़ना जरूरी और साथ ही आधार और पैन कार्ड लिंक होना भी जरूरी है। ऐसा न होने पर आपको पीएफ खाते में मिलने वाली ब्याज बंद हो जाएगी।

अगर आपने एक सितंबर से पहले अपने पीएफ एकाउंट को आधार से लिंक नहीं कराया तो पूरी संभवना है कि आपके खाते में ब्याज की रकम ना आए। ऐसे में आपको 8.5 प्रतिशत की दर से मिलने वाली ब्याज का फायदा नहीं मिलेगा। आपको खाते में जितने ज्यादा पैसे हैं आपको उतना ज्यादा ही नुकसान होगा। सरकार EPFO खाते में जमा रकम पर 8.5 प्रतिशत ब्याज दे रही है और यह ब्याज लगातार मिलती रहे, इसके लिए पीएफ खाते से आधार नंबर को लिंक कराना जरूरी हैं।

1 सितंबर से पहले लिंक कराना जरूरी

केंद्र सरकार जो ब्याज दे रही है वह एक सितंबर से पहले आपके खाते में आ सकती है, लेकिन नए नियमों के अनुसार यह ब्याज उन्हीं लोगों के खाते में आएगी, जिनका पीएफ अकाउंट उनके आधार कार्ड के साथ लिंक है। सरकार ने PF खातों में आधार वेरिफिरेशन और सीडिंग करना जरूरी कर दिया है। आधार कार्ड को लिंक कराने की प्रक्रिया 1 सितंबर से पहले पूरी करना जरूरी है।

22 करोड़ अकाउंट में लिंक होगा आधार

ईपीएफओ में फिलहाल 22 करोड़ के करीब अकाउंट्स हैं। इन सभी अकाउंट के UAN नंबर को आधार कार्ड के नंबर से लिंक करना जरूरी कर दिया गया है। अधिकतर कर्मचारियों ने अपने पीएफ अकाउंट को आधार कार्ड से लिंक भी करा लिया है। आप ऑनलाइन या ईपीएफओ के कार्यालय जाकर यह काम करा सकते हैं। इसके अलावा आप अपनी कंपनी में कहकर भी अपना पीएफ अकाउंट आधार से लिंक करा सकते हैं। पहले आधार और पीएफ अकाउंट लिंक करने की आखिरी तारीख 15 जुलाई थी जिसे अब एक सितंबर कर दिया गया है।

Advertisements

Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.