जिले की कई सहकारी समिति उर्वरक अमानक घोषित

Advertisements

जिले की कई सहकारी समिति उर्वरक अमानक घोषित


बैतूल। खरीफ वर्ष 2021 में उर्वरक गुण नियंत्रण के तहत जिले के उर्वरक विक्रेताओं/सहकारी समितियों के उर्वरकों के नमूने उर्वरक गुण नियंत्रण प्रयोगशाला सागर में अमानक स्तर के पाए जाने पर पंजीयन प्राधिकारी तथा उप संचालक किसान कल्याण तथा कृषि विकास श्री केपी भगत ने उर्वरक (नियंत्रण) आदेश 1985 के खंड 26 की धारा-19 (ए) के अंतर्गत उर्वरकों का विक्रय केन्द्रों पर उपलब्ध स्कंध की शेष मात्रा का क्रय-विक्रय जिले में तत्काल प्रभाव से प्रतिबंधित कर दिया है।

जिन उर्वरकों के नमूने अमानक स्तर के पाए गए हैं उनमें प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति भौंरा से चम्बल फर्टीलाइजर कंपनी से लिए गए उर्वरक डीएपी का लॉट नंबर (टी)अप्रैल2021 एवं एमएल जून 2021, बालाजी कृषि सेवा केन्द्र पाढर से लिए गए कृभकों कंपनी के उर्वरक डीएपी का लॉट नंबर 04 एवं एनएफएल कंपनी के उर्वरक यूरिया का लॉट नंबर 01, राठौर कृषि सेवा केन्द्र रानीपुर से लिए गए कोरोमंडल कंपनी के उर्वरक सिंगल सुपर फास्फेट का लॉट नंबर एनजी368, आदिम जाति सेवा सहकारी समिति मर्यादित रानीपुर से लिए गए इफको कंपनी के उर्वरक यूरिया का लॉट नंबर 01, आदिम जाति सेवा सहकारी समिति भीमपुर से लिए गए आईपीएल कंपनी के उर्वरक डीएपी का लॉट नंबर 01-एफ/20 6/21, संग्रहण केन्द्र आमला से लिए गए आईपीएल कंपनी के उर्वरक डीएपी का लॉट नंबर 01-एफ/21, साइन ट्रेडर्स से लिए गए केएस फर्टी. के उर्वरक कैल्शियम नाइट्रेट का लॉट नंबर एसजी 1695/20 एवं आदिम जाति सेवा सहकारी समिति घोड़ाडोंगरी से लिए गए आईपीएल कंपनी के उर्वरक पोटाश का लॉट नंबर 69-के/20 शामिल हैं।

Advertisements

Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.