अब इन स्मार्टफोन में नहीं चलेगा Google का कोई एप, देखें पूरी लिस्ट

Advertisements

अब इन स्मार्टफोन में नहीं चलेगा Google का कोई एप, देखें पूरी लिस्ट


पुराने स्मार्टफोन का इस्तेमाल करने वाले लोगों के लिए बुरी खबर है। वॉट्सएप के बाद गूगल ने भी साफ कर दिया है कि अब पुराने स्मार्टफोन पर उसका कोई भी एप काम नहीं करेगा। गूगल के इस ऐलान के बाद से पुराने स्मार्टफोन का उपयोग करने वाले लोग अब गूगल मैप, जीमेल, यूट्यूब, प्ले स्टोर और कई अन्य लोकप्रिय एप का इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे। गूगल 27 सितंबर के बाद से पुराने स्मार्टफोन में अपने एप को सपोर्ट करना बंद कर देगा। ऐसे में अगर आप एंड्रॉयड 2.3.7 या उससे पुराने स्मार्टफोन पर गूगल के किसी भी एप में साइन इन करना चाहेंगे तो आप ऐसा नहीं कर पाएंगे। एंड्रॉयड 2.3.7 दिसंबर 2010 में लॉन्च किया गया था।

कौन से स्मार्टफोन में आएगी परेशानी

गूगल ने अपने बयान में कहा है कि यूजर्स को सुरक्षित रखने के लिए कंपनी कई प्रयास कर रही है। इसी कड़ी में अब पुराने स्मार्टफोन से गूगल एप्स का सपोर्ट वापस लिया जा रहा है। इस वजह से 27 सितंबर, 2021 से Google अब उन Android डिवाइस पर साइन-इन की अनुमति नहीं देगा जो Android 2.3.7 या उससे कम पर चलते हैं. यदि आप 27 सितंबर के बाद अपने डिवाइस में साइन इन करते हैं और जीमेल, यूट्यूब और मैप्स का उपयोग करने का प्रयास करते हैं तो आप ऐसा नहीं कर पाएंगे।

इस परेशानी से कैसे बचें

अगर आपका फोन Android 2.3.7 या इससे पुराने वर्जन पर चल रहा है, तो इसे नए वर्जन में अपडेट करने की कोशिश करें। अगर आपका फोन नए वर्जन में अपडेट हो जाता है तो आप पहले की तरह सभी एप का इस्तेमाल कर पाएंगे। वहीं यदि आपका फोन नए अपडेट को सपोर्ट नहीं करता है तो आपको नया फोन खरीदना पड़ेगा।

पुराने स्मार्टफोन पर ये एप नहीं करेंगे काम

– Gmail

– YouTube

– Google Maps

– Google Play Store

– Google Calendar

– और गूगल के बाकी एप्स

किस स्मार्टफोन में नहीं चलेंगे गूगल के एप्स

– सोनी एस्पीरिया एडवांस

– लेनोवो के800

– सोनी एक्सपीरिया गो

– वोडाफोन स्मार्ट II

– सैमसंग गैलेक्सी एस2

– सोनी एक्सपीरिया पी

– एलजी स्पेक्ट्रम

– सोनी एक्सपीरिया एस

– एलजी प्राडा 3.0

– एचटीसी वेलोसिटी

– एचटीसी इवो 4G

– मोटोरोला फायर

– मोटोरोला एक्सटी532

Source

Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.