मनसंगी पत्रिका का द्वितीय अंक का सफल प्रकाशन

Advertisements

मनसंगी पत्रिका का द्वितीय अंक का सफल प्रकाशन


सारनी, (ब्यूरो)। मनसंगी साहित्य संगम द्वारा “आदर्श लेखक -लेखनी के पद चिन्ह” का द्वितीय संस्करण का 11 सितम्बर 2021 को विमोचन किया गया। जिसमें आदर्श लेखक के रूप को सहज और सरल भाव से प्रस्तुत किया गया। पत्रिका का शुभारंभ मनसंगी संस्थापक अमन राठौर मन के जन्मदिवस से प्रारंभ हुई है।

संस्थापक महोदय इस हेतु विभिन्न गतिविधियों मनसंगी परिवार के माध्यम से कराते रहते है, इसी क्रम में द्वितीय पत्रिका में रचनाकारों ने अपनी लेखनी के माध्यम से अपने प्रिय लेखक की छवि को ध्यान में रख कर पत्रिका को उत्कृष्ट बनाया। पत्रिका में देश के विभिन्न साहित्यकारों ने हिस्सा लिया और अपना लेखन दिया।

पत्रिका का सम्पादन कार्य निहारिका पाटीदार (धार) व काजल भार्गव (लखनऊ) ने किया वपत्रिका में लेखकगण मनीषा कौशल (भोपाल), सोनल ओमर (कानपुर), रश्मि कौलवार, पूर्णिमा प्रमोद प्रधान (छग), सुरंजना पांडेय (बिहार), चंदन केसरवानी (कानपुर), सत्यम द्विवेदी (कानपुर), मोनिका वाजपेयी (कानपुर), निहारिका पाटीदार (धार), डॉ.माया शुक्ला (जबलपुर), डॉ नीलू सिमिर (भोपाल), ओमप्रकाश श्रीवास्तव(कानपुर), ममता तिवारीजांजगीर चंपा), मोनालिसा पावर (जोधपुर), नंदिनी लहेजा (रायपुर), प्रिया यदुवंशी छ. ग.), सुधीर श्रीवास्तव (गौंडा,उप्र), रजनी शर्मा(कोलकाता), राहुल पथिक पंडित (मानेसर गुरुग्राम), डॉ. श्वेता सिंह (पानीपत) व साप्ताहिक विशेष रचना पत्रिका में आई है।

मनसंगी परिवार हिंदी साहित्य उत्थान में निरंतर कार्य कर रहा है मनसंगी आगेकुछ विशेष मासिक प्रकाशित करने वाला है यह पत्रिकाये विषय बाल पत्रिका, नारी सहशक्ति करण, आधुनिक तकनीकी, शिक्षा का महत्व देशकाल आदि विषयों पर लेख, कहानी, कविता को प्रेषित किया जाएगा। मनसंगी को आप इंस्टा पर फॉलो कर सकते है।

Advertisements

Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.