EPFO NEWS – प्राइवेट और सरकारी कर्मचारियों को मिलेगा 7 लाख का फ्री इंश्योरेंस, जल्द भरे ये फॉर्म

Advertisements

EPFO NEWS – प्राइवेट और सरकारी कर्मचारियों को मिलेगा 7 लाख का फ्री इंश्योरेंस, जल्द भरे ये फॉर्म


कर्मचारी भविष्य निधि संगठन ने अपने सब्सक्राइबर्स को ई-नॉमिनेशन की सुविधा दी है। ईपीएफओ से जुड़े लाखों कर्मचारियों को सात लाख रुपए का फ्री इंश्योरेंस मिलता है। इसके लिए उन्हें अलग से कोई भुगतान नहीं करना होता है। लेकिन इसका फायदा उठाने के लिए ई-नॉमिनेशन फॉर्म भरना होता है।

ईपीएफओ ने ट्वीट कर दी जानकारी

ईपीएफओ ने ट्वीट कर जानकारी दी है। बताया कि जुलाई 2021 से सितंबर 2021 तक 9,21,231 मेंबर्स ने नॉमिनेशन फॉर्म भरे हैं। संगठन ने आगे कहा कि अपने परिवार/नामांकित व्यक्ति की सामाजिक सुरक्षा के लिए आज ही EPF/EPS नॉमिनेशन फाइल करें। बता दें इम्प्लॉइज डिपॉजिट लिंक्ड इंश्योरेंस स्कीम के अंतर्गत हर पीएफ अकाउंट पर 7 लाख रुपए तक का मुफ्त बीमा कवर मिलता है।

ईडीएलआई में जमा रकम पर मिला है बीमा

बता दें पीएफ खाते में कर्मचारी की बेसिक सैलरी का 12 फीसद रकम जमा होती है। इतना ही कंपनी जमा करती है। संस्थान 3.67 फीसद रकम ईपीएफ और 8.33 फीसद राशि ईपीएस में जमा करती है। ईडीएलआई में डिपॉजिट 0.5 फीसद रकम के तहत कर्मचारियों को सात लाख रुपए तक इंश्योरेंस मिलता है।

रिटायरमेंट के बाद नहीं होगा क्लेम

अगर किसी ईपीएफओ सदस्य का निधन हो जाता है, तो नॉमिनी बीमा की राशि क्लेम कर सकता है। इस इंश्योरेंस का क्लेम नौकरी के दौरान किया जाता सकता है। रिटायरमेंट के बाद इसका लाभ नहीं मिलता।

ई-नॉमिनेशन भरने की स्टेप बाय स्टेप प्रोसेस

1. ईपीएफओ की आधिकारिक वेबसाइट www.epfindia.gov.in पर जाना होगा।

2. अब Services विकल्प पर क्लिक करें। उसके बाद For Employees के ऑप्शन पर जाएं।

3. एक नया टेब ओपन होगा। अब Membar UAN/Online Service पर क्लिक करें।

4. मैनेज टैब में जाकर ई-नॉमिनेशन का चयन करें।

5. अब फैमिली डेक्लेयरेशन पर जाएं और Add Family Details पर क्लिक करें।

6.कुल अमाउंट शेयर के लिए नॉमिनेशन डिटेल्स पर क्लिक करें।

7. अब ओटीपी जेनरेट करने के लिए E-sign पर जाएं।

8. रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर आए ओटीपी पर दर्ज कर सबमिट करें।

9. ऐसा करते ही ई-नॉमिनेशन रजिस्टर्ड हो जाएगा।

Advertisements

Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.