गूगल पर कस्टमर केयर की जगह हो सकता है साइबर ठगों का नंबर, ऐसे करें अपना बचाव

Advertisements

गूगल पर कस्टमर केयर की जगह हो सकता है साइबर ठगों का नंबर, ऐसे करें अपना बचाव


त्योहारों के नजदीक आते ही लोग ऑनलाइन शॉपिंग करने लगते हैं. वहीं अपराधी आप के खरीददारी करने से लेकर बैंकिंग डिटेल्स पर तक नजर बनाए रखते हैं. खरीददारी करने के बाद सामान को एक्सचेंज या उसकी ऑफ्टर सेल सर्विस के लिए कस्टमर केयर को फोन करते हैं तो यहीं सावधान हो जाना चाहिए. इन दिनों साइबर ठग गूगल पर कस्टमर केयर की जगह अपने मोबाइल नंबर अपलोड करने लगे हैं. लोग कस्टमर केयर का नंबर समझकर कॉल तो करते हैं लेकिन अनजाने में साइबर ठगों के जाल में फंस जाते हैं.

त्योहारों के नजदीक आते ही साइबर अपराधी भी एक्टिव हो जाते हैं. साइबर ठग इन दिनों कस्टमर केयर की जगह खुद के नंबर गूगल पर अपलोड कर रहे हैं. लोग कस्टमर केयर को फोन मिला है समझकर उनकी बताई हर चीज फॉलो करने लगते हैं. साइबर अपराध के इस नए तरीके को गूगल कस्टमाइजेशन फ्रॉड का नाम दिया गया है. इतना ही नहीं साइबर अपराधी अपने फोन नंबर बैंक के कस्टमर केयर की जगह भी अपलोड कर देते हैं. 

फ्रॉड के इस नए तरीके में बदमाश एनी डेस्क ऐप को डाउनलोड करने के लिए कहते हैं. एनी डेस्क आपके फोन या कंप्यूटर में डाउनलोड होने के बाद आपकी स्क्रीन पर जो चल रहा है उसकी सारी डिटेल्स शेयर होने लगती हैं.

साइबर ठग एनीडेस्क डाइउनलोड कराने के बाद व्यक्ति को डेबिट या क्रेडिट कार्ड की फोटो खींचने के लिए कहते हैं. एनी डेस्क यानी स्क्रीन मिररिंग के जरिए वह एटीएम कार्ड की सारी जानकारी रिकॉर्ड कर लेते हैं. इतनी ही देर में ओटीपी मोबाइल पर आता है. एनी डेस्क के माध्यम से ठगों को ओटीपी भी पता चल जाता है. कार्ड नंबर और ओटीपी डालते ही कस्टमर केयर नंबर पर कॉल करने वाले अकाउंट से रुपए साफ हो जाते हैं. 

विशेषतौर पर इन दिनों सावधानी बरतनी चाहिए. गूगल या अन्य किसी सर्च इंजर पर कस्टमर केयर का नंबर सर्च करते हैं तो उसकी पहले जांच कर लें. इसके बाद ही कॉल करना चाहिए. वहीं कॉल करने के बाद व्यक्ति आपको संदिग्ध लगे तो तुरंत फोन काट देना चाहिए. कोई अंजान व्यक्ति एनी डेस्क एप डाउनलोड करने के लिए कहता है तो तुरंत सावधान हो जाएं वर्ना आप भी ठगी का शिकार हो सकते हैं. 

Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.