चाकू से पेट पर मारकर हत्या का प्रयास करने वाले आरोपी को 10 वर्ष का सश्रम कारावास

Advertisements

चाकू से पेट पर मारकर हत्या का प्रयास करने वाले आरोपी को 10 वर्ष का सश्रम कारावास


छिन्दवाड़ा, (दुर्गेश डेहरिया)। अपर सत्र जिला न्यायाधीश प्रदीप कुमार वरकडे चौरई की न्यायालय द्वारा सत्र प्रकरण क्रमांक 43/20 के आरोपी रज्जू ऊर्फ अर्जुन पिता बलराम बंजारा उम्र 35 वर्ष निवासी ग्राम टांडा पिपरिया थाना चौरई को दोषसिद्ध पाते हुये भादवि की धारा 307 में 10 वर्ष का सश्रम कारावास एवं 2000 रू अर्थदण्ड की सजा सुनाई गई। प्रकरण में म.प्र. शासन की ओर से पूर्व अपर लोक अभियोजक प्रवीण कुमार मर्सकोले एवं वर्तमान अपर लोक अभियोजक सुदर्शन सोनी के द्वारा पैरवी की गई थी।

घटना का संक्षिप्त विवरण इस प्रकार है – दिनांक 30/11/2010 के शाम करीब 5 बजे प्रार्थी खेत गया था तो उसके राह के खेत में रज्जू बंजारा के मवेशी चर रहे थे। रज्जू वही खडा था तब प्रार्थी ने रज्जू से बोला कि दाना स दुश्मनी क्यों कर रहे हो तब रज्जू ने मां बहन की गाली दिया, उसने गाली देने से मना किया तो रज्जू उसके पीछे कुल्हाडी लेकर दौडा तब प्रार्थी भागकर घर आ गया।

शाम करीब 7 बजे जब प्रार्थी खाना खाकर घर के आंगन में निकला उसी समय राकेश, धारासिंह, मुन्ना, रज्जू जिनसे पुरानी बुराई चल रही थी लाठी लेकर आये और बोला की आजकल तेरे भाव बहुत बढ गये हैं आज तुझे यहीं जान से खत्म कर देगें। राकेश, धारासिंह, मुन्ना ने लाठी से पीठ में मारे तथा रज्जू ने श्याम के पेट में चाकू से मारा चोट लगकर खून निकला। श्याम ने चिल्लाया बचाओ बचाओ तब चारों वहां से भाग गये।

रज्जू बंजारा ने प्राणघातक हमला कर चाकू से पेट में मारकर चोट पहुचांया था उसे तत्काल छिन्दवाडा अस्पताल भर्ती किया गया था। थाना चौरई के द्वारा आरोपी के विरूद्ध अपराध क्रमांक 530/10 धारा 307 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना उपरांत अभियोग पत्र न्यायालय में पेश किया गया था।

Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.