डिपॉजिट मशीन से खाते में जमा कराया पैसा, फिर भी अकाउंट रह गया खाली तो ना हो परेशान तुरंत करें ये काम

Advertisements

डिपॉजिट मशीन से खाते में जमा कराया पैसा, फिर भी अकाउंट रह गया खाली तो ना हो परेशान तुरंत करें ये काम


भारतीय स्टेट बैंक (SBI) अपने लाखों ग्राहकों को समय-समय पर जानकारियां शेयर करता रहता है. कई बार लोगों के साथ कुछ ऐसा हो जाता है जिस कारण वह समझ नहीं पाते कि उन्हें आगे क्या करना है और परेशान हो जाते हैं. ऐसा ही कुछ हाल ही में एक ग्राहक के साथ हुआ, जिसके बाद उसने बैंक को टैग करते हुए अपनी परेशानी को साझा किया. आइए जानते हैं कि आखिर ये पूरा मामला है क्या…

दरअसल, कैश डिपॉजिट मशीन से पैसे जमा कराने पर एक शख्स के अकाउंट में वह पैसा नहीं पहुंचा. जबकि उसको उसी समय पैसों की सख्त जरूरत थी. ऐसे में ग्राहक ने बैंक को टैग करते हुए ट्वीट किया कि मैंने 13-11-2021 को मोती नगर, हैदराबाद में नकद जमा मशीन के माध्यम से 36000 जमा किए. अब तक मेरे खाते में पैसा जमा नहीं किया गया. उस समय मुझे पैसों की सख्त जरूरत थी. आपकी जमा मशीन की समस्याओं के कारण मुझे बहुत कठिनाई का सामना करना पड़ रहा है.

बैंक ने दिया ग्राहक के ट्वीट का जवाब

शख्स के इस ट्वीट का जवाब एसबीआई ने तुरंत दिया जो आमलोगों के लिए भी बेहद काम की हो सकती है. एसबीआई ने अपने आधिकारिक ट्वीटर अकाउंट से ट्वीट कर बताया है कि, इस स्थिति में क्या करना चाहिए. बैंक के मुताबिक कुछ समस्याओं के कारण इस तरह की मुश्किलों का सामना लोगों को कभी-कभी हो सकता है. अगर कोई शख्स इस तरह के मुसीबत में फंस गया है तो उसे तुरंत ही इसकी शिकायत करनी चाहिए. 

शिकायत करने के लिए आपनाएं ये तरीका

अगर आप भी इस तरह के किसी मुश्किल में पड़ जाते हैं तो आप इसकी शिकायत कर सकते हैं. भारतीय स्टेट बैंक (SBI) के मुताबिक कैश डिपॉजिट मशीन से जुड़ी शिकायत के लिए ग्राहक को सबसे पहले https://crcf.sbi.co.in/ccf/ पर जाना होगा. इसके बाद  EXISTING CUSTOMER // MSME/ Agri/ Other Grievance under GENERAL BANKING/BRANCH RELATED category में जाकर अपनी शिकायत दर्ज करनी होगी. यहां वह अपने साथ हुए घटना की डीटेल्स को भर इसका निवारण करने की मांग कर सकते हैं. वहीं एसबीआई हेल्पलाइन नंबर 1800 11 2211 (टोल फ्री) से भी संपर्क किया जा सकता है. 

Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.