टी.बी. प्रिवेंटिव थेरेपी की जिला चिकित्सालय में शुरूआत

Advertisements

टी.बी. प्रिवेंटिव थेरेपी की जिला चिकित्सालय में शुरूआत


बैतूल। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. ए.के.तिवारी ने बताया कि डब्ल्यू.एच.ओ. कंसल्टेंट टी.बी. भोपाल संभाग डॉ. उत्सव राज जिले में 24 नवम्बर से 26 नवम्बर तक भ्रमण पर रहे। इस दौरान उनके द्वारा 5 विकासखंडों की ट्यूबरकुलोसिस यूनिट का निरीक्षण किया गया। जिसमें सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र शाहपुर, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र घोड़ाडोंगरी, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र आमला, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र मुलताई एवं जिला चिकित्सालय बैतूल सम्मिलित रहे।

जिला क्षय अधिकारी डॉ. आनंद मालवीय ने बताया कि शुक्रवार 26 नवम्बर को जिला चिकित्सालय में टी.बी. के मरीजों के सम्पर्क वाले व्यक्तियों/परिवारजनों के लिये राज्य एवं केन्द्र सरकार द्वारा चलाये गये टी.पी.टी. कार्यक्रम (टी.बी. प्रिवेंटिव थेरेपी प्रोग्राम) की विधिवत शुरुआत की गई।

कार्यक्रम के अंतर्गत टी.बी. मरीज के सम्पर्क वाले स्वस्थ व्यक्तियों में टी.बी. की जांच करके इन्हें चिन्हित किया जाता है। टी.बी. नहीं पाये जाने पर 5 वर्ष की आयु से कम के बच्चों को टी.बी. की रोकथाम के लिये निर्धारित दवाइयां प्रदाय की जाती है, तथा 5 वर्ष से ऊपर के व्यक्तियों का टिगरा टेस्ट (एलाईजा बेस्ड) करने के उपरांत टी.बी.टी. थैरेपी 6 माह के लिये प्रदाय की जायेगी।

डॉ. आनंद मालवीय ने बताया कि जिले को डब्ल्यू.एच.ओ. द्वारा सिल्वर मेडल प्राप्त करने के लिये नामित किया गया है, जिसकी तैयारियों की भी डॉ. राज द्वारा चर्चा की गई। डॉ. उत्सव राज द्वारा कार्यक्रम में उपस्थित एस.टी.एस. एवं एस.टी.एल.एस. को भी संबोधित किया गया।

कार्यक्रम में जिला क्षय अधिकारी डॉ. आनंद मालवीय द्वारा विस्तृत जानकारी प्रदाय की गई। जिला कार्यक्रम प्रबंधक डॉ. विनोद शाक्य एवं जिला कम्युनिटी मोबिलाइजर श्री कमलेश मसीह भी कार्यक्रम में उपस्थित रहे।

Advertisements
Advertisements

Related posts

One Thought to “टी.बी. प्रिवेंटिव थेरेपी की जिला चिकित्सालय में शुरूआत

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.