कठुआ गैंगरेप: महबूबा सरकार ने 3 पुलिसवालों को किया बर्खास्त, साथ देने के लिए देश को कहा शुक्रिया

Advertisements

NEWS IN HINDI

Advertisements

कठुआ गैंगरेप: महबूबा सरकार ने 3 पुलिसवालों को किया बर्खास्त, साथ देने के लिए देश को कहा शुक्रिया

जम्मू कठुआ गैंगरेप मामले में महबूबा मुफ्ती सरकार ने 3 पुलिसवालों को बर्खास्त कर दिया है। ये तीनों पुलिसवाले कठुआ की आठ साल की बच्ची के गैंगरेप और मर्डर केस में आरोपी थे। जम्मू-कश्मीर की सीएम ने कहा है कि इस मामले में न्याय सुनिश्चित करने के लिए देश के लोग जिस तरह से आगे आए उससे व्यवस्था में विश्वास बहाल होगा। उन्होंने पीड़ित बच्ची को न्याय दिलाने में जम्मू – कश्मीर सरकार के साथ खड़े होने के लिए देश के नेतृत्व , न्यायपालिका , मीडिया और सीविल सोसाइटी की प्रशंसा की है।

कठुआ मामले में ऐक्शन में आई महबूबा सरकार ने इस मामले में आरोपी सब इंस्पेक्टर आनंद दत्ता, हेड कॉन्स्टेबल तिलक राज और स्पेशल पुलिस ऑफिसर दीपक खजुरिया को नौकरी से बर्खास्त कर दिया है। इनमें दत्ता और तिलक राज पर सबूत मिटाने जबकि दीपक खजुरिया पर बच्ची के अपहरण, गैंगरेप और मर्डर में शामिल होने का आरोप है। आपको बता दें कि बच्ची को कठुआ के रासना गांव के एक मंदिर में रखकर लगातार 7 दिनों तक गैंगरेप करने के बाद मार दिया गया था। यह वारदात 10 से 17 जनवरी के बीच की है।

उधर, बार असोसिएशन कठुआ (बाक) ने गैंगरेप और हत्या के आठ आरोपियों का मुफ्त में मुकदमा लड़ने का अपना प्रस्ताव भी वापस ले लिया है। उसका यह फैसला उस वक्त आया है जब दो दिन पहले ही सर्वोच्च न्यायालय ने न्यायिक प्रक्रिया को बाधित करने की वकीलों की कोशिश पर गंभीरता से संज्ञान लिया था और कहा था कि इस तरह से बाधा डालने से न्याय व्यवस्था प्रभावित होती है। बीते शुक्रवार को मामले का संज्ञान लेते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि बार असोसिएशनों का यह कर्तव्य है कि आरोपियों या पीड़ित परिवारों की पैरवी करने वाले वकीलों के काम में बाधा नहीं डाली जाए।

बाक अध्यक्ष कीर्ति भूषण ने कहा, ‘हमने इस मामले में मुफ्त में मुकदमा लड़ने के प्रस्ताव को वापस ले लिया है। आरोपी किसी भी व्यक्ति की सेवा लेने और अदालत में अपना बचाव करने के अधिकार का इस्तेमाल करने को स्वतंत्र हैं।’ आपको बता दें कि महबूबा ने शनिवार को इस मसले पर पीडीपी विधायकों संग बैठक की है। जम्मू-कश्मीर सीएम ने कहा कि, ‘भारतीय लोकतंत्र का मूलतत्व यहां की संस्थाओं में है और एक बार फिर यह सबित हो गया है कि इन संस्थाओं के पास समाज के किसी तबके को न्याय दिलाने की ताकत है।’ बलात्कारियों को फांसी पर लटकाना चाहिए: निर्भया की मां

दिल्ली में 2012 में गैंगरेप का शिकार हुई निर्भया के अभिभावकों ने कठुआ रेप के मामले में दोषी को फांसी की सजा देने की वकालत की और कहा कि भले समाज आगे बढ़ गया हो लेकिन ‘बेटियां अब भी सुरक्षित नहीं है।’ आपको बता दें कि 23 वर्षीय पारामेडिकल छात्रा के साथ चलती बस में सामूहिक बलात्कार हुआ था और 29 दिसंबर 2012 को उसकी मौत हो गई थी। निर्भया की मां दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालिवाल द्वारा किए जा रहे अनिश्चित हड़ताल में पहुंची थीं। /हां निर्भया की मां ने कहा, ‘मैं बहुत दुखी हूं कि हम एक समाज के तौर पर बहुत आगे बढ़ गए हैं लेकिन हमारी बेटियां आज भी सुरक्षित नहीं है। मैं मांग करती हूं कि बलात्कारियों को फांसी की सजा मिलनी चाहिए।’

 

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए लिंक पर क्लिक करके https://www.facebook.com/samacharokiduniya/ पेज को लाइक करें या वेब साईट पर FOLLOW बटन दबाकर ईमेल लिखकर ओके दबाये। वीडियो न्यूज़ देखने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे। Youtube

 

NEWS IN ENGLISH

Kathua gangrape: Mahbuba government sacked 3 policemen, told the country to give up, thank you

Mehbooba Mufti Government has sacked 3 policemen in Jammu Kathua Gangrepe case. These three policemen were accused in the gangrape and murder case of eight year old girl of Kathua. The CM of Jammu and Kashmir has said that the way in which the people of the country come forward to ensure justice in this matter, the belief in the system will be restored. He has praised the country’s leadership, judiciary, media and civil society for standing with the Jammu and Kashmir government to bring justice to the victim.

The Mehbooba government, in action in the Kathua case, has dismissed the accused Sub Inspector Anand Dutta, Head Constable Tilak Raj and Special Police Officer Deepak Khajuria in this case. Among them, Dutta and Tilak Raj have been accused of erasing evidence while Deepak Khajuria is accused of kidnapping, gangrap and murder. Let me tell you that the girl was killed after gangrape for 7 consecutive days by placing a Kadwa in a temple of Rasna village. The incident occurred between 10 and 17 January.

On the other hand, Bar Association Kathua (BAK) has withdrawn its offer of free trial of gangrap and eight accused in the murder. His decision comes at a time when the Supreme Court took cognizance of attempts at attorneys to obstruct the judicial process two days ago and said that obstructing such a way would affect the justice system. Taking cognizance of the matter on Friday, the Supreme Court had said that it is the duty of the bar association that the lawyers of the accused or the families of the victims should not be interfered with in the work of the lawyers.

Bach President Kirti Bhushan said, “We have withdrawn the offer for free trial in this case. The accused are free to use any person’s right to take service and defend themselves in court. Let me tell you that Mehbooba has held a meeting with PDP legislators on this issue on Saturday. Jammu Kashmir CM said, “The basic element of Indian democracy is in the institutions and once again it has been established that these institutions have the power to bring justice to any section of society.” The rapists should be hanged: Nirbhaya’s mother

Parents of Nirbhaya, who had been gangraped in Delhi in 2012, advocated the death penalty for the murder of Kadua rap and said that even though the society has gone ahead, ‘daughters are still not safe’. Tell you that a 23-year-old paramedical student was gang-raped in a moving bus and died on December 29, 2012. The mother of Nirbhaya had reached the indefinite strike being carried out by the Delhi Women’s Commission, Swati Maliwal. / Yes Nirbhaya’s mother said, ‘I am so sad that we have moved a lot like a society but our daughters are not safe even today. I demand that the rapists should be sentenced to death. “

 

To get the latest updates, click on the link: https://www.facebook.com/samacharokiduniya/ Like the page or press the FOLLOW button on the web site and press the OK Subscribe to our YouTube channel to see the video news. Youtube

 

Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.