22 Apr 2018

रेत उत्खनन से खराब हो रही नर्मदा की स्थिति : स्वामी स्वरूपानंद

Advertisements

News in Hindi

रेत उत्खनन से खराब हो रही नर्मदा की स्थिति : स्वामी स्वरूपानंद

नरसिंहपुर। नर्मदा के किनारे कोई भी व्यक्ति परिक्रमा के लिए आता है तो वह खाली नहीं जाता। नर्मदा के अंदर जितने कंकर हैं, वह सब शंकर हैं, जब हम परिक्रमा करते हैं तो इनकी भी परिक्रमा हो जाती है, लेकिन आज नर्मदा की स्थिति बहुत खराब है, नर्मदा की रेत का उत्खनन कर दिया गया। यहां पर मुख्यमंत्री भी आए और कार्यक्रम करते रहे और उसी समय नर्मदा के उस पार मशीनों से रेत का उत्खनन होता रहा।

यह बात शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती ने नर्मदा के ब्रह्मकुंड घाट पर चल रहे अनुष्ठान के दौरान प्रवचन में कही। शंकराचार्य ने कहा कि नर्मदा की रेत का उपयोग शौचालय निर्माण में करके भारत को स्वच्छ बना दिया लेकिन यह विचार नहीं किया कि पीने के लिए तो पानी नहीं है, पीने के पानी से 15 गुना ज्यादा पानी तो शौचालय को साफ करने में चाहिए।

शंकराचार्य ने रेत उत्खनन और नर्मदा की स्थिति पर चिंता जाहिर करते हुए कहा कि जब तक मौन रहोगे तब तक अन्याय होता रहेगा, इसलिए मुंह खोलो। आप देख रहे होंगे कि भारत की जितनी नदियां थीं, वह खत्म हो रही हैं। नर्मदा को भी जगह-जगह से बांध दिया गया, नर्मदा में रेत खोद कर जगह-जगह गड्ढे कर दिए गए जिससे पानी रुक गया। रेत पानी को छानती थी लेकिन रेत ही नहीं है तो पानी एक जगह गड्ढाें में स्थिर हो गया है, पानी छनना खत्म हो गया, नर्मदा में नालियों का पानी मिलने से प्रदूषण फैल रहा है।

गंगा से भी पुरानी है नर्मदा

शंकराचार्य ने नर्मदा के जन्म का प्रसंग सुनाया और बताया कि भगवान शंकर के पसीने से जन्मी नर्मदा को शिवजी ने कहा कि अब तुम एक नदी के रूप में भारत वर्ष में निवास करोगी फिर वही कन्या नर्मदा के रूप में परिवर्तित होकर मप्र में प्रवाहित हो गई। नर्मदा के कारण हमारा मध्यप्रदेश धन्य हो गया। नर्मदा साधारण नहीं है, पुराणों के अनुसार गंगा से भी पुरानी नर्मदा है। श्रीराम कथा भगवान शंकर को इसी प्रकार प्यारी है जिस तरह नर्मदा। कथा-प्रवचन के उपरांत नर्मदाजी की महाआरती की गई। रासलीला का मंचन किया गया। इस दौरान श्रद्धालुओं की भीड़ रही।

 

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए लिंक पर क्लिक करके https://www.facebook.com/samacharokiduniya/ पेज को लाइक करें या वेब साईट पर FOLLOW बटन दबाकर ईमेल लिखकर ओके दबाये। वीडियो न्यूज़ देखने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे। Youtube

 

NEWS IN ENGLISH

Status of Narmada worsening by sand excavation: Swami Swatananda

 Narsinghpur Any person on the side of Narmada comes for the roundabout, then it does not go empty. All the skeletons inside Narmada are all Shankar, when we are doing Parikrama, they also revolve, but today the situation of Narmada is very bad, the sands of Narmada were excavated. Here the chief minister also came and continued the program, and at the same time, the sand was excavated from machines across the Narmada.

Shankaracharya Swami Swaroopanand Saraswati said this in the discourse during the ongoing rituals on Narmada’s Brahmakund Ghat. Shankaracharya said that the use of sand of Narmada by making the toilets clean India, but did not consider that there is no water to drink, 15 times more water than drinking water should be cleaned in toilets.

Shankaracharya expressing concern over the situation of sand excavation and Narmada said that injustice will continue until silence is there, so open the mouth. You must be seeing that the rivers of India were ending, they are ending. Narmada was also bundled from place to place, sand was dug in the Narmada and it was pits in place, which stopped the water. The sand was filtered, but not the sand, the water has become stable in the pit, the filing was over, the pollution was spreading after getting water from the drains in Narmada.

Narmada is also older than Ganges

Shankaracharya narrated the events of Narmada’s birth and told that Lord Shiva was born of Lord Shankar’s sweat, Shivaji said that now you will reside in the year of India as a river, and then the same girl becomes converted into Narmada and flows into M.P. Our Madhya Pradesh was blessed due to Narmada. Narmada is not ordinary, according to the Puranas, the old Narmada is also from the Ganges. Shriram story is similar to Lord Shankar, as Narmada is. Narmadaji’s Maharaati was performed after the fictional talk. Rasaliya was staged. During this, there was a crowd of devotees.

 

To get the latest updates, click on the link: https://www.facebook.com/samacharokiduniya/ Like the page or press the FOLLOW button on the web site and press the OK Subscribe to our YouTube channel to see the video news. Youtube

 

Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error:
WhatsApp chat