महाराष्ट्र: औरंगाबाद दो दिनों की हिंसा के बाद शांति, झड़प में अब तक 2 की मौत, 51 घायल

Advertisements

NEWS IN HINDI

महाराष्ट्र: औरंगाबाद दो दिनों की हिंसा के बाद शांति, झड़प में अब तक 2 की मौत, 51 घायल

औरंगाबाद: मध्य महाराष्ट्र के औरंगाबाद शहर में दो समुदायों के बीच झड़प के बाद हुई हिंसा के 36 घंटे के बाद अब शांति है. इस हिंसा में 2 लोगों की मौत और 51 लोग घायल हैं. ये हिंसा एक अवैध तरीके से लिए हुए नल हटाए जाने की घटना से शुरू हुई.

मरने वालों में 17 साल का एक युवक है जिसकी मौत कथित तौर पर पुलिस की गोली से हुई. वहीं 65 साल के एक व्यक्ति की मौत तब हुई जब पास की एक दुकान में दंगाइयों ने आग लगा दी जिसकी वजह से वह अपने घर में फंस गए.

हिंसा करने वालों को छोड़ेंगे नहीं: सीएम

राज्य के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस ने कहा है कि हिंसा करने वालों को छोड़ा नहीं जाएगा. शहर में धारा 144 लागू है और मोबाइल इंटरनेट बंद है. पुलिस ने इस हिंसा में अब तक 25 लोगों को हिरासत में लिया है.

क्या है पूरा मामला?

शुक्रवार 11 मई को दो समुदायों के बीच झड़प शुरू हुई थी. जिसके बाद दिल दहला देने वाली तस्वीरें सामने आईं. दंगाईयों ने 100 से ज्यादा गाड़ियों को फूंक दिया और 100 से ज्यादा दुकानों को आग के हवाले कर दिया. इसके बाद पुलिस ने लाठीचार्ज और आंसूगैस के गोलों से स्थिति को काबू में करने की कोशिश की लेकिन दंगाई भीड़ ने पुलिस पर भी पथराव किया जिसमें दस पुलिसकर्मी घायल हो गए.

क्यों हो रहा है विवाद?

विवाद के पीछे कई वजहें सामने आ रही है. बताया जा रहा है कि विवाद की शुरुआत करीब एक महीने पहले हुई जब शाहगंज इलाके में लगी वल्लभ भाई पटेल की मूर्ति और उसके पास लगी पुरानी घड़ी जिसकी मरम्मत की जानी थी. इस वजह से उसके पास छोटी-छोटी दुकानों के अतिक्रमण को हटाने की बात आई तभी दो गुटों में विवाद शुरु हुआ था. इसके बाद 8 दिन पहले शाहगंज इलाके में ही बीच रास्ते में ठेला लगाये दो गुटों में विवाद हुआ.

दूसरी वजह

चार दिन पहले दो धार्मिक स्थलों में अवैध जल कनेक्शन हटाने के बाद इस मामले ने सांप्रदायिक रंग ले लिया. इसके बाद शुक्रवार को शाम 6 बजे मोती करांजा और गांधी नगर में लड़की को छेड़ने के कारण दो गुटों में विवाद हुआ और वहां पर एक दूसरे में मारपीट हुई. इसी के बाद से व्हाट्सएप पर अफवाहें फैलने लगीं कि कहीं मस्जिद गिरा दी गई है, कहीं मंदिर गिरा दिया गया है, लोगों से मारपीट हो रही है.

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए लिंक पर क्लिक करके https://www.facebook.com/samacharokiduniya/ पेज को लाइक करें या वेब साईट पर FOLLOW बटन दबाकर ईमेल लिखकर ओके दबाये। वीडियो न्यूज़ देखने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे। Youtube

NEWS IN ENGLISH

Maharashtra: Aurangabad: After two days of violence, death toll rises to 2, 51 injured

Aurangabad: After 36 hours of violence following the clashes between the two communities in the city of Aurangabad in central Maharashtra, there is now peace. Two people were killed and 51 injured in this violence. These violence began with the incident of the removal of tapes taken in an illegal manner.

Among the dead, there is a 17-year-old youth who was allegedly killed by a police bullet. At the same time, a 65-year-old man was killed when rioters set fire on a nearby shop, due to which he got stuck in his house.

Will not leave those who commit violence: CM

State Chief Minister Devendra Fadnavis has said that those who commit violence will not be left. Section 144 is applicable in the city and mobile internet is closed. Police have arrested 25 people so far in this violence.

What is the whole matter?

On May 11, a clash between the two communities started. After which the pictures of the horror were revealed The rioters blew more than 100 trains and handed over more than 100 shops to the fire. After this, the police tried to control the situation with lathi charge and Aansugas, but the mob attacked the police, which killed ten policemen.

Why is the dispute happening?

There are many reasons behind the dispute. It is being told that the controversy started almost a month ago when the idol of Vallabh Bhai Patel in Shahganj area and the old clock near him which had to be repaired. Because of this, the matter of removal of the encroachment of small shops came to an end when the dispute started in two groups. After this 8 days ago, there was a dispute between the two factions engaged in the middle road in Shahganj area.

Second reason

After four days before the removal of illegal water connections in two religious places, the case took communal color. After this, at 6:00 p.m. on Friday, there was a dispute between Moti Karanjja and two groups in the city of Gandhi Nagar, which resulted in an attack on each other. After this, rumors started to spread on WhatsApp that somewhere the mosque has been dropped, somewhere the temple has been dropped and people are being assaulted.

To get the latest updates, click on the link: https://www.facebook.com/samacharokiduniya/ Like the page or press the FOLLOW button on the web site and press the OK Subscribe to our YouTube channel to see the video news. Youtube

Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.