मराठा आरक्षण: प्रदर्शनकारियों से बातचीत को तैयार महाराष्ट्र सरकार- मुख्यमंत्री फडणवीस

Advertisements

NEWS IN HINDI

मराठा आरक्षण: प्रदर्शनकारियों से बातचीत को तैयार महाराष्ट्र सरकार- CM फडणवीस

मुंबई। महाराष्ट्र में मराठा समुदाय के लिए आरक्षण की मांग को लेकर चल रहा राज्यव्यापी प्रदर्शन हिंसक होने के बाद महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने इस पूरे मामले पर बयान दिया है. उन्होंने कहा कि सरकार ने मराठा समुदाय के विरोध का संज्ञान लिया है और इसपर कई फैसले लिए हैं. सरकार उनसे बात करने के लिए तैयार है. उन्होंने कहा कि सरकार ने मराठा समुदाय के आरक्षण के लिए कानून बनाया था लेकिन बॉम्बे हाईकोर्ट ने उसपर स्टे लगा दिया था.

इससे पहले, प्रदर्शनकारियों के पथराव में एक कांस्टेबल की मौत हो गई जबकि नौ अन्य जख्मी हो गए. आज मराठा क्रांति मोर्चा ने मुंबई बंद का आह्वान किया था. मुंबई में सुबह कई जगहों पर बेस्ट बसों पर पथराव किया गया. ठाणे में ट्रेनें रोक दी गईं. लेकिन दोपहर होते-होते हिंसा तेज होते देख मराठा क्रांति मोर्चा ने मुंबई बंद वापस ले लिया. हालांकि, ठाणे और नवी मुंबई में प्रदर्शन जारी रहेगा.

औरंगाबाद में किसान जगन्नाथ सोनावने ने आरक्षण की मांग को लेकर जहर खा लिया. उसे तत्काल अस्पताल में भर्ती किया गया, लेकिन उसकी मौत हो गई.

नवी मुंबई में स्कूल-कॉलेज बंद रखे गए हैं. ठाणे और जोगेश्वरी में लोकल ट्रेनों को भी रोका गया. इस कारण लोगों को खासी परेशानियों का सामना करना पड़ा.

बताया जा रहा है कि प्रदर्शनकारियों ने कई गाड़ियों को भी फूंक दिया था और दो प्रदर्शनकारियों ने खुदकुशी करने की कोशिश की.

महाराष्ट्र बंद का सबसे ज्यादा असर औरंगाबाद और आसपास के जिलों में देखने को मिला है. जहां कल आरक्षण के पक्ष में निकाले गए मार्च के दौरान एक प्रदर्शनकारी की मौत हो गई थी. जहर खाने वाले दूसरे प्रदर्शनकारी की भी अस्पताल में मौत हो गई. इस शख्स का नाम जग्गनाथ सोणानने बताया जा रहा है.

30 फीसदी हैं मराठा समुदाय…

राजनीतिक तौर पर प्रभावशाली मराठा समुदाय के लिए आरक्षण का मामला बेहद विवादास्पद मुद्दा है. राज्य की आबादी में करीब 30 फीसदी मराठा हैं. इसके पहले समुदाय के नेता अपनी मांगों को लेकर विभिन्न जिलों में रैलियां निकाल चुके हैं. पिछले साल मुंबई में मराठा क्रांति मोर्चा ने एक बड़ी रैली का आयोजन किया था.

पुलिस कांस्टेबल की मौत..

कल नदी में कूदकर जान देने वाले एक मराठा प्रदर्शनकारी के अंतिम संस्कार स्थल के पास तैनात एक पुलिस कांस्टेबल की मौत हो गई. पुलिस का कहना है कि उसकी मौत के कारणों का अभी पता नहीं है. पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है. उनके हाथों और पैरों पर चोट के निशान हैं. उसी स्थल पर तैनात अन्य पुलिसकर्मी पथराव में जख्मी हो गए.

गौरतलब है कि 27 वर्षीय काकासाहब शिंदे औरंगाबाद में एक पुल से गोदावरी नदी में कूद गया था. उसे नदी से निकालकर अस्पताल ले जाया गया, लेकिन डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया.

शिवसेना सांसद से धक्कामुक्की…

शिवसेना सांसद चंद्रकांत खैरे को प्रदर्शनकारियों के गुस्से का सामना करना पड़ा जब वह शिंदे के अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए औरंगाबाद के कायगांव गए थे.

पुलिस ने बताया कि भीड़ ने उनके साथ धक्का – मुक्की की. उन्हें स्थान छोड़ना पड़ा. पुलिस ने बताया कि सांसद की गाड़ी पर भी पथराव हुआ था.

लाठी चार्ज और आंसू गैस के गोले दागे…

औरंगाबाद की पुलिस अधीक्षक आरती सिंह ने बताया कि भीड़ को संभालने मौजूद पुलिस कर्मियों ने लाठीचार्ज किया और आंसू गैस के गोले दागे. एक अधिकारी ने बताया कि जलना के घनसांगवी थाने पर प्रदर्शनकारियों के पथराव में आठ पुलिसकर्मी जख्मी हो गए

उन्होंने बताया कि कायगांव में प्रदर्शनकारियों ने दमकल की एक गाड़ी को भी आग लगा दी. प्रदर्शनकारियों ने लातूर जिले के निलांगा तहसील में हैदराबाद-लातूर बस पर भी पथराव किया.

आरक्षण पर कोर्ट करेगी फैसला…

सांगली में राजस्व मंत्री चंद्रकांत पाटिल ने मराठा आरक्षण को लेकर कहा कि राज्य सरकार ने जो भी उसके बस में था किया. अब इस मामले पर अदालत फैसला करेगी. मंत्री ने कहा कि कुछ ‘पेड’लोग मराठा आंदोलन में घुस गए हैं.

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए लिंक पर क्लिक करके https://www.facebook.com/samacharokiduniya/ पेज को लाइक करें या वेब साईट पर FOLLOW बटन दबाकर ईमेल लिखकर ओके दबाये। वीडियो न्यूज़ देखने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे। Youtube

 NEWS IN ENGLISH

Maratha reservation: Maharashtra government ready to talk to protesters – CM Fadnavis

Mumbai. Maharashtra State Chief Minister Devendra Fadnavis has made a statement on this whole issue after the statewide demonstration against the demand for reservations for the Maratha community in Maharashtra. He said that the government has taken cognizance of the opposition of the Maratha community and has taken several decisions on this. The government is ready to talk to them. He said that the government had enacted a law for reservation of the Maratha community but the Bombay High Court had stayed on it.

Earlier, a constable died in the stone pelting stones while nine others got injured. Today Maratha Kranti Morcha called for the Mumbai block. In Mumbai, stone pelting was done on the best buses in several places in the morning. Trains were stopped in Thane. But after the noon-the violence took place, Maratha Kranti Morcha withdrew it from Mumbai. However, the performance will continue in Thane and Navi Mumbai.

Farmer Jagannath Sonawane at Aurangabad ate the poison for the demand for reservation. He was immediately admitted to the hospital, but he died.

Schools and colleges have been closed in Navi Mumbai. Local trains were also stopped in Thane and Jogeshwari. For this reason, people had to face difficulties.

It is being told that the protesters had blown many trains and two protesters tried to commit suicide.

The highest impact of Maharashtra Band has been seen in Aurangabad and surrounding districts. Where a protestor died during the march released in favor of reservation yesterday. Other protesters who died of poison also died in the hospital. The name of this person is being told Jaggaanath Sonanane.

Maratha community is 30 per cent …

Reservation issue for the politically influential Maratha community is a very controversial issue. About 30 percent of the state’s population is Maratha. Prior to this, the leaders of the community have removed rallies in different districts for their demands. Last year, Maratha Kranti Morcha organized a big rally in Mumbai.

Police Constable’s death ..

A police constable, who was posted near the funeral site of a Maratha demonstrator who jumped into the river yesterday, died. Police say that the reasons for his death are not known yet. A police official said that the post-mortem report is being awaiting. There are injuries on their hands and feet. Other policemen deployed at the same site were injured in stone pelting.

Significantly, 27-year-old Kakasahab Shinde had jumped into Godavari river with a bridge in Aurangabad. He was taken out of the river and taken to the hospital, but the doctors declared him dead.

Shiv Sena threatens MPs …

Shiv Sena MP Chandrakant Khaire had to face the anger of protesters when he went to Kaygaon in Aurangabad to attend Shinde’s funeral.

The police said that the crowd pushed with them. They had to leave the place. Police said that the stone pelting was also done on the MP’s car.

Blackjack charging and tear gas shells …

Aurangabad Superintendent of Police, Aarti Singh said that the police personnel presently handling the crowd lathi-charged and made tear gas shells. An official said that eight policemen were injured in the stone pelting stones of Jalna’s Ghansangvi police station.

They said that protesters at Kaigaon also set fire to a fire brigade vehicle. Protesters also carried stones at Hyderabad-Latur bus in Nilanga tehsil of Latur district.

Court will decide on reservation …

Revenue Minister Chandrakant Patil in Sangli asked about the Maratha reservation that whatever the state government did in its bus. Now the court will decide on this matter. The minister said that some ‘PED’ people have entered the Maratha movement.

To get the latest updates, click on the link: https://www.facebook.com/samacharokiduniya/ Like the page or press the FOLLOW button on the web site and press the OK Subscribe to our YouTube channel to see the video news. Youtube

Advertisements

Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.