मध्यप्रदेश में EVM विवाद ने पकड़ा तूल, नायब तहसीलदार सस्पेंड, CEO की सफाई

Advertisements

NEWS IN HINDI

मध्यप्रदेश में EVM विवाद ने पकड़ा तूल, नायब तहसीलदार सस्पेंड, CEO की सफाई

मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव में EVM का मामला बढ़ता जा रहा है. इसी क्रम में सागर के नायब तहसीलदार राजेश मेहरा को लापरवाही के आरोप के चलते निलंबित कर दिया गया है. आरोप है कि सागर जिले के खुरई निर्वाचन क्षेत्र में रिजर्व में रखी गई EVM मशीनों को सागर करीब 48 घंटे बाद पहुंचाया गया.

पूरे मामले में मध्य प्रदेश के मुख्य चुनाव अधिकारी (CEO) कांता राव ने भी सफाई दी है. उन्होंने ट्वीट किया, ‘मतदाता बेफिक्र रहें. सभी EVM सेफ, सिक्योर और सील हैं.’
दरअसल, इन मशीनों को जिन बसों के जरिए पहुंचाया गया, वे बस बिना नंबर की थी. मतदान खत्म होने के 48 घंटे बाद पहुंची इन मशीनों की जानकारी मिलते ही सैकड़ों की संख्या में कांग्रेसियों ने जिला निर्वाचन अधिकारी व कलेक्टर सागर के कार्यालय की घेराबंदी कर ली थी. बिना नंबर के जिस वाहन में यह ईवीएम मशीनें पहुंची हैं, उसके लिए कोई भी जिम्मेदार अधिकारी साफ-साफ जवाब नहीं दे पाया था. इसके बाद निर्वाचन अधिकारी ने यह कदम उठाया.

बता दें कि मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए वोटिंग 28 नवंबर को समाप्त हो चुकी है. इसके बाद यहां ईवीएम की सुरक्षा को लेकर एक विवाद खड़ा हो गया. भोपाल सहित कई जिलों में कांग्रेस ने ईवीएम को लेकर बीजेपी पर सवाल उठाए हैं. वहीं, यह भी आरोप हैं कि भोपाल में ईवीएम स्ट्रांग रूम में जो सीसीटीवी कैमरे लगाए गए थे, वो करीब एक घंटे के लिए खराब हो गए थे.
बताया जा रहा है कि बिजली नहीं होने के कारण वहां पर करीब एक घंटे के लिए कैमरे ने काम करना बंद कर दिया था. लेकिन, कांग्रेसियों का आरोप है कि ऐसा जानबूझकर किया गया. स्ट्रांग रूम की लाइट साजिश के तहत बंद हुई.
कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भी EVM में छेड़छाड़ की आशंका जताई थी. इतना ही नहीं, उन्होंने कांग्रेस कार्यकर्ताओं को कड़ी नज़र रखने की गुजारिश भी की. इसके बाद सभी कांग्रेस कार्यकर्ता भारी संख्या में भोपाल के स्ट्रांग रूम पर पहरा दे रहे हैं. प्रदेश में बीते 28 नवंबर को चुनाव हुए थे, नतीजे 11 दिसंबर को आएंगे.

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए लिंक पर क्लिक करके facebook page पेज को लाइक करें या वेब साईट पर FOLLOW बटन दबाकर ईमेल लिखकर ओके दबाये। वीडियो न्यूज़ देखने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे। Youtube

NEWS IN ENGLISH

EVM controversy caught in Madhya Pradesh, Tulsa, Nab Tehsildar Suspend, cleaning of CEO

The matter of EVM is increasing in Madhya Pradesh assembly elections. In this order, the nagar Tahsildar of Sagar, Rajesh Mehra has been suspended due to charges of negligence. It is alleged that the EVM machines kept in the reserve in the Khurai constituency of Sagar district were taken to Sagar almost 48 hours later.

Madhya Pradesh Chief Election Officer (CEO) Kanta Rao has also cleared the entire case. He tweeted, ‘Voters are uneasy. All EVMs are Safe, Secure and Sealed. ‘
Actually, the buses transported through these machines were just numberless. Hundreds of Congressmen had siege the office of District Election Officer and Collector Sagar after getting information about these machines, which arrived 48 hours after the end of polling. No responsible officer was able to clearly answer the vehicle in which this EVM machine has reached. After this the election officer took this step.

Let us know that voting for the Madhya Pradesh assembly elections has ended on November 28. After this there was a dispute about the safety of EVMs. In several districts including Bhopal, Congress has questioned the BJP about EVMs. At the same time, there are allegations that the CCTV cameras installed in the EVM strong room in Bhopal were damaged for about an hour.
It is being told that due to no electricity, the camera stopped working for about an hour there. But, Congressmen allege that this was done deliberately. The lights of the Strong Room were closed under conspiracy.
Congress leader Jyotiraditya Scindia also voiced fear of manipulating EVMs. Not only this, he also requested Congress workers to keep a close eye. After this, all Congress workers are guarded by a large number of strong rooms in Bhopal. Elections were held on 28th November in the state, the results will be on December 11

To get the latest updates, click on the link: facebook page Like the page or press the FOLLOW button on the web site and press the OK Subscribe to our YouTube channel to see the video news. Youtube

Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.