MP देश का दूसरा सबसे बड़ा राज्य, इसलिए कहलाता है भारत का दिल

Advertisements

NEWS IN HINDI

MP देश का दूसरा सबसे बड़ा राज्य, इसलिए कहलाता है भारत का दिल

देश में पांच राज्यों के चुनाव हो चुके हैं और चुनावों का एग्जिट पोल भी सामने आ चुका है. मध्य प्रदेश भारत के सबसे बड़े क्षेत्रफल वाले राज्यों में दूसरे नंबर पर आता है. मंदिरों और अपने खूबसूरत पर्यटन स्थलों के लिए मशहूर मध्य प्रदेश राजनीतिक हलचलों की वजह से भी चर्चा में बना रहता है. मध्य प्रदेश की सीमाएं पांच राज्यों की सीमाओं से मिलती है. आइए जानें देश का दिल कहे जाने वाले इस प्रदेश में कौन सी बोली भाषा, खानपान और यहां का रहन-सहन क्यों मशहूर है.

मध्य प्रदेश का इतिहास और संस्कृति
मध्य प्रदेश का गठन सन 1950 में किया गया था. उस समय इस राज्य की राजधानी नागपुर में थी. 1 नवंबर साल 1956 में विंध्य प्रदेश और भोपाल राज्यों को भी इस राज्य में ही मिला दिया गया और दक्षिण के मराठी भाषी क्षेत्र को (राजधानी नागपुर समेत) बॉम्बे राज्य में स्थानांतरित कर दिया गया. इसके बाद राज्य के जबलपुर शहर राजधानी बनाया गया. लेकिन कुछ इस समय बाद भोपाल को राज्य की राजधानी घोषित कर दिया गया. साल 2000 में 1 नवंबर को एक बार फिर मध्य प्रदेश का पुनर्गठन हुआ और छत्त्तीसगढ़ मध्य प्रदेश से अलग होकर भारत का 26वां राज्य बना. मध्यप्रदेश में पांच लोक संस्कृतियों निमाड़, मालवा, बुंदेलखंड, बघेलखंड और ग्वालियर (चंबल) का समावेश है.

जनसंख्या के मामले में पांचवा सबसे बड़ा राज्य
2011 की जनसंख्या गणना के मुताबिक यहां पर कुल 72626809 की आबादी है. देश के बीचोंबीच बसे इस प्रदेश को हिंदोस्तान का दिल भी कहा जाता है. नर्मदा नदी के चारो ओर बसे राज्य दक्षिण में महाराष्ट्र से, पश्चिम में गुजरात से घिरा हुआ है, जबकि इसके उत्तर-पश्चिम में राजस्थान, पूर्वोत्तर पर उत्तर प्रदेश और पूर्व में छत्तीसगढ़ स्थित हैं. यहां का मौसम ऋतुओं के अनुसार बदलता रहता है लेकिन यहां मानसून में भारी बारिश होती है. मध्य प्रदेश में कुल 52 जिले हैं. मध्य प्रदेश का सबसे बड़ा शहर इंदौर है. नर्मदा नदी मध्य प्रदेश की सबसे प्रमुख नदी है. नर्मदा की सहायक नदियों में बंजार, तवा, मचना, शक्कर, देनवा और सोनभद्र नदियां आदि शामिल हैं. इसके अलावा ताप्ती नदी, चंबल, शिप्रा, कालीसिंध, पार्वती, कुनो, सिंध, बेतवा, धसान और केन नदियां भी हैं. शिप्रा नदी के किनारे प्राचीन शहर उज्जैन बसा हुआ है और हिंदू धर्म में शिप्रा को पवित्र नदियों में से एक माना गया है. यहां हर 12 साल में सिंहस्थ कुंभ मेला आयोजित किया जाता है.

पर्यटन और प्रदेश के खानपान के लिए मशहूर
मालवा का खाना पूरे देश में मशहूर है. देश का दिल कहा जाने वाला प्रदेश अपने साथी राज्‍यों के खाने के स्‍वाद से काफी प्रभावित है. मध्‍य प्रदेश का खाना फूड लवर्स को काफी पसंद आता है. भुट्टे की खीस एमपी की ट्रेडिशनल रेसिपी है जिसे मक्‍का से बनाया जाता है. इस रेसिपी को अब लॉस्‍ट रेसिपीज में शामिल किया गया है. इसके अलावा मालवा की फेमस डिश दाल-बाफला, चक्‍की का शाक मध्यप्रदेश की सबसे लोकप्रिय रेसिपीज में से एक है. यहां का सेव और नमकीन तो पूरे देश में मशहूर है. मध्य में ट्रैवलर्स का भी खूब आना जाना लगा रहता है. यहां के पहाड़, मंदिर, शहर और जंगल सफारी पर्यटकों की पसंदीदा जगहों में से एक हैं. मध्य प्रदेश के तीन स्थलों को यूनेस्को द्वारा विश्व धरोहर स्थल घोषित किया गया है, जिनमें खजुराहो (1986) जगदम्बी देवी मंदिर रीवा सहित, सांची बौद्ध स्मारक (1989) और भीमबेटका की रॉक शेल्टर (2003) शामिल हैं. अन्य स्थलों में अजयगढ़, अमरकंटक, असीरगढ़, बांधवगढ़, बावनगजा, भोपाल, विदिशा, चंदेरी, चित्रकूट, धार, ग्वालियर, इंदौर, जबलपुर, बुरहानपुर, महेश्वर, मंडलेश्वर, मांडू, ओंकारेश्वर, ओरछा, पचमढ़ी, शिवपुरी, सोनागिरि, मण्डला और उज्जैन तुमैन शामिल हैं.

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए लिंक पर क्लिक करके facebook page पेज को लाइक करें या वेब साईट पर FOLLOW बटन दबाकर ईमेल लिखकर ओके दबाये। वीडियो न्यूज़ देखने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे। Youtube

NEWS IN ENGLISH

MP is the second largest state in the country, hence the heart of India

Elections have been held in five states in the country and the exit poll has also been exposed. Madhya Pradesh comes second in the largest area of ​​India. The remains of the famous Madhya Pradesh political movements for the temples and its beautiful tourist destinations also remain in the discussion. The boundaries of Madhya Pradesh meet the boundaries of five states. Let’s know which famous language, food, and lifestyle is famous in this state which is called the heart of the country.

History and culture of Madhya Pradesh
Madhya Pradesh was formed in the year 1950. At that time the capital of this state was in Nagpur. On November 1, 1956, the states of Vindhya Pradesh and Bhopal were also merged in this state and the Marathi-speaking areas of the South (including the capital city of Nagpur) were transferred to Bombay State. After this the state was made the Jabalpur city capital. But some time later Bhopal was declared the capital of the state. In the year 2000, on 1st November, Madhya Pradesh was once again reconstituted and Chhattisgarh was separated from Madhya Pradesh and became India’s 26th state. In Madhya Pradesh, five public cultures are included in Nimad, Malwa, Bundelkhand, Bagheland and Gwalior (Chambal).

The fifth largest state in terms of population
According to the 2011 population count there is a total population of 72626809. This region, which is situated in the heart of the country, is also known as the heart of Hindustan. The state situated adjacent to the Narmada river is surrounded by Maharashtra in the south, Gujarat in the west, while it is located in north-west Rajasthan, north east and Chhattisgarh in the east. The weather here varies according to the seasons but there is heavy rain in monsoon. There are 52 districts in Madhya Pradesh. Indore is the largest city in Madhya Pradesh. Narmada river is the most important river of Madhya Pradesh. Narmada’s tributaries include Banjar, Tawa, Machana, Sugar, Denva and Sonbhadra rivers. Apart from this, there are Tapti river, Chambal, Shipra, Kali Sindh, Parvati, Kuno, Sindh, Betwa, Dhasan and Kane rivers. The ancient city Ujjain is situated on the banks of the Shipra river and in the Hindu religion, Shipra is considered one of the holy rivers. Simhastha Kumbh Mela is organized every 12 years.

Famous for tourism and state catering
Malwa’s food is famous all over the country. The state called the heart of the country is very influenced by the taste of food of its fellow states. Food Food Lover of Madhya Pradesh likes a lot. Bhuchte’s gig is a traditional recipe of MP, made from maize. This recipe is now included in the Lost Recipe. In addition, the Famous dish of Malwa, Dal-Bafla, the mill is one of the most popular recipes of Madhya Pradesh. Here the salve and saline are famous all over the country. In the middle traveler is also well known. Here are mountain, temple, city and jungle safari, one of the favorite places of tourist. Three sites of Madhya Pradesh have been declared World Heritage Sites by UNESCO, including Khajuraho (1986), Jagdambi Devi Temple, Rewa, Sanchi Buddhist Monument (1989) and Bhimbetka’s Rock Shelter (2003). Other places in Ajaygarh, Amarkantak, Asirigarh, Bandhavgarh, Bawangja, Bhopal, Vidisha, Chanderi, Chitrakoot, Dhar, Gwalior, Indore, Jabalpur, Burhanpur, Maheshwar, Mandleshwar, Mandu, Omkareshwar, Orchha, Pachmarhi, Shivpuri, Sonagiri, Mandla and Ujjain Tain is involved.

To get the latest updates, click on the link: facebook page Like the page or press the FOLLOW button on the web site and press the OK Subscribe to our YouTube channel to see the video news. Youtube

Advertisements

Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.