देश के 60 प्रदूषित शहरों की लिस्ट में पटना का नाम पहले स्थान पर

Advertisements

NEWS IN HINDI

देश के 60 प्रदूषित शहरों की लिस्ट में पटना का नाम पहले स्थान पर

पटना। देश के सबसे प्रदूषित शहरों की सूची में पटना शुक्रवार को फिर से पहले स्थान पर आ गया। कुछ दिनों से पटना तीसरे स्थान पर था। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के रिकॉर्ड के अनुसार प्रमुख 60 शहरों में पटना सबसे ज्यादा प्रदूषित शहर हो गया है। सूची में मुजफ्फरपुर दूसरे स्थान पर है। उप्र का गाजियाबाद तीसरे स्थान पर है।

गाजियाबाद अब तक नंबर एक पर था। बोर्ड ने जो आंकड़े जारी किए हैं। उनमें पटना में पीएम 2.5 का स्तर शुक्रवार को 456 माइक्रोग्राम प्रति घनमीटर रिकॉर्ड किया गया। दूसरे नंबर पर सूबे के ही शहर मुजफ्फरपुर में पीएम 2.5 का स्तर 447 माइक्रोग्राम प्रति घनमीटर रहा।

तीन महीने में दिखेगा बदलाव

बिहार राज्य प्रदूषण नियंत्रण पर्षद के अध्यक्ष प्रो. अशोक कुमार घोष ने कहा कि पटना में बढ़ते प्रदूषण के ग्राफ को देखते हुए विभिन्न विभागों के साथ समन्वय स्थापित किया गया है। इसके तहत एयर क्वालिटी एक्शन का शॉर्ट एंड लॉग टर्म प्लान तैयार किया गया है। इसका असर तीन-चार महीने में देखा जा सकेगा।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए लिंक पर क्लिक करके facebook page पेज को लाइक करें या वेब साईट पर FOLLOW बटन दबाकर ईमेल लिखकर ओके दबाये। वीडियो न्यूज़ देखने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे। Youtube

NEWS IN ENGLISH

List of 60 polluted cities in the country

Patna. In the list of the most polluted cities in the country, Patna returned to the first place on Friday. Patna was in third place for some days. According to the records of Central Pollution Control Board, Patna has become the most polluted city in the major 60 cities. Muzaffarpur is in second place in the list. Ghaziabad of Upra is in third position.

Ghaziabad was by far the number one. The figures which the board has released Among them, the PM 2.5 level in Patna recorded 456 micrograms per cubic meter on Friday. In the second place, the PM 2.5 level of 447 micrograms per cubic meter in the city of Muzaffarpur in the province.

Change in three months will change

President of Bihar State Pollution Control Board, Prof. Ashok Kumar Ghosh said that in view of the increasing pollution graph in Patna, coordination with different departments has been established. Under this, Short-End Log Term Plan of Air Quality Action has been prepared. Its effect will be seen in three-four months.

To get the latest updates, click on the link: facebook page Like the page or press the FOLLOW button on the web site and press the OK Subscribe to our YouTube channel to see the video news. Youtube

Advertisements

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error:
WhatsApp chat