MNS नेता ने उड़ाया उद्धव ठाकरे का मजाक, कहा – ‘भाषण का अर्थ समझाने वाले को दूंगा 151 रुपए’

Advertisements

NEWS IN HINDI

MNS नेता ने उड़ाया उद्धव ठाकरे का मजाक, कहा – ‘भाषण का अर्थ समझाने वाले को दूंगा 151 रुपए’

मुंबई । मनसे ने पंढरपुर में शिवसेना की सभा में उद्धव ठाकरे द्वारा दिए गए भाषण का मजाक उड़ाया है। मनसे नेता संदीप देशपांडे ने उद्धव के भाषण का अर्थ समझाने वाले को 151 रुपए इनाम देने की घोषणा की है। उन्होंने भाजपा से गठबंधन को लेकर शिवसेना की भूमिका पर तंज कसा है।

देशपांडे ने कहा कि, उद्धव ने पिछले साल कहा था कि भाजपा के साथ गठबंधन में शिवसेना के 25 साल सड़ गए। अब पंढरपुर की सभा में उन्होंने कहा कि भाजपा के साथ गठबंधन करना है या नहीं, यह जनता ही तय करेगी। इसी सभा में कहा कि हमें भाजपा के साथ गठबंधन करने के लिए किसी फार्मूले में रुचि नहीं है। आखिर उद्धव आखिर कहना क्या चाह रहे हैं, यह बात लोगों की समझ से परे है। इसलिए हमने उद्धव के भाषण का विश्लेषण करके उसका अर्थ बताने वाले को 151 रुपए का इनाम देने की घोषणा की है।

राम मंदिर पर दिया था भाषण

बता दें कि, शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने पंढरपुर में सोमवार को भाषण के दौरान राम मंदिर का मुद्दा उठाया था। इस भाषण में, उद्धव ठाकरे ने हिंदू, हिंदुत्व और किसान मुद्दों पर टिप्पणी करते हुए भाजपा की आलोचना की। इस पर मनसे नेता संदीप देशपांडे ने उद्धव ठाकरे के भाषण की आलोचना की है। देशपांडे ने कहा कि, उद्धव ठाकरे के भाषण का अर्थ समझाने वाले व्यक्ति को इनाम दिया जाएगा।

गठबंधन पर सस्पेंस

ये बात अलग है कि, उद्धव ठाकरे ने चुनाव में गठबंधन को लेकर सस्पेंस बनाए रखा है। ठाकरे ने कहा, गठबंधन का निर्णय लोगों द्वारा लिया जाएगा। पंढरपुर में भाषण के दौरान ठाकरे ने कहा कि, जनता तय करेगी कि गठबंधन बनाना है या नहीं, हमें सीट आवंटन में हिस्सा नहीं लेना है। इस पर मनसे नेता संदीप देशपांडे ने लोगों को प्रस्ताव दिया है कि, वे उद्धव ठाकरे के भाषण का अर्थ समझाइए और 151 रुपये का इनाम पाए।

बीजेपी पर जमकर बरसे थे शिवसेना प्रमुख

बता दें कि, सोमवार को पंढरपुर में शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे की भव्य रैली थी। इस रैली में ठाकरे ने अयोध्या में मंदिर निर्माण में देरी सहित राम मंदिर मुद्दे पर जमकर हंगामा किया था। उन्होंने कहा कि, अयोध्या की घटना को 30 साल गुजर चुके हैं, अभी भी भाजपा कहती हैं कि मामला अदालत में है। हिंदू मासूम हैं, लेकिन मूर्ख नहीं। बता दें कि राम मंदिर मुद्दे पर संसद में चर्चा होनी चाहिए।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए लिंक पर क्लिक करके facebook page पेज को लाइक करें या वेब साईट पर FOLLOW बटन दबाकर ईमेल लिखकर ओके दबाये। वीडियो न्यूज़ देखने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे। Youtube

NEWS IN ENGLISH

MNS leader fired Uddhav Thackeray’s joke, said – ‘The person who interprets the meaning of speech will give Rs. 151’

Mumbai . MNS has ridiculed the speech given by Uddhav Thackeray in Shiv Sena’s Assembly in Pandharpur. MNS leader Sandeep Deshpande has announced a reward of 151 rupees for the interpretation of the meaning of Uddhav’s speech. He is tensed on the role of Shiv Sena over the alliance with the BJP.

Deshpande said that, Uddhav had said last year that Shiv Sena’s 25 years of rottenness in the alliance with BJP. Now in the meeting of Pandharpur, he said that the people will decide whether to combine with the BJP or not, the people will decide. In the same meeting said that we are not interested in any formula to combine with the BJP. After all, what Uddhav is saying is what people are saying, this is beyond the understanding of people. Therefore, we have announced a reward of 151 rupees for analyzing Uddhav’s speech and giving a meaning to it.

Speech on Ram temple

Let us know, Shiv Sena chief Uddhav Thackeray raised the issue of Ram temple during the speech on Monday in Pandharpur. In this speech, Uddhav Thackeray criticized the BJP while commenting on Hindu, Hindutva and farmer issues. On this, MNS leader Sandeep Deshpande has criticized Uddhav Thackeray’s speech. Deshpande said that reward will be given to the person who interprets the meaning of Uddhav Thackeray’s speech.

Suspense on Coalition

It is different that, Uddhav Thackeray has kept suspense about the coalition in the elections. Thackeray said, the decision of the coalition will be taken by the people. During the speech in Pandharpur, Thackeray said that the people will decide whether to form the alliance or not, we do not have to take part in seat allocation. On this, MNS leader Sandeep Deshpande has proposed to the people that they explain the meaning of Uddhav Thackeray’s speech and receive a reward of Rs.115.

Shiv Sena chief on BJP had a great time

Let us know that on Monday, there was a grand rally of Shiv Sena chief Uddhav Thackeray at Pandharpur. At this rally, Thackeray furiously at the Ram Temple issue, including delay in temple construction in Ayodhya. He said that 30 years have passed since the incident of Ayodhya, the BJP still says that the matter is in the court. Hindus are innocent but not stupid. Let us discuss that Ram temple issue should be discussed in Parliament.

To get the latest updates, click on the link: facebook page Like the page or press the FOLLOW button on the web site and press the OK Subscribe to our YouTube channel to see the video news. Youtube

Advertisements

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error:
WhatsApp chat
%d bloggers like this: